यहां मां को खूबसूरत बना रही हैं बेटियां

जैसे कभी मां ने बेटियों को संवारा और सजाया था वैसे ही अब बेटियां भी मां की खूबसूरती का ख्याल रख रही हैं.

0 401

मां सृष्टि की सबसे खूबसूरत कृति है लेकिन है तो वो भी इंसान ही जिसे सजने संवरने की जरूरत पड़ती है. वक्त नारी की छवि में भी अपने साथ काफी बदलाव ले आया है. कल की सीधी साधी मम्मियां अब ग्लैमरस दिखना चाहती हैं.

अभी कल तक सृष्टि की मम्मी उसे बताती थी कि उस पर कौन सी ड्रेस अच्छी लगेगी, कौन सा कलर उस पर ज्यादा फबता है, कैसे बालों का स्टाइल जंचता है मगर किशोरावस्था तक आते-आते अब वो ही उन्हें समझाती है कि आजकल किस तरह का फैशन चलन में है. लेटेस्ट डिजाइन ज्यूलरी इत्यादि के बारे में उसे मम्मी से ज्यादा पता रहता है. फिर भी परिपक्वता के अभाव में और कभी-कभी अति उत्साह में बेटियां इस मामले में भूल कर सकती हैं. इसलिए जरूरी है कि वे फैशन का अंधानुकरण न करें.

सम्बंधित लेख - पढ़िए

बेटियों के लिए काउंसलिंग:- मां का मेकअप उनके उम्र व रंग रूप के अनुसार ही करें. वैसे अब यह मान्यता नहीं रही कि बुजुर्ग होने पर डल कलर ही पहने जाएं. बड़ी उम्र में भी डार्क कलर अच्छे लगते हैं. साउथ में राजस्थान में बड़ी उम्र की औरतें भी लाल पीले नीले हरे ऑरेंज सभी गहरे रंग खूब पहनती हैं जो उन पर अच्छे भी लगते हैं.  एक तो उम्र का ग्रे पीरिएड, उस पर कलर भी ग्रे, यह ठीक नहीं. ब्राइट कलर्स मां पर फबेंगे. कहते हैं नकल के लिये भी अकल चाहिए. आप भी किसी और की मम्मी को देखकर अपनी मम्मी पर वही फैशन न आजमाएं. हर चीज हर एक पर अच्छी नहीं लगती क्योंकि हर एक का अपना व्यक्तित्व होता है. टी वी सीरियल्स में फैशन की बहार होती है. बहुत सी औरतें इनसे इंसपायर होकर मेकअप करती हैं. आप भी आंटी लोगों की नकल में मम्मी पर वही सब एक्सपेरिमंेट करना न शुरू कर दें.

मांओं के लिए काउंसलिंग:- अपनी समझ से भी चलें. बेटी की ही बात को सर्वोपरि ना मान बैठें. श्रेयाजी की बेटी ने जिद की मॉम जींस टॉप पहनो. रायमा आंटी तो उम्र में आपसे भी बड़ी ही होंगी. पहनकर कितनी स्मार्ट लगती हैं. बेटी ने इस बात को नजरअंदाज कर दिया था कि उनकी बैली भी निकल आई है और बैक भी अनप्रपोर्शनेट है. ऐसे में बेटी की बात न मानना ही उनके लिए श्रेयस्कर था.

पतिदेव की प्रिफरेंस भी अहम है, यह न भूलें. आजकल की बेटियां काफी समझदार हैं, इसमें शक नहीं. वक्त से पहले मेच्योर हो रही हैं. एक्सपोजर के चलते, बाहर नये लोगों को देखते उन्हें फैशन के बारे में काफी कुछ पता रहता है इसलिए बेटी की पसंद और उसकी जानकारी को कमतर न आंकें.

दुनियांदारी में आप गुरू हैं तो फैशन में वो आपकी फैशन गुरू हो सकती है. उसे इंपॉर्टेंस देंगी तो आपके बीच प्यार बढ़ेगा. आपका रिश्ता और भी स्नेहिल और खूबसूरत बनेगा, तभी तो बेटी भी चहकती हुई आपको कॉम्पलीमेंट देते हुए कहेगी मम्मी, कितनी सुंदर लग रही हो.