ये पांच कोर्स बनाएंगे आपको हाइली पेड एम्प्लॉई

पैसा कमाने के लिए सभी जीतोड़ मेहनत करते हैं, लेकिन सभी बहुत पैसा कमाने में सफल नहीं हो पाते हैं. इसीलिए आज-कल स्टूडेंट्स के साथ ही उनके अभिभावक भी उन कोर्स या डिग्री को इम्पॉर्टेंस दे रहे हैं, जिनको करने के बाद उनके बच्चे लाखों रुपए की सेलरी का पैकेज पा सकें. ऐसे ही कुछ कोर्स हैं जो देश-विदेश में आपकी इस इच्छा को पूरा करते हैं.  

0 472

पैसा कमाने के लिए सभी जीतोड़ मेहनत करते हैं, लेकिन सभी बहुत पैसा कमाने में सफल नहीं हो पाते हैं. इसीलिए आज-कल स्टूडेंट्स के साथ ही उनके अभिभावक भी उन कोर्स या डिग्री को इम्पॉर्टेंस दे रहे हैं, जिनको करने के बाद उनके बच्चे लाखों रुपए की सेलरी का पैकेज पा सकें. ऐसे ही कुछ कोर्स हैं जो देश-विदेश में आपकी इस इच्छा को पूरा करते हैं.    

सीए बन पाएं सैलरी और प्रतिष्ठा 

सम्बंधित लेख - पढ़िए

चार्टर्ड अकाउंटेंट की डिग्री हासिल कर आपको जॉब मिलने पर किसी कंपनी या संगठन के सभी फाइनेंशियल लेन-देन और फाइनेंस से संबद्ध सभी मामले संभालने होते हैं. एक बार सीए एग्जाम पास कर लेने के बाद आपको विभिन्न कंपनियों और ऑफिसेस में काफी बढ़िया सैलरी पैकेज वाले जॉब प्रोफाइल्स मिलते हैं.

फाइनेंशियल कंसलटेंट या सीए के तौर पर भी अपना काम शुरू किया जा सकता है. कार्य अनुभव बढ़ने के साथ ही आपकी कमाई भी लगातार बढ़ती जाती है. आमतौर पर नाम कमा लेने के बाद कोई भी सीए सालाना 35 लाख रु. तक की अधिकतम सैलरी पा सकते हैं.

जाने क्या है एमबीए 

देश के बेहद लोकप्रिय और प्रोफेशनल कोर्सस में से एक है मास्टर ऑफ़ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन यानी एमबीएदेश के कई कॉलेज, यूनिवर्सिटीज, बिजनेस स्कूल्स और इंस्टीट्यूट्स से आप एमबीए कर सकते हैं. आमतौर यह कोर्स दो साल में पूरा हो जाता है.

आईआईएम्स से एमबीए करने के लिए आप को एमबीए एंट्रेंस टेस्ट अर्थात कॉमन एडमिशन टेस्ट (कैट) पास करना होगा. इसके अलावा बैंगलोर, कलकत्ता, अहमदाबाद, इंदौर, कोज़िकोड, लखनऊ, शिलॉंग और कई नए आईआईएम्स में भी एडमिशन लिया जा सकता है.

पाएं बेहतर पोजीशन और हाई पैकेज 

एमबीए करने के बाद कैंडिडेट्स को अपनी योग्यता के अनुरूप मैनेजमेंट फील्ड में जूनियर से लेकर सीनियर लेवल मैनेजर तक की ज़िम्मेदारी मिल सकती है. इसी फील्ड से जुड़ी जॉब प्रोफाइल्स जैसे प्रेजिडेंट, वाइस प्रेसिडेंट, कॉर्पोरेट हेड, चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर, चीफ ऑपरेशनल ऑफिसर आदि शामिल की जा सकती हैं.

सैलरी पैकेज की बात की जाए तो देश के टॉप-20 बिजनेस स्कूल्स से एमबीए करने पर आपको सालाना 50 लाख से 1.8 करोड़ रुपए तक सैलरी वाली जॉब मिल सकती है. वहीं स्टूडेंट्स मिडिल क्लास संस्थानों से भी डिग्री करने के बाद 10 से 20 लाख रुपए प्रति वर्ष का पैकेज पा सकते हैं. 

