कैसे फैलता है ब्लैक फंगस? क्या हैं ब्लैक फंगस के लक्षण?

भारत के करीब 11 राज्यों में इसके मरीज मिल चुके हैं और आगे भी ये बढ़ते ही जा रहे हैं ऐसे में ब्लैक फंगस क्या है? (What is Black Fungus?) ब्लैक फंगस कैसे होता है?

कोरोना के कहर के बाद Black Fungus ने लोगों को अपना शिकार बनाया है. कोरोना का इलाज कराकर लौटे मरीजों में ब्लैक फंगस तेजी से देखने को मिला है. भारत के करीब 11 राज्यों में इसके मरीज मिल चुके हैं और आगे भी ये बढ़ते ही जा रहे हैं ऐसे में ब्लैक फंगस क्या है? (What is Black Fungus?) ब्लैक फंगस कैसे होता है? (Black Fungus in hindi) ब्लैक फंगस के क्या लक्षण हैं? ब्लैक फंगस से बचने का क्या तरीका है? इन सभी बातों को जानना बेहद जरूरी है.

ब्लैक फंगस क्या है? (What is Black Fungus in Hindi?)

ब्लैक फंगस एक बीमारी है जिसे डॉक्टर की भाषा में म्यूकर माइकोसिस (mucormycosis in hindi) कहते हैं. ये एक ऐसा इन्फेक्शन है जिसका शिकार कोरोना वायरस का इलाज करवा रहे या करवा चुके लोग हो रहे हैं. कोविड 19 टास्क फोर्स के एक्सपर्ट का कहना है की ये उन लोगों में आसानी से फ़ेल रहा है जो पहले से किसी बीमारी से जूझ रहे हैं और जिनकी इम्यूनिटी बहुत कम है

ब्लैक फंगस कैसे होता है? (How does black fungus spread?)

ब्लैक फंगस कुछ खास तरीके के मरीजों का अपना शिकार बना रहा है.

– जो मरीज मधुमेह से पीड़ित हैं उन्हें ब्लैक फंगस जल्दी अपना शिकार बना रहा है.
– स्टेरॉयड के ज्यादा सेवन करने वाले मरीजों को ब्लैक फंगस की समस्या आ सकती है.
– कोरोना संक्रमण के इलाज के दौरान अधिक समय तक आईसीयू में रहने के कारण ब्लैक फंगस का शिकार हो सकते हैं.

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक कम इम्यूनिटी वाला व्यक्ति या फिर मधुमेह से पीड़ित रोगी हवा में फैले रोगाणुओं के संपर्क में आने से ब्लैक फंगस का शिकार हो सकता है. ये फंगस आपकी स्किन पर भी विकसित हो सकता है. ये आपके शरीर पर चोट, रगड़ या जलने के घाव से भी दाखिल हो सकता है.

ब्लैक फंगस के लक्षण (Black Fungus Symptoms)

ब्लैक फंगस से बचाव के लिए इसके लक्षण जानना बेहद जरूरी है.

– बुखार आना
– सिरदर्द
– खांसी या सांस फूलना
– आँखों में लाल पन या दर्द
– आँख फूल जाना
– आँख से दिखना बंद हो जाए या फिर एक की जगह दो दिखे
– चेहरा एक तरफ से सुन्न हो जाना
– दांत में दर्द होना,
– बलगम में खून आना

ब्लैक फंगस से बचने के उपाय (Home remedy for black fungus)

जिन भी लोगों को ब्लैक फंगस का खतरा है उन्हें इससे बहुत ज्यादा बचकर रहने की जरूरत है. खासतौर पर उन लोगों को जिन्हें मधुमेह है या फिर उनके शरीर की इम्यूनिटी कमजोर है. ऐसे लोग एक छोटे से घाव से ही ब्लैक फंगस का शिकार हो सकते हैं. इसलिए इसके बचाव जानना बेहद जरूरी है.

– धूल वाली जगह पर मास्क पहनें.

– मिट्टी, खाद, या काई वाली जगह पर जाने पर जूते, ग्लव्स, शरीर को कवर करने वाली चीजे पहने.

– साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें.

– शरीर में घाव या चोट लग जाने पर उसे पैक करके रखें ताकि बाहरी वायरस या इन्फेक्शन उस पर अटैक न कर सके.

– स्टेरोइड का सेवन कम से कम करें.

ब्लैक फंगस एक खतरनाक बीमारी है जो इंसान की जान भी ले सकती है या फिर उसके शरीर का नुकसान भी कर सकती है. इसलिए ब्लैक फंगस के लक्षण नजर आते ही अपने डॉक्टर से परामर्श लें और उचित इलाज करवाएं.

यह भी पढ़ें :

Corona virus disease: किन लोगों को है कोरोना वायरस का ज्यादा खतरा

Coronavirus: कब और किसे है जांच की जरूरत? कोरोना वायरस से बचने के उपाय

Corona Virus : कोरोना वायरस क्या है, इसकी शुरुवात कहां से हुई

error: Content is protected !!