Browsing Category

समाज और संस्‍कृति

कहानी साड़ी की: फैशन बिगड़कर बदल गए लेकिन नहीं बदला भारतीय परिधान..!

भारत में परिधान के रूप में साड़ियों का प्रचलन कितना पुराना है इसके बारे में कोई भी ठीक-ठीक जानकारी नहीं है. लेकिन हजारों फैशन बदलने के बाद आज भी साड़ियां ज्यों की त्यों बनी हुई है. करोड़ों महिलाएं आज भी साड़ी पहनती हैं और इसमें कोई दो राय…
Read More...

क्यों हो रहा समाज का नैतिक पतन? कैसी है नई पीढ़ी?

नैतिक मूल्यों का अचानक गिरना 20वीं शताब्दी से ही शुरू हुआ? आपके जमाने से या आपके किसी बुजुर्ग रिश्तेदार या दोस्त के जमाने से? बल्कि यह कृत्य होना तो एक सदी पहले ही हो चुका था. सन् 1914 में जब पहला विश्वयुद्ध हुआ, तब से नैतिक मूल्यों का…
Read More...

भारतीय संस्कृति में क्यों आस्था के केंद्र हैं मंदिर

तीर्थ स्थलों की महत्त्वपूर्ण भूमिका को जानना जरूरी है. देश की एकता, अखंडता और समृद्धि में तीर्थस्थलों की सकारात्मक भूमिका रही है. देश की सभ्यता एवं संस्कृति का संरक्षण तीर्थ स्थल करते आए हैं. यही वजह है कि विदेशी आक्रमणकारियों ने सर्वप्रथम…
Read More...

Right to Education Act ने कितनी बदली भारत में शिक्षा?

9 साल पहले यानी 4 अगस्त 2009 को शिक्षा के अधिकार कानून यानी की राइट टू एजुकेशन एक्ट संसद में पास हुआ. यह बीते दशकों में इंडिया की बड़ी उपलब्धि थी. लेकिन खामियों और इसके क्रियान्वयन में सरकारों की उदासीनता से इसके अपेक्षित परिणाम नहीं मिले…
Read More...

थाली में खाना मत छोड़िए, दुनिया भूखी है और हिंदुस्तान कुपोषण पर शर्मिंदा..!

विश्व की 47 प्रतिशत आबादी केवल भारत, चीन, अमेरिका, ब्राजील और इंडोनेशिया में बसती है. सवाल यह है कि टेक्नॉलॉजी के बूते पूरी दुनिया में चल रही विकास की बयार में आज भी विश्व में महिलाओं, बूढ़ों बच्चों की ऐसी दुनिया है जो भूखी है, कुपोषण का…
Read More...

मैरिड लाइफ में जरूरी है भावनाओं की कद्र, पति-पत्नी ऐसे करें सपोर्ट

शादी के बाद हर दंपती की चाहत होती है कि खुश रहें और सफल रहें. मैरिड लाइफ में इस इच्छा को पूरा करने के लिए दोनों में कुछ त्याग की भावना का होना, एक दूसरे के इमोशंस को समझना जरूरी होता है. यदि एक दूसरे की भावनाओं को समझ कर सम्मान किया जाए…
Read More...

महिला साक्षरता में छिपी है देश के विकास की कहानी, लेकिन क्यों निरक्षर रह गई स्त्री?

हमारे देश में महिलाओं का एक बड़ा हिस्सा आज भी निरक्षर है और इस कारण विकास योजनाओं से अपने को लाभान्वित करने में असमर्थ हैं. इस दुर्दशा को दूर करने के लिए महिला साक्षरता की योजनाएं कई सरकारी गैर सरकारी संस्थाओं के तत्वावधान में चल रही हैं पर…
Read More...

देश में ही अलग-अलग हैं होली के रंग, रंग हैं हजार और हर रंग में बरसता है प्यार,

रंगों का त्योहार होली भारत भर में कई रूपों में इसलिए मनाया जाता है, क्योंकि इन सभी के साथ अपने-अपने आंचलिक नाम, और महत्ता जुड़ी हुई हैं. कहीं होली नववर्ष के शुभारंभ के उपलक्ष्य में मनाई जाती है तो कहीं इस दिन भगवान श्रीकृष्ण के अमर-प्रेम…
Read More...

होमवर्क का कहा तो बेटे ने मां और बहन के पेट में घोंप दी कैंची, आखिर कहां जा रहा है समाज?

दिल्ली से सटे नोएडा में मां के डांटने पर गुस्साए बेटे ने ना केवल मां की हत्या कर दी बल्कि अपनी बहन को भी पिज्जा कर्टर से मौत के घाट उतार दिया. इस घटना ने पूरी दिल्ली को हिला दिया. ये एक नहीं ऐसी कई घटनाएं हमारे आसपास मौजूद हैं, सवाल यह है…
Read More...

ऐसे करें स्कूल स्टूडेंट परीक्षा की तैयारी, ये टिप्स देंगे शानदार एग्जाम रिजल्ट

 ‘परीक्षा’ शब्द का अर्थ है - दूसरों के द्वारा एक व्यक्ति के ज्ञान को जांचना यूं तो यह तीन अक्षरों का छोटा सा शब्द है मगर इस के अंदर जो डर है, वह सब को कंपा देता है परीक्षा किसी भी प्रकार की हो सकती है मगर यहां मैं छात्रों की परीक्षा के बारे…
Read More...