Browsing Category

बिजनेस

Facebook से भी कर सकते हैं लाखों की कमाई

क्या आपने कभी  ये सोचा है कि दिन भर 4 से 5 घंटे फेसबुक पर गुजारते हुए हम फेसबुक से कमाई कर सकते हैं. दरअसल, बहुत ही कम लोग जानते हैं कि फेसबुक केवल दोस्तों, अनजान लोगों और संबंधियों से कनेक्ट होने का ही नहीं बल्कि कमाई का भी मौका देता है. 
Read More...

कितने कारगर हैं कार्पोरेट ऑफिस में जॉब के तौर-तरीके

हम आधे से ज्यादा ऑफिस में ही बिताते है. बॉस और वहां काम करने वाले कर्मचारियों के बीच का रिश्‍ता बहुत मायने रखता है. अगर बॉस आपपर गुस्सा रहता है तो आप तनाव में रहेंगे. बॉस ऑफिस का सबसे महत्वपूर्ण इंसान है और आपकी प्रमोशन भी उसी के हाथों में…
Read More...

कितने काम की है पोस्ट-ऑफिस की डिजिटल सर्विस

देश में जल्द ही पोस्ट ऑफिस की डिजिटल बैंकिंग सर्विस शुरू होने वाली है. जिससे न सिर्फ पोस्ट ऑफिस के 34 पोस्ट ऑफिस सेविंग्स अकाउंट होल्डर्स को फायदा मिलेगा बल्कि पोस्‍ट ऑफिस के अकाउंट होल्डर्स अपने अकांउट से किसी भी बैंक अकाउंट में पैसे…
Read More...

देश में बढ़ती अमीरों की संख्या, विकास के शोर में कौन सुनेगा गरीबों की?

एक सर्वे के मुताबिक देश में अमीरों की संख्या तेजी से बढ़ रही है, दूसरी ओर गरीब भी तेजी से बढ़ रहे हैं. देश में आर्थिक विषमता की यह तस्वीर बेहद चिंताजनक है. सर्वे बताता है कि देश की 73 प्रतिशत संपत्ति का पूरा 1 फीसदी धनाढ्यों की मुट्ठी में…
Read More...

औद्योगिकरण से नहीं, किसानों की तरक्की से बदलेगा देश

चाहे कितना भी मेक इन इंडिया जैसे नारों का प्रचार किया जाए या इन्वेस्टर्स सम्मिट का आयोजन करके करोड़ों रूपये को स्वाहा कर दिया जाए लेकिन इन सम्मिटों द्वारा उद्योगों में आने वाले निवेश इस देश की गरीबी को, किसान की दुर्दशा को बेहतर नहीं बना…
Read More...

आर्थिक मोर्चे पर फेल और कूटनीति में पिछड़े, गरीबी की आह में गुम ना हो जाएं राष्ट्रवाद की चीखें..!

देश में कथित विकास यात्रा के बीच शिशु मृत्युदर बढ़कर 223 हो गई, जो पिछले साल 175 थी. वैश्विक भूख सूचकांक में हमारे देश का स्थान अब 119वां हो गया है जबकि यह पहले केवल 100वां हुआ करता था. शिक्षा सूचकांक में हमारा स्थान 197वां है जो पहले…
Read More...

रिटेल में FDI : व्यापारियों के पेट पर लात और संघ नाराज, कटघरे में मोदी सरकार?

स्विट्जरलैंड के दावोस में इस 22 जनवरी से होने वाले वर्ल्ड इकॉनॉमिक फोरम समिट में पीएम नरेंद मोदी रिटेल बिजनेस में 100{4f87ad8c368bc179e2d180453c56a403e7e581457176ed0e8ee6656745545539} फॉरेन इन्वेस्टमेंट की मंजूरी को हरी झंडी देने जा रहे…
Read More...

‘बेरोजगारी’ पर खराब मोदी सरकार का रिपोर्ट कार्ड, शर्मिंदा करते हैं ये आंकड़े..!   

सरकार को तीन साल पूरे हो चुके हैं, लेकिन रोजगार के मोर्चे पर केंद्र का रिपोर्ट खराब है. आंकड़े बताते हैं कि मोदी सरकार 3 साल में उतनी नौकरी नहीं दे पाई जितनी की कांग्रेस सरकार ने 1 साल में ही दे दी थी. इधर एक रिपोर्ट के मुताबिक देश में अब…
Read More...

नोटबंदी का पॉजिटिव इंपेक्ट और भारतीय अर्थव्यवस्था की हकीकत..!

वर्ल्ड इकॉनॉमी में विकसित देशों की अर्थव्यवस्था मंदी के दौर से गुजर रही है. मंदी के इस दौर में भारत का एक्सपोर्ट प्रभावित हुआ है. बीते साल केंद्र सरकार की ओर से की गई नोटबंदी पूरी दुनिया में चर्चा के केंद्र में रही है. इसके पक्ष और विपक्ष…
Read More...

आखिर क्यों अन्नदाता पर बोझ बन गई है खेती-किसानी?

आज भारत के किसान खेती में अपना कोई भविष्य नहीं देखते हैं, उनके लिए खेती-किसानी बोझ बन गई है. हालात यह हैं कि देश का हर दूसरा किसान कर्जदार है. 2013 में जारी किए गए राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण के आंकड़े बताते है कि यदि कुल कर्ज का औसत निकाला…
Read More...