डिजिटल मार्केटिंग में करियर कैसे बनाएं, सैलरी कितनी मिलती है?

जब आप अपने बिजनेस को ऑनलाइन ले जाते हैं या अपने प्रॉडक्ट को ऑनलाइन ले सेल करते हैं तो आपको डिजिटल मार्केटिंग की जरूरत पड़ती है.

आजकल बिजनेस दो जगह पर किया जाता है. एक तो होता है रियल दुनिया में और दूसरा होता है वर्चुअल दुनिया में जिसे हम डिजिटल दुनिया कहते हैं. आपने भी देखा होगा की कई सारे बिजनेस डिजिटल या ऑनलाइन हो गए हैं. कई लोग जो अपने बिजनेस को ऑनलाइन ले जा रहे हैं उन्होने Digital Marketing का नाम भी सुना होगा. तब उनके दिमाग में आया होगा की डिजिटल मार्केटिंग क्या होती है? (What is digital marketing) डिजिटल मार्केटिंग में कौन से कोर्स होते हैं? (Digital marketing courses) अगर आप इस तरह के सवाल सोच रहे हैं तो आपको डिजिटल मार्केटिंग से जुड़े कई सवाल आपको मिल जाएंगे.

डिजिटल मार्केटिंग क्या है? (What is meant by digital marketing?)

Digital Marketing को समझने से पहले हम ये जान लें की मार्केटिंग क्या होती है. मार्केटिंग एक ऐसा तरीका है जिससे हम अपने प्रॉडक्ट को या अपने बिजनेस को लोगों के सामने ले जाकर इस तरीके से प्रस्तुत करते हैं की लोग उसे खरीदें. अब इसके लिए हम टीवी में विज्ञापन चलवा सकते हैं, पेपर में विज्ञापन छपवा सकते हैं या फिर एक बड़ा सा बैनर बनवाकर कहीं लगवा सकते हैं. इस तरह एक वास्तविक दुनिया में आपकी मार्केटिंग हो जाती है और लोग आपके प्रॉडक्ट को या बिजनेस को जानने लगते हैं.

अब बात करते हैं डिजिटल मार्केटिंग की. जब आप अपने बिजनेस को ऑनलाइन ले जाते हैं या अपने प्रॉडक्ट को ऑनलाइन ले सेल करते हैं तो आपको डिजिटल मार्केटिंग की जरूरत पड़ती है. डिजिटल दुनिया यानि इन्टरनेट एक बहुत बड़ा जाल है. इसमें हमें लोगों तक अपने प्रॉडक्ट को पहुंचाना पड़ता है, उनके सामने लाना पड़ता है, तब जाकर यदि उनका मन हुआ तो वो खरीद लेंगे और नहीं हुआ तो देख कर आगे बड़ जाएंगे. डिजिटल मार्केटिंग में आपके बिजनेस को लोगों तक किन-किन तरीकों से पहुंचाना है यही सब सिखाया जाता है. आप चाहे तो खुद इसे सीख सकते हैं या फिर अपने बिजनेस के लिए किसी एक्सपर्ट डिजिटल मार्केटिंग वाले व्यक्ति को हायर कर सकते हैं.

डिजिटल मार्केटिंग में करियर कैसे बनाएं? (How to make career in Digital marketing?)

डिजिटल मार्केटिंग में आप खुद भी करियर बना सकते हैं. पिछले कुछ सालों में इनकी काफी डिमांड बढ़ी है. इसकी वजह है की अब अधिकतर लोग अपने बिजनेस को ऑनलाइन ले जा रहे हैं और हर व्यक्ति अपनी सेल को अपने बिजनेस को बढ़ाना चाहता है. ऐसे में आप भी डिजिटल मार्केटिंग के कोर्स को करके अपना करियर बना सकते हैं. डिजिटल मार्केटिंग में करियर बनाने के लिए आपकी रुचि दो चीजों में होना बहुत जरूरी है. एक तो इन्टरनेट और दूसरी मार्केटिंग. इसके अलावा यदि आप एक अच्छे ग्राफिक डिज़ाइनर हैं तो और भी अच्छी बात है.

