BDS Course : डेन्टिस्ट कैसे बनते हैं, बीडीएस कोर्स की जानकारी?

दांत हमारे शरीर का एक अहम हिस्सा है जिनकी देखभाल हम रोजाना करते हैं. अगर दांत में छोटी सी भी परेशानी आ जाती है तो इसकी पीड़ा हमारे पूरे शरीर को सहनी पड़ती है. दांत में परेशानी होने पर लोग डेन्टिस्ट (Dentist) के पास जाते हैं. कई लोगों को डेन्टिस्ट अच्छे लगते हैं. अगर आप भी अपना करियर डेन्टिस्ट के रूप में बनाना चाहते हैं.

दांत हमारे शरीर का एक अहम हिस्सा है जिनकी देखभाल हम रोजाना करते हैं. अगर दांत में छोटी सी भी परेशानी आ जाती है तो इसकी पीड़ा हमारे पूरे शरीर को सहनी पड़ती है. दांत में परेशानी होने पर लोग डेन्टिस्ट (Dentist) के पास जाते हैं. कई लोगों को डेन्टिस्ट अच्छे लगते हैं. अगर आप भी अपना करियर डेन्टिस्ट के रूप में बनाना चाहते हैं. तो आपको पता होना चाहिए की डेन्टिस्ट कैसे बनते हैं? डेन्टिस्ट बनने के लिए कौन सा कोर्स होता है? 12वी के बाद डेन्टिस्ट कैसे बने? डेन्टिस्ट की सैलरी कितनी होती है?

डेन्टिस्ट कौन कहलाते हैं? (Is Doctors and dentist are same?)

डेन्टिस्ट एक प्रकार के डॉक्टर होते हैं. इन्हें दांतों का डॉक्टर या दंत चिकित्सक कहा जाता है. दरअसल शरीर के अलग-अलग हिस्सों के लिए अलग-अलग डॉक्टर हर जगह पर होते हैं. जैसे हड्डी के लिए अलग, प्रेग्नेंसी के लिए अलग, स्किन के लिए अलग उसी तरह दांतों के लिए अलग डॉक्टर होते हैं जिन्हें डेन्टिस्ट कहा जाता है. डेन्टिस्ट बनने के लिए आपको एक अलग कोर्स करना होता है.

डेन्टिस्ट कैसे बनते है? (How to become dentist?)

डेन्टिस्ट बनने के लिए आपको कक्षा 12वी के बाद बीडीएस का कोर्स करना होता है. लेकिन इससे पहले आपको 11वी और 12वी फिजिक्स, केमेस्ट्री और बायो के साथ पढ़नी होती है. इन कक्षाओं में आपको अच्छे प्रतिशत यानि 60 पर्सेंट से ज्यादा लाने होते हैं. उसके बाद आप बीडीएस कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं. बीडीएस में एडमिशन लेने के लिए आपको 12वी के बाद NEET Exam देना होती है जिसके माध्यम से आपका किसी अच्छे मेडिकल कॉलेज में एडमिशन होता है. आप नीट के अलावा राज्य स्तर या कॉलेज स्तर की मेडिकल एक्जाम में भाग लेकर भी कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं.

BDS क्या होता है? (What is BDS?)

बीडीएस आपने कई डॉक्टर की डिग्री के स्थान पर एमबीबीएस की जगह बीडीएस लिखा देखा होगा. दरअसल जो दाँत के डॉक्टर होते हैं या बनना चाहते हैं उन्हें BDS कोर्स करना पड़ता है. ये 4 साल का डिग्री कोर्स है. इसके अलावा इसमें 1 साल की इंटर्नशिप भी होती है जिसमें आपको किसी अनुभवी डॉक्टर के अधीन डेंटिस्ट्री की प्रेक्टिस करनी होती है. बीडीएस का फुल फॉर्म बैचलर ऑफ डेंटल सर्जन होता है. मतलब ये दांतों के सर्जन होते हैं.

बीडीएस कोर्स फीस (BDS Course Fees)

बीडीएस की कॉलेज फीस कॉलेज पर ही निर्भर करती है. यदि कॉलेज प्राइवेट है तो उसमें ज्यादा फीस लगेगी यदि सरकारी है तो कम फीस लगेगी. बीडीएस में प्राइवेट कॉलेज की बात करें तो इनकी फीस 3 लाख से 5 लाख तक होती है. वहीं सरकारी कॉलेज की बात करें तो यहाँ की फीस 2 लाख रुपये तक होती है.

डेन्टिस्ट करियर स्कोप (BDS Career Scope)

डॉक्टर बनने की राह में अधिकतर लोग एमबीबीएस को चुनते हैं क्योंकि उसमें काफी ज्यादा कमाई के स्कोप हैं. डेन्टिस्ट में भी स्कोप कम नहीं है. आप डेन्टिस्ट कोर्स को पूरा करने के बाद किसी हॉस्पिटल या क्लीनिक में डेन्टिस्ट बनकर प्रेक्टिस कर सकते हैं. लोगों में नाम कमा सकते हैं. इसके बाद आपके अनुभव बढ़ने के साथ आपकी सैलरी बढ़ती रहती है.

इसमें करियर के रूप में आप किसी हॉस्पिटल या क्लीनिक को जॉइन कर सकते हैं.

आप खुद का क्लीनिक खोल सकते हैं.

आप किसी सरकारी अस्पताल में डेन्टिस्ट बन सकते हैं.

डेन्टिस्ट की सैलरी (Dentist Salary)

एक डेन्टिस्ट बनकर अनुभव होने पर आप काफी कमाई कर सकते हैं. शुरुवात में आपको हर फील्ड की तरह इसमें भी कम पैसे ही मिलते हैं. इसमें आप शुरू में 15 से 30 हजार रुपये प्रतिमाह तक कमा सकते हैं लेकिन इसके बाद जैसे-जैसे आपका अनुभव बढ़ता जाएगा लोग आपको पहचानने लगेंगे वैसे-वैसे आपकी कमाई भी बढ़ती जाएगी. आप चाहे तो खुद का क्लीनिक या हॉस्पिटल खोलकर अच्छी कमाई भी कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें :

Indian Railway TC: टिकट चैकर कैसे बनें, रेल्वे टीसी की योग्यता और सैलरी

Stenographer : स्टेनोग्राफर क्या है, कैसे बने, स्टेनोग्राफर की सैलरी ?

Civil Judge : सिविल जज कैसे बनते हैं, जज की सैलरी कितनी होती है?

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!