Duel Degree Rules: एक साथ दो डिग्री कर सकेंगे छात्र, नए नियम लाई सरकार

यदि कोई युवा इंजीनियरिंग कर रहा है तो वो दूसरे किसी कॉलेज या उसी कॉलेज से बीए भी कर सकता है. मतलब एक साथ दो डिग्री प्राप्त कर सकता है.

देश के युवा छात्रों के लिए सरकार एक नई गाइडलाइन (Graduation New Guideline) लेकर आई है जिसके तहत ग्रेजुएशन करने वाले युवा एक साथ दो अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम में हिस्सा ले सकते हैं. जैसे यदि कोई युवा इंजीनियरिंग कर रहा है तो वो दूसरे किसी कॉलेज या उसी कॉलेज से बीए भी कर सकता है. मतलब एक साथ दो डिग्री प्राप्त कर सकता है. हालांकि इसके लिए कुछ नियम हैं जिन्हें ध्यान में रखना जरूरी रहेगा.

दो डिग्री कोर्स की गाइडलाइन (Duel Degree Courses Guideline) 

हाल ही में यूजीसी के चेयरपर्सन एम जगदीशकुमार ने कहा कि अब छात्रों के लिए दो कोर्स एक साथ करना संभव हो पाएगा.

– छात्र ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन, डिप्लोमा लेवल पर दो कोर्स एक साथ कर सकेंगे. इसमें एक कोर्स की पढ़ाई ऑनलाइन रहेगी वहीं दूसरे की ऑफलाइन रहेगी.
– यूनिवर्सिटी के लिए नए नियम ऑप्शनल रहेंगे. इन्हें मानना और न मानना पूरी तरह इन पर ही निर्भर रहेगा.
– छात्र दोनों कोर्स को एक ही यूनिवर्सिटी से कर सकेंगे.
– छात्र चाहे तो अलग-अलग यूनिवर्सिटी से दो कोर्स कर सकते हैं.
– इसके अलावा वे चाहे तो एक कोर्स भारत से तथा दूसरा कोर्स किसी अन्य देश से कर सकते हैं.

कैसे सबजेक्ट चुन सकते हैं स्टूडेंट? (Duel Degree Subjects) 

सबजेक्ट के कॉम्बिनेशन का फैसला अभी यूनिवर्सिटी पर छोड़ दिया गया है. यूनिवर्सिटी खुद नोटिफ़िकेशन के जरिये बताएगी कि आप किस डिग्री के साथ कौन सी दूसरी डिग्री कर सकते हैं. लेकिन जानकारी के मुताबिक आप चाहे तो एक ही स्ट्रीम में दो डिग्री कर सकते हैं. या फिर साइन्स की पढ़ाई के साथ हयूमैनिटिज की डिग्री साथ में कर सकते हैं.

किस मोड में कर सकेंगे ग्रेजुएशन का चुनाव (Duel Graduation Mode) 

अगर दो डिग्री छात्र एक साथ कर रहे हैं तो उन्हें काफी मुसीबत का सामना करना पड़ता है. इसमें सबसे बड़ी समस्या ये होती है कि छात्र एक साथ दोनों कोर्स की क्लासेस अटेण्ड नहीं कर पाएगा. लेकिन यूनिवर्सिटी इसी बात को देखते हुए छात्रों को डबल ग्रेजुएशन करने के विकल्प दे रही है.

– छात्र यदि दोनों कोर्स ऑफलाइन फिजिकल मोड में करना चाहते हैं तो दोनों कॉलेज के टाइमिंग अलग-अलग होना चाहिए. जिससे वो दोनों जगह पर क्लास अटेण्ड कर सके.
– छात्र चाहे तो एक कोर्स को ऑफलाइन कर सकता है और दूसरा कोर्स ओपन डिस्टेन्स लर्निंग मोड पर कर सकता है.
– छात्र चाहे तो दो कोर्स को ऑनलाइन या दोनों कोर्स को डिस्टेन्स लर्निंग प्रोग्राम से कर सकता है.

छात्र यदि दोनों कोर्स ऑफलाइन मोड में करना चाह रहा है तो यूनिवर्सिटी ये देखेगी की दोनों कॉलेज के क्लास का टाइम मैच तो नहीं हो रहा है. अगर दोनों का समय अलग-अलग है तो यूनिवर्सिटी उसे दोनों कोर्स करने की अनुमति देगी.

डबल डिग्री करने के नियम (UGC Rules for Duel Degree Courses) 

डबल डिग्री करने वाले स्टूडेंट को कुछ नियमों के तहत ही इस प्रोग्राम में हिस्सा लेना होगा.

– अगर आप ग्रेजुएशन कर रहे हैं तो केवल ग्रेजुएशन में ही दूसरी डिग्री कर सकते हैं. इसी तरह पोस्ट ग्रेजुएशन करने वाला केवल पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकता है और डिप्लोमा करने वाला केवल डिप्लोमा कोर्स कर सकता है.
– आप एम. फिल या पीएचडी कोर्स में डबल डिग्री नहीं ले सकते.
– अटेंडेंस को लेकर यूनिवर्सिटी नियम बनाएगी और स्टूडेंट को वे नियम फॉलो करने होंगे.

सरकार यूजीसी के लिए ये नया नियम ला रही है और नई शिक्षा नीति के तहत इसे जल्द भी लागू किया जाएगा. इससे छात्रों को एक साथ दो कोर्स करने का मौका मिलेगा. जैसे कोई इंजीनियरिंग करते-करते अपने फेवरेट हॉबी सब्जेक्ट में बीए भी कर पाएगा.

यह भी पढ़ें :

RTE Act 2009 in Hindi : राइट टू एजुकेशन क्या है, बच्चों का फ्री एडमिशन कैसे होता है?

Tips for Career Success: अच्छी जॉब पाने के टिप्स और करियर बनाने के आसान तरीके

Kaushal Panjee: बेरोजगार युवाओं को गारंटीड रोजगार देने वाली योजना

error: Content is protected !!