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार (What are the types of digital marketing?)

डिजिटल मार्केटिंग में करियर बनाने से पहले आपको जान लेना चाहिए की डिजिटल मार्केटिंग किस तरह से होती है. या कितने प्रकार से होती है.

सोशल मीडिया मार्केटिंग (What is Social Media marketing?)

आज के समय में सबसे ज्यादा लोग सोशल मीडिया पर ही एक्टिव होते हैं. अगर भारत की बात की जाए तो भारत में लोग फेसबुक, व्हाट्सएप, यूट्यूब, इंस्टाग्राम आदि पर सबसे ज्यादा एक्टिव होते हैं. डिजिटल मार्केटिंग में इसी चीज का फायदा उठाया जाता है और इन प्लेटफॉर्म पर मौजूद लोगों को आप फोटो और विडियो के माध्यम से अपने बिजनेस के बारे में बताया जाता है.

कंटेन्ट मार्केटिंग (What is Content Marketing?)

डिजिटल मार्केटिंग में दूसरा प्रकार है कंटेन्ट मार्केटिंग. इसका काफी उपयोग आजकल किया जा रहा है लेकिन इसे करने के लिए आपको सोशल मीडिया मार्केटिंग पहले करनी पड़ेगी. इस तरीके में आप अपने बिजनेस के बारे में इन्टरनेट पर मौजूद वेबसाइट पर आर्टिक्ल बनवा कर लगवा सकते हैं. इसके कारण वेबसाइट पर आने वाले लोग आपके कंटैंट को पढ़ते हैं और आपके बिजनेस के बारे में समझते हैं.

सर्च इंजन मार्केटिंग (What is Search Engine Marketing?)

सर्च इंजन मार्केटिंग एक बहुत ही अच्छा तरीका है अपने बिजनेस को सीधे तौर पर बढ़ाने का॰ यदि आप ये तरीका सीखते हैं तो आप कम खर्च में अपना बिजनेस खुद ही बढ़ा सकते हैं. इसमें आपको सीखना होता है की आप गूगल पर आए यूजर्स को सीधे अपनी वेबसाइट या अपने बिजनेस तक कैसे लाएँ. अगर गूगल से सीधे यूजर आपके पास आता है तो आपके लिए बहुत ही अच्छी बात होती है.

ई मेल मार्केटिंग (What is Email Marketing?)

डिजिटल मार्केटिंग का एक प्रकार ईमेल मार्केटिंग भी है. हालांकि कई बिजनेस के लिए कारगर है और कई के लिए नहीं है. ईमेल मार्केटिंग का मतलब होता है की आप ईमेल के जरिये लोगों को अपने बिजनेस अपने ऑफर के बारे में बताते हैं.

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स (What is the best digital marketing courses?)

एसईओ (What is SEO?)

SEO का पूरा नाम Search Engine Optimization होता है. डिजिटल मार्केटिंग के लिए ये कोर्स काफी ज्यादा पॉपुलर है. आपने इसका नाम भी सुना होगा. इसके तहत इस बात की जांच की जाती है कि किसी भी वेब पेज को गूगल, याहू जैसे सर्च इंजन के जरिये कितना सर्च किया जाता है और इसे कैसे बढ़ाया जा सकता है. इसके जरिये आप अपनी वेबसाइट को गूगल की टॉप रैंक में ला सकते हैं. ये आपकी वेबसाइट का नाम और कमाई दोनों बढ़ाने में काफी मदद करता है. इसमें कीवर्ड रिसर्च, वेबसाइट डिज़ाइन, इंटरलिंकिंग आदि पर ज्यादा फोकस किया जाता है.

एसएमएम (What is SMM?)

