12वीं के बाद महिलाएं इन क्षेत्रों में चमकाएं अपना करियर

महिलाओं की दुनिया अब घर की चारदीवारी में कैद नहीं रह गई है. हायर एजूकेशन और संचार तकनीकी के साथ कदमताल करते हुए महिलाएं अपने सपने साकार कर रही हैं. हालांकि करियर गाइडेंस नहीं मिल पाने के कारण बहुत सी महिलाएं अभी भी अपना मुकाम पाने से काफी दूर हैं. 

0 250

महिलाओं की दुनिया अब घर की चारदीवारी में कैद नहीं रह गई है. हायर एजूकेशन और संचार तकनीकी के साथ कदमताल करते हुए महिलाएं अपने सपने साकार कर रही हैं. हालांकि करियर गाइडेंस नहीं मिल पाने के कारण बहुत सी महिलाएं अभी भी अपना मुकाम पाने से काफी दूर हैं. एक बेहतरीन करियर चुनने के लिए करियर गाइडेंस बेहद ज़रूरी है. 

नई पीढ़ी का रूझान एयर होस्टेस बनने में 

सम्बंधित लेख - पढ़िए

एयर होस्टेस बनने का रुझान युवा लड़कियों में काफी देखने को मिल रहा है. यदि आपके पास आकर्षक पर्सनैलिटी और शानदार कम्युनिकेशन स्किल्स हैं तो एयर होस्टेस बनने से कोई आपको नहीं रोक पाएगा. यदि आपकी हाइट कम से कम 157.5 सेंटीमीटर और 19 से 25 वर्ष की है तो आपको रिक्रूट कर लिया जाएगा.

अधिकांश संस्थानों में अनिवार्य एजुकेशनल क्वालिफिकेशन 12वीं कक्षा पास ही है. लेकिन कुछ संस्थान आपसे ग्रेजुएशन की डिग्री के बारे में भी पूछ सकते हैं. देश में आप एयर होस्टेस बनने के लिए वाईएमसीए (नई दिल्ली), स्काईलाइन एजुकेशनल इंस्टिट्यूट (हौज खास, दिल्ली) और फ्रैंकफिन इंस्टीट्यूट ऑफ एयर होस्टेस ट्रेनिंग, नई दिल्ली में हैं. 

एडवरटाइजिंग में ढेरों मौके 

हाल के कुछ सालों में एडवरटाइजिंग आकर्षक और पसंदीदा प्रोफेशन बन गया है. एडवरटाइजिंग में करियर बनाने के लिए आपको ऑल-राउंड क्रिएटिविटी और यूजर बिहेवियर की समझ के साथ ही ब्रांडिंग स्किल्स होना अनिवार्य है. 12वीं के बाद आप बैचलर कोर्स ज्वाइन कर सकते हैं.

कुछ संस्थान अंडरग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट लेवल के एडवरटाइजिंग कोर्सेज भी करवाते हैं. एडवरटाइजिंग में प्रोफेशनल कोर्सेज कराने वाले इंस्टिट्यूट्स भारतीय विद्या भवन, (मुंबई, कलकत्ता, चेन्नई, दिल्ली), सेंटर फॉर मास मीडिया, वाईएमसीए (नई दिल्ली),  इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन्स (आईआईएमसी)  हैं.

बन सकती हैं फैशन डिजाइनर 

रोजाना बदलते फैशन को देखते हुए इस इंड्रस्टीज़ में रोजगार और करियर के अच्छे मौके हैं. किसी भी फेमस और विश्वसनीय इंस्टिट्यूट से फैशन डिजाइनिंग कोर्स करने के लिए आपको 12वीं क्लास पास करना है. 12वीं के बाद आप फैशन टेक्नोलॉजी और फैशन डिजाइनिंग इन दोनों कोर्स में बैचलर की डिग्री कर सकते हैं.

चार साल की अवधि वाले इन दोनों कोर्सेज को आप मुंबई स्थित सीईपीजेड इंस्टिट्यूट ऑफ फैशन टैक्नोलॉजी, देश के कई बड़े शहरों में स्थित जेडी इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी, कलकत्ता के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन डिजाइन.

इसके अलावा आप नई दिल्ली, मुंबई, कलकत्ता, चेन्नई, बंगलौर, हैदराबाद और गांधीनगर में स्थित नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ फैशन टेक्नोलॉजी से भी यह कोर्स कर सकते हैं. पर्ल एकेडेमी ऑफ़ फैशन (नई दिल्ली) और सोफिया पॉलिटेक्निक मुंबई में भी कोर्स किया जा सकता है. 

जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में भी हैं संभावनाएं 

जर्नलिज्म और मास कम्युनिकेशन की फील्ड में भी आप शानदार करियर बना सकते हैं. आपके सामने प्रिंट और इलेक्ट्रानिक के बाद डिजिटल मीडिया के भी द्वार खुले हैं. इस कार्यक्षेत्र के तहत महिलाएं रिपोर्टर्स, कॉपी राइटर्स, प्रोड्यूर्स, एंकर्स, एक्सपर्ट्स और कॉलमिस्ट्स के रूप में काम कर सकती हैं.

देश में जर्नलिज्म और मास कम्युनिकेशन कोर्सेज करने के लिए आप दिल्ली के इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मास कम्युनिकेशन, एशियाई कॉलेज ऑफ जर्नलिज्म (चेन्नई), जामिया मिलिया इस्लामिया (नई दिल्ली), डिपार्टमेंट ऑफ़ कम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म (पुणे विश्वविद्यालय) में एडमिशन ले सकती हैं.

(नोट : यह लेख आपकी जागरूकता, सतर्कता और समझ बढ़ाने के लिए साझा किया गया है. अधिक जानकारी के लिए किसी करियर काउंसिल की सलाह जरूर लें.)