Email Marketing: ईमेल मार्केटिंग क्या है, ईमेल मार्केटिंग कैसे की जाती है?

ईमेल मार्केटिंग क्या है (Email marketing kya hai)? अगर आप किसी वेबसाइट को चला रहे हैं तो आपने ईमेल मार्केटिंग (Email marketing) के बारे में जरूर सुना होगा. डिजिटल दुनिया में वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने और अपनी वेबसाइट का प्रचार करने में ये काफी कारगर साधन है. आज भी दुनिया में कई ऐसे लोग हैं जो इसके बारे में नहीं जानते हैं और जानना चाहते हैं. उनके मन में कई प्रश्न होते हैं कि ईमेल मार्केटिंग क्या है, ईमेल मार्केटिंग कैसे होती है, ईमेल मार्केटिंग की क्या स्ट्रेटेजी होती है? आपके इन सभी सवालों के जवाब आपको इस लेख में मिलेंगे.

0 480

ईमेल मार्केटिंग क्या है (Email marketing kya hai)? अगर आप किसी वेबसाइट को चला रहे हैं तो आपने ईमेल मार्केटिंग (Email marketing) के बारे में जरूर सुना होगा. डिजिटल दुनिया में वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने और अपनी वेबसाइट का प्रचार करने में ये काफी कारगर साधन है. आज भी दुनिया में कई ऐसे लोग हैं जो इसके बारे में नहीं जानते हैं और जानना चाहते हैं. उनके मन में कई प्रश्न होते हैं कि ईमेल मार्केटिंग क्या है, ईमेल मार्केटिंग कैसे होती है, ईमेल मार्केटिंग की क्या स्ट्रेटेजी होती है? आपके इन सभी सवालों के जवाब आपको इस लेख में मिलेंगे.

ईमेल मार्केटिंग क्या है? (What is email marketing in hindi?)

सम्बंधित लेख - पढ़िए

ईमेल मार्केटिंग में सबसे पहली बात होती है कि ये ईमेल मार्केटिंग आखिर होती कैसे है(How to do email marketing). तो सबसे पहले जरा अपना ईमेल चेक करें. उसमें देखें कि उसमें ऐसे कितने मेल है जो न तो आपने भेजे हैं और न ही आपने किसी को भेजने को कहा है फिर भी वो आपके पास आए हैं. वो किसी वेबसाइट के हो सकते हैं. किसी शॉपिंग पोर्टल के हो सकते हैं. किसी न्यूज वेबसाइट के हो सकते हैं. बस ये सारे ईमेल, ईमेल मार्केटिंग के ही रिजल्ट है.

ईमेल मार्केटिंग (Meanging of email marketing) का मतलब ऐसे ईमेल से होता है जो किसी वेबसाइट की जानकारी आप तक पहुंचाने के लिए होता है. पहले आप इन वेबसाइट पर जाते हैं और Subscribe करते हैं. आपका ईमेल इनके पास पहुंच जाता है. इसके बाद ये अपने ईमेल आपके पास भेजते हैं जिनमें इनके ऑफर और जानकारी होती है. कई लोग इन्हें स्पैम मेल्स (Spam mails) भी कहते हैं. लेकिन ये ईमेल मार्केटिंग के अंर्तगत आते हैं.

ईमेल मार्केटिंग कैसे करते हैं? (How to do email marketing free?)

ईमेल मार्केटिंग करने के लिए आपके बिजनेस की वेबसाइट होना जरूरी है. क्योंकि ईमेल के जरिए यूजर्स आपकी वेबसाइट पर आएंगे और आपको रिजल्ट पता चलेगा. अब आपकी वेबसाइट पर जो लोग अपने आप आ रहे हैं उन्हें सब्सक्राइब करवाने के लिए आपको एक पॉप-अप लगाना पड़ता है जिसे आपने ‘News letter subscription’ नाम से वेबसाइट पर देखा होगा. यहां पर बस आपको अपना मेल आईडी देना होता है. इसके बाद आपके पास ईमेल की लिस्ट इकट्ठी होती रहती है. जब आपके पास ढेर सारे ईमेल आईडी हो जाते हैं तो आप रेग्यूलर बेस पर अपनी वेबसाइट और बिजनेस के अपडेट और ऑफर इन्हें भेज सकते हैं.

ईमेल मार्केटिंग की स्ट्रेटेजी क्या है? (Email marketing strategy)

ईमेल मार्केटिंग की स्ट्रेटेजी काफी सिंपल है. अगर किसी व्यक्ति ने आपको अपना ईमेल आईडी दिया है मतलब वो आपकी वेबसाइट में इंट्रेस्टेड है. लेकिन इसका ये मतलब नहीं कि आप उसे हर मिनट या हर घंटे में अपने अपडेट या ईमेल भेजते रहे. ऐसा करने से यूजर आपको अनसब्सक्राइब कर सकता है. आप पहले समय तय करें कि आपको कब ईमेल भेजने है जिससे आपके ऑफर्स और अपडेट को यूजर्स पढ़े और आपकी ईमेल मार्केटिंग सफल हो. दिनभर ईमेल न भेजें दिनभर में एक या दो बार ही भेजे तभी यूजर आपके साथ लंबे समय तक बना रहेगा.

बल्क ईमेल कैसे खरीदें? (Email marketing service)

बहुत सारे एक्टिव ईमेल आईडी इकट्ठे करना काफी लंबी प्रोसेस होती है और इसके लिए आपकी वेबसाइट पर उतना ट्रैफिक आना भी जरूरी है. लेकिन अगर आप चाहते हैं कि आपके पास ढेर सारे ईमेल आईडी बल्क (Buld email marketing) में आ जाए तो आपको इन्हें कुछ कीमत देकर खरीदना होगा. आप इन्हें भारत में GoDaddy, Emaildatapro नाम की वेबसाइट आपको बल्क में एक्टिव ईमेल्स उपलब्ध करवाती हैं.

ईमेल मार्केटिंग सॉफ्टवेयर (Email marketing software)

ईमेल मार्केटिंग सिर्फ ईमेल के इकट्ठा कर लेने से नहीं हो जाती बल्कि इसके लिए आपको ईमेल भेजने वाला सॉफ्टवेयर भी चाहिए होता है. आप इसे ऑनलाइन खरीद सकते हैं और बल्क में ईमेल भेजकर उन्हें ट्रैक भी कर सकते हैं. ये कुछ ईमेल मार्केटिंग सॉफ्टवेयर हैं जिन्हें आप खरीद सकते हैं.

Aweber
Convert Kit
Active Campaign
Constant Contact

इस तरह आप आसानी से कुछ पैसे लगाकर ईमेल मार्केटिंग कर सकते हैं. देखा जाए तो ये अन्य किसी विज्ञापन से कम दरों में ही हो जाता है और इसे काफी कारगर भी माना जाता है. लेकिन ध्यान रहें कि आपके ईमेल से यूजर को परेशानी नहीं होनी चाहिए नहीं तो वो आपके लिए निगेटिव प्वाइंट बन जाएगा