इसका पूरा नाम सोशल मीडिया मार्केटिंग (Social Media Marketing) होता है. किसी भी वेबसाइट को जल्दी पॉपुलर बनाने का ये सबसे लोकप्रिय तरीका है और इसके लिए कई संस्थान कोर्स करवाते हैं. इस कोर्स में आपको सिखाया जाता है कि कैसे आप सोशल मीडिया का इस्तेमाल करके किसी बिजनेस को ऊंचाइयों पर ले जा सकते हैं. इसमें आप सोशल मीडिया पर कंटैंट, इमेज, विडियो आदि के माध्यम से अपने बिजनेस की जानकारी देकर लोगों का रुझान अपने बिजनेस की ओर बढ़ा सकते हैं.

मोबाइल मार्केटिंग (What is Mobile Marketing?)

स्मार्टफोन के आने से अधिकतर लोग इन्टरनेट का इस्तेमाल सिर्फ मोबाइल पर ही करते हैं. आपको डेस्कटॉप या लैपटाप से ज्यादा यूजर्स मोबाइल पर मिलते हैं ऐसे में स्मार्टफोन में मौजूद एप मार्केटिंग का एक बड़ा जरिया है. इसमें आपको सिखाया जाता है कि आप कैसे मोबाइल का इस्तेमाल करके अपने बिजनेस को बढ़ा सकते हैं. आपने कई एप पर दूसरे एप का विज्ञापन देखा होगा. ये सब मोबाइल मार्केटिंग का ही उदाहरण है.

डिजिटल मार्केटिंग में जॉब प्रोफ़ाइल (Job Profiles in Digital Marketing)

डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करने के बाद आप अपना करियर ऊंचाइयों पर ले जा सकते हैं लेकिन ये इस बात पर निर्भर करता है कि आपमें कितना टैलेंट है. आप इन्टरनेट यूजर्स को कितना समझते हैं ये आपके लिए जानना बहुत जरूरी है. आप इसमें कई जॉब प्रोफ़ाइल पा सकते हैं जैसे कंटैंट मार्केटर, कंटैंट राइटर, पीपीसी मैनेजर, एसईओ एग्जीक्यूटिव, एसईएम मैनेजर, वेब डिज़ाइनर, आदि. आप चाहे तो अनुभव के लिए कुछ सालों तक नौकरी कर सकते हैं. जब आप इस फील्ड के एक्सपर्ट बन जाएँ तो आप अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सकते हैं.

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स फीस (Digital Marketing Course Fees)

डिजिटल मार्केटिंग में छोटे से लेकर बड़े कोर्स तक होते हैं. अधिकतर लोग सर्टिफिकेट कोर्स करना पसंद करते हैं. सर्टिफिकेट कोर्स आमतौर पर 10 हजार से 50 हजार रुपये के बीच में हो जाता है. लेकिन अगर आप डिप्लोमा या डिग्री कोर्स करना चाहते हैं तो इसकी फीस 40 हजार से लेकर 1 लाख तक हो सकती है.

डिजिटल मार्केटिंग सैलरी (Digital Marketing Salary)

डिजिटल मार्केटिंग में यदि आपने कोर्स किया है और आप फ्रेशर हैं तो आप शुरुवाती तौर पर 5 से 10 हजार रुपये तक पाते हैं, फिर जैसे-जैसे आपका अनुभव बढ़ता जाता है आपकी सैलरी बढ़ती जाती है. जब आप एक्सपर्ट हो जाते हैं तो आप खुद ही डिजिटल मार्केटिंग एजेंसी खोलकर दूसरी कंपनियों को अपनी सर्विस दे सकते हैं और इसके लिए पैसे ले सकते हैं. अगर आप खुद की एजेंसी खोलते हैं तो आप लाखों रुपये कमा सकते हैं.

यह भी पढ़ें :

X Ray Technician कैसे बनें, Radiology में करियर कैसे बनाएँ?

12वी के बाद Bio Student कौन सा कोर्स ले सकते हैं?

NIELIT O Level Certificate : ओ लेवल कोर्स क्या है, ओ लेवल कोर्स कैसे करें?

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!