Dietitian course : डायटिशियन कैसे बनते हैं, कितनी मिलती है सैलरी?

एक अच्छे स्वस्थ्य जीवन के लिए हमें स्वस्थ्य आहार की जरूरत होती है लेकिन आजकल की भागती दौड़ती ज़िन्दगी में हम स्वस्थ्य आहार से काफी दूर हो गए है जिसके कारण आहार विशेषज्ञों के क्षेत्र में काफी उछाल आया है. इसमें करियर की काफी संभावनाएं हैं. आहार विशेषज्ञ (Food expert) यानि डायटिशियन (dietitian) बनने के लिए क्या करें इस सवाल का जवाब आप इस आर्टिकल में पाएंगे.

0 363

एक अच्छे स्वस्थ्य जीवन के लिए हमें स्वस्थ्य आहार की जरूरत होती है, लेकिन आजकल की भागती-दौड़ती ज़िन्दगी में हम स्वस्थ्य आहार से काफी दूर हो गए है जिसके कारण आहार विशेषज्ञों के क्षेत्र में काफी उछाल आया है. इसमें करियर की काफी संभावनाएं हैं. आहार विशेषज्ञ (Food expert) यानी डायटिशियन (dietitian) बनने के लिए क्या करें इस सवाल का जवाब आप इस आर्टिकल में पाएंगे.

आज लोग कई बीमारियों से घिरे हुए हैं जैसे थाइराइड, मधुमेह, कुपोषण, मोटापा आदि. ये सब होते प्राॅपर खाना न खाने के कारण. आपके पूरे दिन में आपको क्या खाना चाहिए, क्या नहीं खाना चाहिए यही सब बताना एक डायटिशियन का काम होता है. डायटिशियन आपको आपके वजन के हिसाब से डाइट सजेस्ट करता है ताकि आप स्वस्थ रहें.

सम्बंधित लेख - पढ़िए

कैसे बनें डायटिशियन ( know how to become a dietitian online)

डायटिशियन बनने के लिए (Career in dietitian) सबसे पहले तो आप दसवी के बाद ग्यारहवी और बारहवी बायो के साथ करें जिससे आप बायो के बेसिक्स समझ सकें. इसके बाद आप होम साइंस (BSc. in home science) में बीएससी कर सकते हैं. देशभर में ऐसे कई रेप्युटेटेड काॅलेज हैं जो इस कोर्स को ऑफर करते हैं. इसके अलावा आप फूड टेक्नोलाॅजी में ग्रेजुएशन (Food technology) कर सकते हैं.

डायटिशियन बनने के जरूरी योग्यताएं (what qualifications do you need to become a dietitian?)

आहार विज्ञान एक गतिशील दुनिया है जिसमें हर रोज नियम चेंज होते रहते है. आपको नवीनतम घटनाओं पर अपनी नज़र रखनी होती है. साथ ही आपके जो क्लाइंट यानि पेशेंट होते हैं उनसे किस तरह डील करना है ये भी समझ होनी चाहिए. यहां आपकी कम्यूनिकेशन और नाॅलेज दोनों पर ही पकड़ होना जरूरी है तभी आप इस फील्ड में एक अच्छा करियर बना पाएंगे.

डायटिशियन के प्रकार (know types of dietitian jobs )

क्लिनिकल न्यूटरीनिस्ट (Clinical Nutritionist )

ये मरीजों को क्लिनिकल अवस्था को ध्यान में रखते हुए उन्हें पोषण संबंधी सलाह देते हैं. उन्हें क्या खाना है क्या नहीं खाना है ये तय करते हैं. ये आमतौर पर अस्पतालों और डाॅक्टरों के क्लिनिक में चिकित्सक के साथ काम करते हैं. इनका प्रारंभिक वेतन लगभग 20 हजार रूपए प्रतिमाह होता है. अनुभव के साथ-साथ इनका वेतन बढ़ता जाता है.

स्पोर्ट्स डायटिशियन (Sports dietitian)

आजकल हर स्पोर्ट्स में एक प्राॅपर डाइट की जरूरत होती है जिसे डायटिशियन सजेस्ट करता है. आपने देखा ही होगा कि हर टीम में एक डायटिशियन होता है जो खिलाड़ियों की डाइट बताता है. ये डायटिशियन उनके कोच की भी भूमिका निभाते हैं. ये डायटिशियन खिलाड़ियों को पदक दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. इनका शुरूआती वेतन 50 हजार प्रतिमाह लगभग होता है.

फूड सर्विस डायटिशियन (Food Service dietitian)

किसी भी रेस्टोरेंट, होटल, कैफेटेरिया जैसी जगहों पर इस बात का ध्यान रखा जाता है कि जो भी बन रहा है उसकी गुणवत्ता अच्छी हो. यहां बनने वाले खाने की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए बड़े पैमाने पर ऐसे पेशेवर हायर किए जाते हैं जो यह सुनिश्चित कर सकें कि रसोईघर में जो भी चल रहा है वह संगठन या फर्म द्वारा नियामक मानकों के अनुपालन में है.

डायटिशियन की फील्ड में विकल्प कम हैं लेकिन संभावनाएं बहुत हैं. आजकल हर कोई अपने शरीर के लिए डायटिशियन से जरूर सलाह लेता है. आप अपना पर्सनल क्लिनिक खोलकर भी इस काम को कर सकते हैं. इस फील्ड में अपना करियर बनाकर आप एक अच्छी दिशा में जा सकते हैं.

(नोट: यह लेख आपकी जानकारी बढ़ाने के लिए साझा किया गया है. डाइटेशियन का कोर्स करने के लिए किसी करियर काउंसर से सलाह जरूर लें.)