मेडिकल लाइन में बेहतर संभावनाएं 

एमबीबीएस, बीडीएस व बीफार्मा जैसे कोर्स कर मेडिकल फील्ड में बेहतर करियर बनाया जा सकते है. मेडिकल लाइन में एडमिशन के लिए आपको नीट यूजी/ पीजी एंट्रेंस एग्जाम देना होगा. जनरल फिजिशियन या स्पेशलाइज्ड डॉक्टर बनने के बाद आपको करियर की शुरुआत में कम से कम 5 से 6 लाख रुपए प्रति वर्ष की सैलरी मिलेगी.

वर्क एक्सपीरियंस बढ़ने के साथ ही मेडिकल प्रोफेशनल्स 35 से 40 लाख रुपए प्रति वर्ष तक की सैलरी पा सकते हैं. अच्छी पहचान और वर्क एक्सपीरियंस के बाद आप अपनी क्लिनिक या अस्पताल भी खोल सकते हैं. इसके लिए कोई आयु सीमा भी तय नहीं है. 

मैथमेटिक्स स्किल्स है तो बनें इन्वेस्टमेंट बैंकर्स

दूसरे फेमस जॉब ओरियंटल कोर्स की अपेक्षा इन्वेस्टमेंट बैंकर्स में काफी कम स्टूडेंट्स एडमिशन लेते हैं, लेकिन इसमें शानदार करियर की बहुत सारी संभावनाएं हैं. इस पेशे को चुनने से पहले आपको अपना मैथमेटिक्स स्किल्स जांच लेना चाहिए. इस कोर्स को करने के बाद आप सरकारी व प्राइवेट कंपनियों में जॉब कर सकते हैं.

इन्वेस्टमेंट बैंकर्स का काम इंस्टीट्यूशंस को उनके फाइनेंशियल लक्ष्य पूरे कराने के लिए आइडिया देना और ऑफिसेज सहित कंपनियों में सभी किस्म के शॉर्ट और लांग टर्न फाइनेंशियल प्लान्स तैयार करना होता है. इस पेशे के लिए आपको संबद्ध ट्रेनिंग प्रोग्राम पूरा करना होगा.

आपके पास फाइनेंस, एकाउंटिंग या मैथमेटिक्स विषय सहित कम से कम ग्रेजुएशन की डिग्री होनी ज़रूरी है. सैलरी पैकेज की बात करें तो एक्सपीरियंस्ड इन्वेस्टमेंट बैंकर को 26 से 30 लाख रु. प्रति वर्ष तक की सैलरी मिलना आम बात होती है.

बन सकते हैं आईटी एंड सॉफ्टवेयर इंजीनियर्स

कंप्यूटर साइंस में बैचलर ऑफ़ कंप्यूटर साइंस यानी की बीसीए और मास्टर ऑफ़ कंप्यूटर साइंस यानी एमसीए  की डिग्री प्राप्त कर आप आईटी और सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में करियर शुरू कर सकते हैं. आपकी जॉब प्रोफ़ाइल यह होगी कि आप अपनी कंपनी या इंस्टीट्यूशन के कंप्यूटर सिस्टम्स से जुड़े सभी मामलों की देख-रेख करेंगे.

आईटी और सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में आपको 15 से 20 वर्ष का अनुभव होने पर 22 लाख रुपए तक सालाना सैलरी पैकेज मिल सकता है.

मार्केटिंग प्रोफेशनल्स 

सरकारी और प्राइवेट दोनों ही कंपनियां और इंस्टीट्यूशंस मार्केटिंग प्रोफेशनल्स को अपनी इनकम और प्रॉफिट बढ़ाने के लिए रखते हैं. ऐसे में आप मार्केटिंग या बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में डिग्री प्राप्त कर निजी और सरकारी दोनों ही क्षेत्र में जॉब कर सकते हैं. 

इस कोर्स को करने के बाद आप मार्केट रिसर्च वर्क, प्रोडक्ट डेवलपमेंट, आइडिया प्रमोशन और स्पॉन्सरशिप जैसे काम कर सकते हैं. मार्केटिंग प्रोफेशन का काम बेहतर तरीके से करने पर आपको मार्केटिंग मेनेजर की जिम्मेदारी मिल सकती है. इस जॉब में आपको शुरुआत में 7 से 9 लाख रुपए की सैलरी और कुछ वर्षों के अनुभव के बाद अधिकतम 22 लाख रुपए प्रति वर्ष तक मिल सकती है. 

(नोट : यह लेख आपकी जागरूकता, सतर्कता और समझ बढ़ाने के लिए साझा किया गया है. अधिक जानकारी के लिए किसी करियर काउंसिल की सलाह जरूर लें.)