कहीं आप से क्रेडिट कार्ड का ज्यादा पेमेंट तो नहीं वसूल रहा बैंक?

आपको हमेशा कम लिमिट वाला क्रेडिट कार्ड चुनना चाहिए और अपनी लिमिट का सिर्फ 30 से 40 फीसदी ही उपयोग करना चाहिए क्योंकि खर्च अधिक होने से डिफॉल्‍ट का खतरा भी अधिक हो जाता है. क्रेडिट कार्ड का सबसे बड़ा फायदा है कि इससे मुफ्त की क्रेडिट लिमिट मिल जाती है. लेकिन अगर आप समय पर कर्ज नहीं चुका पाते हैं तो आपको 36 फीसदी तक ब्याज भी चुकाना पड़ सकता है.

1 906

मॉल से लेकर किसी शॉपिंग सेंटर के बाहर आपको क्रेडिट कार्ड फ्री बांटने वाले कई लोग मिल जाएंगे. कई लोग क्रेडिट कार्ड का ठीक से इस्तेमाल करना जानते हैं लेकिन कई ऐसे होते हैं जिनके लिए क्रेडिट कार्ड बिल्कुल नया होता है. ना वे उसके नियम कायदे जानते हैं और ना ही उन्हें पता होता है कि क्रेडिट कार्ड देने के नाम पर बैंक कौन सा चार्ज ले रहे हैं.

कुछ लोग केवल सैर-सपाटे और शॉपिंग के लिए क्रेडिट कार्ड का यूज करते हैं जिससे उनका बजट बिगड़ जाता  है. खर्च काफी बढ़ जाता है और बजट अक्‍सर बिगड़ जाता है. दरअसल क्रेडिट कार्ड है ही ऐसी चीज. खर्च करते समय यदि जेब से पैसा नहीं निकले तो फिर दिमाग खर्चे की लिमिट भूल जाता है. दोनों ही स्थितियों में चाहे क्रेडिट कार्ड पहली बार यूज कर रहे हों या उसके आदी हो चुके हैं इसकी चपत आपकी जेब को ही लगती है. 

क्रेडिट कार्ड सावधानी से करें इस्तेमाल

क्रेडिट कार्ड का उपयोग बहुत ध्यान से करना चाहिए. यकीनन क्रेडिट कार्ड का यदि ठीक से यूज किया जाए तो यह बहुत काम की चीज है. कुछ ऐसे ट्रिक्स होते हैं जिससे आप क्रेडिट कार्ड का भरपूर इस्तेमाल कर सकते हैं.  जैसे पर्सनल लोन की तुलना में क्रेडिट कार्ड से खरीदारी करना बेहतर है क्योंकि क्रेडिट कार्ड में ईएमआई की सुविधा भी होती है.

इसके अलावा कभी न कभी हम फंड की कमी से जूझते ही हैं, यहां पर क्रेडिट कार्ड की भूमिका अहम हो  जाती है, क्‍योंकि घर से बाहर आपकी मदद करने वाले कम ही लोग होते हैं. लेकिन इसके उपयोग के क्रम में कुछ बातों का ख्‍याल भी रखा जाना चाहिए. 

Image source: Pixabay.com
Image source: Pixabay.com

क्रेडिट कार्ड की लिमिट जानना जरूरी

वैसे तो इस समय हर बैंक क्रेडिट कार्ड बांट रहे हैं लेकिन सबकी लिमिट अलग-अलग होती है. आपको हमेशा कम लिमिट वाला क्रेडिट कार्ड चुनना चाहिए और अपनी लिमिट का सिर्फ 30 से 40 फीसदी ही उपयोग करना चाहिए क्योंकि खर्च अधिक होने से डिफॉल्‍ट का खतरा भी अधिक हो जाता है. क्रेडिट कार्ड का सबसे बड़ा फायदा है कि इससे मुफ्त की क्रेडिट लिमिट मिल जाती है. लेकिन अगर आप समय पर कर्ज नहीं चुका पाते हैं तो आपको 36 फीसदी तक ब्याज भी चुकाना पड़ सकता है.

रिवॉर्ड प्वाइंट के चक्कर में ना फंसें

क्रेडिट कार्ड यूज करते हैं तो फिर आप रिवार्ड प्‍वाइंट के लालच में बिल्कुल ना फंसें. दरअसल, क्रेडिट कार्ड देने वाले बैंक चाहते हैं कि आप क्रेडिट का ज्यादा यूज करें. आपके ऐसा करने से बैंक को लाभ होगा लेकिन आपके लिए कर्ज बढ़ेगा. यदि आप ज्यादा यूज नहीं करेंगे तो उन्‍हें अधिक ब्‍याज के रूप में बहुत फायदा होगा. इसलिए बैंक आकर्षक रिवॉर्ड प्वाइंट स्कीम लाते हैं, ताकि आप ज्यादा से ज्यादा खर्च करें, लेकिन इस चक्‍कर में लोग अक्‍सर फंस जाते हैं और समय पर पैसे नहीं चुका पाते हैं.

एक क्रेडिट कार्ड से ना करें दूसरे का पेमेंट

क्रेडिट कार्ड से पेमेंट के मामले में भी कई बातों का ध्यान रखना जरूरी है. अगर वेबसाइट के शुरू में एचटीटीपीएस नहीं दिखे तो वहां अपने कार्ड की जानकारी न डालें. इसे देखकर आप खुद भी यह पता कर सकते हैं कि वह वेबसाइट सुरक्षित है कि नहीं. अगर आप दुकान पर कार्ड के जरिए खरीद कर रहे हैं तो भी आसपास का ध्यान रखें. यही नहीं एक कर्ज के लिए दूसरा कर्ज ना लें. यानी की एक क्रेडिट कार्ड से दूसरे कार्ड का बिल ना चुकाएं. इस तरह आप कर्ज के जाल में फंसते चले जाएंगे. आपको हर हाल में अपने खर्च को संभालना पड़ेगा. इसके लिए आप फाइनेंशियल प्लानर की मदद भी ले सकते हैं.

1 Comment
  1. […] कहीं आप से क्रेडिट कार्ड का ज्यादा पेम… […]

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!