चश्मे की दुकान कैसे शुरू करें, चश्मे की दुकान का लाइसेंस?

चश्मे की दुकान शुरू (Optical Shop in hindi) करने के लिए आपके पास अच्छी जगह और निवेश करने के लिए पैसा होना चाहिए. आमतौर पर आपके पास एक ऐसी जगह पर दुकान हो जो मार्केट में हो

कंप्यूटर और स्मार्टफोन का उपयोग हम तेजी से करने लगे हैं. इनके उपयोग का सीधा असर हमारी आँखों पर होता है. जिसके कारण चश्मा लगाने वाले लोगों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है. ऐसे में आप भी चश्मे की दुकान शुरू (Optical Shop) करके अच्छी कमाई कर सकते हैं. चश्मे की दुकान आप कैसे शुरू कर सकते हैं और इनके लिए किस तरह के लाइसेंस की जरूरत होती है. ये सारी जानकारी आपको इस लेख में मिलेगी.

चश्मे की दुकान कैसे शुरू करें? (How to start an optical shop?)

चश्मे की दुकान शुरू (Optical Shop in hindi) करने के लिए आपके पास अच्छी जगह और निवेश करने के लिए पैसा होना चाहिए. आमतौर पर आपके पास एक ऐसी जगह पर दुकान हो जो मार्केट में हो, जहां लोगों का आना-जाना ज्यादा रहता हो. हो सके तो आप किसी आँखों के क्लीनिक के पास भी चश्मे की दुकान खोल सकते हैं. दुकान का साइज थोड़ा बड़ा होना चाहिए कम से कम 150-200 स्क्वेयर फीट तो हो ही.

चश्मे की दुकान की लागत (Cost of optical shop)

चश्मे की दुकान शुरू करने के लिए आपको निवेश करने की जरूरत होती है. इसमें निवेश कितना लगेगा ये पूरी तरह आप पर निर्भर करता है कि आप अपनी दुकान को कहाँ लेना चाह रहे हैं और उसमें किस तरह की सुविधा देने वाले हैं. इसमें आपको दुकान के फर्नीचर, आँखों की जांच के लिए उपकरण, चश्मे की फ्रेम, ग्लास आदि के लिए खर्च करना होता है. अनुमान के मुताबिक आपके ये सभी काम 8 से 12 लाख रुपये में हो जाते हैं.

चश्मे की दुकान का लाइसेन्स (License for optical shop)

चश्मे की दुकान के लिए स्वास्थ्य विभाग या किसी अस्पताल से आपको लाइसेंस लेने की जरूरत नहीं होती है. लेकिन आपको अपनी दुकान को शॉप एंड एस्टेब्लिशमेंट एक्ट के तहत रजिस्टर कराना होगा. इसे आप अपने शहर के स्थानीय प्राधिकरण जैसे नगर निगम, नगर पालिका आदि के माध्यम से पंजीकृत करा सकते हैं. दुकान खोलने के लिए आपको सिर्फ इसी लाइसेंस की जरूरत होती है लेकिन यदि आप आंखों की जांच करते हैं तो आपको एक ऑप्टोमेट्रिस्ट नियुक्त करना होता है. जिसके पास ऑप्टोमेट्री से संबंधित डिप्लोमा हो.

चश्मे की दुकान के लिए उपकरण (Equipment for optical shop)

चश्मे की दुकान को शुरू करने के लिए आपके पास लेंसोमीटर (Lensometer) नाम का यंत्र होना बेहद जरूरी है. उसी की मदद से ऑप्टोमेट्रिस्ट ऑप्टिकल लेंस की पावर को माप पाएगा. अगर आप इसे खरीद रहे हैं तो ऑटोमेटिक लेंसोमीटर खरीदें. इसके अलावा आपको ट्रायल फ्रेम, ट्रायल बॉक्स, ऑटोमेटिक रेफ्रेक्टोमीटर, ऑटोमेटिक लेंसोमीटर, प्रोजेक्ट चार्ट आदि भी खरीदना होता है.

इंटीरियर का काम करवाएँ (Interior work for optical shop)

चश्मे की दुकान एक ऐसी दुकान है जिसमें इंटीरियर की खास आवश्यकता होती है. आपको अपनी दुकान में इंटीरियर का ऐसा काम करवाना चाहिए जिसे देखकर ग्राहक बाहर से ही आकर्षित हो. आपको दुकान में साफ-सफाई का भी खास ध्यान रखना होता है. ग्राहकों के बैठने और उनके परीक्षण का इंतजाम भी आपको करना होगा. क्योंकि मामला उनकी आँखों से जुड़ा होता है.

चश्मे की दुकान को शुरू करने के लिए आपको चश्मे की फ्रेम और उनके ग्लास के रेट के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए. यदि कुछ महीने आपने चश्मे की दुकान पर काम किया है तो आपको इसकी अच्छी नॉलेज हो सकती है. अगर आप चश्मे की दुकान शुरू करते हैं तो इसमें आप काफी अच्छी कमाई कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें :

घरेलू महिलाओं की दुनिया बदल रहे बिजनेस

Highest Paying Jobs : भारत में टॉप-5 अच्छी सैलरी वाली नौकरी कौन सी हैं?

Coding क्या है, Coding में करियर कैसे बनाएँ?

error: Content is protected !!