15 अगस्त 2018: कहां गया जन का भारत?

जिस आजादी और संप्रभुता को पाने के लिये जन ने अपना सब कुछ दांव पर लगा दिया हो, वही जन आज आजादी के 72वे बरस में उसके जश्न को दूर खड़ा निहार रहा है. सोच रहा है आजादी तो अमीरों के बस की बात है. उसकी हैसियत ही कहां है? आजादी के लिये शामिल होने…
Read More...