माँ कालरात्रि की कथा व महत्व, रक्तबीज तथा महाकाली का युद्ध

माँ दुर्गा का सातवा स्वरूप है माँ कालरात्रि (kaalratri). नवरात्रि के सातवें दिन साधक का मन 'सहस्रार चक्र' में स्थित होता है. उनके लिए संसार की समस्त सिद्धियों के द्वार खुलने लगते हैं. माँ कालरात्रि को देवी काली, महाकाली, भद्रकाली, भैरवी,…
Read More...

नवरात्रि का दूसरा दिन, माँ ब्रह्मचारिणी की कथा और महत्व

नवरात्रि का त्योहार माँ दुर्गा की पुजा अर्चना करने का त्योहार होता है. नवरात्रि के नौ दिनों तक (why is navratri celebrated) माँ दुर्गा के नौ रूपों की पूजा (nine days of navratri) की जाती है. नवरात्रि के दूसरे दिन माँ दुर्गा के दूसरे स्वरूप…
Read More...

शारदीय नवरात्रि 2019: कलश स्थापना विधि, नियम और शुभ मुहूर्त

मां दुर्गा की आराधना और पूजा के नौ दिन यानी की नवरात्रि का पर्व इस बार 29 सितबंर रविवार से शुरू हो रहा है जो 7 अक्टूबर को संपन्न होगा. 8 अक्टूूूूबर को (dussehra 2019) दशहरा है.
Read More...

माँ शैलपुत्री की कहानी, महत्व और माता सती का पुनर्जन्म

नवरात्रि भारत में धूम-धाम से (why is navratri celebreted) मनाया जाने वाला त्योहार है. नवरात्रि के नौ दिनों (nind days of navratri) में माँ दुर्गा के नौ रूपों की पूजा होती है. इसलिए हम इसे नवदुर्गा (navdurga) भी कहते हैं. नवरात्रि के दौरान…
Read More...

पितृ अमावस्या 2019: सर्वपितृ अमावस्या का महत्व और पौराणिक कथा

पितृ पक्ष शुरू हैं और अंग्रेजी कलैंडर के अनुसार इस वर्ष पितृ मोक्ष अमावस्या शनिवार के दिन 28 अक्तबूर को है. सर्वपितृ अमावस्या को सबसेे खास माना जाता है. पितृ दोष निवारण के लिए श्राद्ध पक्ष के दौरान आने वाली सर्वपितृ मोक्ष अमावस्या पर (pitru…
Read More...

Pitru paksha 2019: पितृ पक्ष का महत्व क्या है? क्यों जरूरी है श्राद्ध

श्राद्ध का सामान्य और सरलतम अर्थ है सत्य को धारण करना है. श्राद्ध पक्ष का वर्णन विष्णु पुराण, वायु पुराण, वराह और मत्स्य सहित अन्य पुराणों में किया गया है.
Read More...

Shani sade sati : शनि की साढ़े साती व ढैया, चरण, प्रभाव, उपाय

शनि देव को न्याय का देवता कहा जाता है. कई लोगों से आपने सुना होगा और पढ़ा भी होगा ही की शनि की साढ़े साती (shani sade sati) आती है जो बहुत खराब रहती है. कई लोग ये भी कहते हैं की ये अच्छी होती है. वैसे अच्छे-बुरे के बारे में जानने से पहले ये…
Read More...

Ganesh Chaturthi 2019 : क्यों पसंद है गणेश जी को दूर्वा? क्या है दूर्वा का महत्व

दूर्वा एक प्रकार की घास होती है, जिसका प्रयोग सिर्फ गणेश पूजन में ही किया जाता है. लेकिन बहुत कम व्यक्ति जानते हैंं कि आखिर गणेश पूजन मेंं इसका इस्तेमाल क्योंं किया जाता है?
Read More...

जीवन में स्थायीत्व और स्थिरता लातेेेे हैं भगवान गणेश

गणेश जी जितना कार्यों को सिद्ध करते हैं, उतना ही उसे स्थिर भी करते हैं. जिन लोगों का मन चंचल, अस्थिर है और जो लोग बुद्धि में अस्थिरता के चलते सैटल नहीं हो पा रहे और बार-बार काम-धंधे बदलते रहते हैं उन्हें भगवान गणेश की विशेष पूजा करनी चाहिए.
Read More...

कैसे और कितनी उम्र में हुई थी श्रीकृष्ण की मृत्यु?

विष्णु पुराण के अनुसार महाभारत में कौरव वंश का नाश हुआ और उसके बाद अपने 100 बच्चों की मृत्यु से आहत गांधारी ने श्रीकृष्ण को श्राप दिया कि जैसे मेरे 100 पुत्र मरे हैं वैसे ही तुम्हारे पुत्र मरेंगे और कुल का नाश होगा.
Read More...
error: Content is protected !!