Office में कैसे बनें बेस्ट Employee

कभी न कभी हर एम्प्लोयी अपने ऑफिस में स्टार पर्फामर का ख़िताब पाना चाहता है. इसके लिए वो जीतोड़ मेहनत भी करता है, पर उसे तमाम कोशिशों के बाद भी सफलता नहीं मिल पाती है.

0 209

कभी न कभी हर एम्प्लोयी अपने ऑफिस में स्टार पर्फामर का ख़िताब पाना चाहता है. इसके लिए वो जीतोड़ मेहनत भी करता है, पर उसे तमाम कोशिशों के बाद भी सफलता नहीं मिल पाती है.

ऑफिस में सभी कर्मचारी अलग-अलग तरीके से काम करते हैं. कुछ मेहनत बहुत करते हैं, लेकिन मिलता उतना नहीं है जितनी मेहनत उन्होंने की है. वहीं कुछ लोगों को स्मार्ट वर्क करने से कम मेहनत में काफी कुछ मिल जाता है.

सम्बंधित लेख - पढ़िए

Office work planning

किसी भी काम की प्लानिंग उसकी सफलता की गारंटी होती है. ऐसे में आपको भी ऑफिस में काम करते समय हमेशा ही प्लानिंग कर लेनी चाहिए. छोटी-छोटी सी प्लानिंग आपके बड़े से बड़े लैवल का काम करवा सकती है. चाहे आप बड़ी पोस्ट पर हों या छोटी, काम ज्यादा हो या कम बस प्लानिंग साथ आगे बढ़े और सफलता पाएं.

Discussion से बढ़ेगा Decision Power

किसी भी काम को करने से पहले आपको सभी से चर्चा करनी चाहिए. काम को लेकर आप अपने बॉस, सीनियर और जूनियर सभी से बात करें. इससे आपको अपने काम की कमियां पता चलेंगी और आपको उन्हें सुधारने का मौका मिलेगा. साथी ही आप अपडेट भी रहेंगे. यह सूत्र हर सफल आदमी की सफलता के राज में शामिल होता है.

Boss के Experience का लें लाभ

हमेशा आप अपने बॉस के अनुभव की तारीफ करें, इससे आपके बॉस आपसे खुश रहेंगे. साथ ही उनके एक्सपीरियंस का लाभ भी आप अपने प्रोजेक्ट में लें. इससे आपका प्रोजेक्ट शानदार होगा और आपका ये कदम आपको आगे ले जाएगा.

Work load से बिगड़ेंगे काम

यदि आप के ऊपर ऑफिस में काम का अधिक बोझ है, तो इससे आपके परफॉर्मेंस में कमी आ सकती है. इस में आपको अपने काम करने के तरीके पर विचार करना होगा. प्रयास करें कि आप ऑफिस में लंच के बाद थोड़ा आराम कर सकें. दोपहर में एक छोटी सी झपकी आपके काम की क्वालिटी बढ़ा सकती है.

न कहना भी सीखें

यदि आप पर काम का प्रेशर है और ऑफिस की ओर से आपको अतिरिक्त कार्य दिया जाए तो इसे करने मना कर दें. काम के दौरान सभी काम के लिए हां कहना जरूरी नहीं है. इसलिए जरूरी है कि आप ‘न’ कहना भी सीखें. काम का चयन हमेशा अपनी क्षमता के हिसाब से ही करें. ऐसा करने से काम समय पर पूरा तो होता ही है, साथ ही उसमें परफेक्‍शन भी आता है.