खनिज और लवण के भंडार हैं ज्वालामुखी, जमीन को बनाते हैं उपजाऊ

पृथ्वी के सातों महाद्वीप, उपमहाद्वीप एवं भूखंडों में कुल मिलाकर चार सौ से छः सौ बीस ज्वालामुखी पर्वत हैं. कम ही लोग जानते हैं कि ज्वालामुखी बहुत उपजाऊ और खनिज पदार्थों के भंडार भी होते हैं.
Read More...

चेहरे की सुंदरता जरूर बढ़ाएं, लेकिन ध्यान रखें सेहत का !

बेजान चेहरे की त्वचा में जान आ जाए, इसके लिए त्वचा को क्लीजिंग मिल्क से साफ करें. फिर किसी कोल्डक्रीम से चेहरे की मसाज करें. रूई की सहायता से चेहरे को साफ करके अच्छे किस्म का पैक लगाएं. सूखने पर धोकर, पोंछकर फिर माइश्चराइजर लगाएं. त्वचा चमक…
Read More...

यहां मां को खूबसूरत बना रही हैं बेटियां

अभी कल तक सृष्टि की मम्मी उसे बताती थी कि उस पर कौन सी ड्रेस अच्छी लगेगी, कौन सा कलर उस पर ज्यादा फबता है, कैसे बालों का स्टाइल जंचता है मगर किशोरावस्था तक आते-आते अब वो ही उन्हें समझाती है कि आजकल किस तरह का फैशन चलन में है. लेटेस्ट डिजाइन…
Read More...

धीमा जहर है मीठा और डिब्बा बंद खाना

प्रकृति ने शरीर को ऐसा नहीं बनाया कि शरीर में अधिक मीठा इकट्ठा होने पर हम स्वस्थ रह सकें. ऐसा होने पर हमें कई भयंकर बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है जैसे दिल की बीमारी, डायबिटीज और इम्यून सिस्टम का कमजोर होना. मीठा एक धीमा जहर है जो…
Read More...

जब आप किसी के घर मेहमान बनकर जा रहे हों..!

आज बदलते समय की धारा के साथ पूर्णतः परिवर्तित हो गयी है. आज मेहमान के नाम से ही लोग दूर भागने लगते हैं. आज के युग में मेहमानों के भी व्यवहार व आचरण में काफी फर्क आ गया है तो मेजबान के व्यवहार में भला क्यों परिवर्तन नहीं होगा.
Read More...

स्मार्ट तरीके से सजाएं छोटे फ्लैट को और खुद बनें घर के इंटीरियर डेकोरेटर

बने-बनाये फ्लैट्स में बेसिक चेंज करके उसे सुन्दर और प्रभावशाली बनाना मुश्किल नहीं है. यदि थोड़ी सी सूझबूझ और स्मार्टनेस हो तो लिमिटेड इनकम में भी फैमिली छाेेेटे से फ्लैट को बंगलो या विला जैसा लुक दे सकता है. 
Read More...

ब्रेन स्ट्रोक: चक्कर-सिरदर्द के बीच बीमारी जो बताकर नहीं आती

ब्रेन स्ट्रोक को लेकर अभी लोग ज्यादा अलर्ट नहीं हैं. ब्रेन स्ट्रोक में दिमाग की नसें काफी कमज़ोर हो जाती हैं जिसके कारण मिर्गी के दौरे या मरीज़ के अचानक बेहोश हो जाने जैसी समस्याएं हो सकती हैं. दिमाग को मिलने वाली ऑक्सीजन की मात्रा में भी…
Read More...

हर बीमारी की जड़ है कब्ज, महंगा पड़ सकता है हंसकर टालना

आयुर्वेद के अनुसार यदि किसी व्यक्ति का डायजेशन सिस्टम हमेशा सही रहे तो उसे कोई बीमारी हो नहीं सकती, लेकिन अधिकतर लोगों का डायजेशन सिस्टम सही नहीं रहता. उन्हें रोज शौच की आदत नहीं होती या बड़ी मुश्किल से बहुत कम मल त्याग होता है. इसी स्थिति…
Read More...

क्यों हो रहा समाज का नैतिक पतन? कैसी है नई पीढ़ी?

नैतिक मूल्यों का अचानक गिरना 20वीं शताब्दी से ही शुरू हुआ? आपके जमाने से या आपके किसी बुजुर्ग रिश्तेदार या दोस्त के जमाने से? बल्कि यह कृत्य होना तो एक सदी पहले ही हो चुका था. सन् 1914 में जब पहला विश्वयुद्ध हुआ, तब से नैतिक मूल्यों का…
Read More...
error: Content is protected !!