Health insurance: किस्तों में कैसे भरें स्वास्थ्य बीमा की प्रीमियम?

भारत में स्वास्थ्य बीमा (Health insurance) को लोग पैसों की बर्बादी ज्यादा मानते हैं. यही वजह हैं कि कम लोग ही स्वास्थ्य बीमा (Health insurance) की पॉलिसी (Policy) लेना पसंद करते हैं. हालांकि कई बार लोग बीमा (Insurance) की राशि एकमुश्त अदा न करने की वजह से बीमा पॉलिसी नहीं ले पाते हैं. लेकिन यदि आप प्रीमियम की राशि एक साथ भरने की वजह से बीमा पॉलिसी नहीं ले पा रहे हैं तो चिंता मत कीजिये.

0 42

भारत में स्वास्थ्य बीमा (Health insurance) को लोग पैसों की बर्बादी ज्यादा मानते हैं. यही वजह हैं कि कम लोग ही स्वास्थ्य बीमा (Health insurance) की पॉलिसी (Policy) लेना पसंद करते हैं. हालांकि कई बार लोग बीमा (Insurance) की राशि एकमुश्त अदा न करने की वजह से बीमा पॉलिसी नहीं ले पाते हैं. लेकिन यदि आप प्रीमियम की राशि एक साथ भरने की वजह से बीमा पॉलिसी नहीं ले पा रहे हैं तो चिंता मत कीजिये.

दरअसल, हाल ही में इंश्योरेंस रेग्यूलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (IRDA) ने स्वास्थ्य बीमा लेने वाले ग्राहकों को मासिक आधार पर प्रीमियम का भुगतान करने का आदेश जारी किया है. इससे ग्राहकों को अपनी पॉलिसी की प्रीमियम भरने में आसानी होगी. वहीं लोगों को स्वास्थ्य बीमा लेने में भी सहुलियत होगी. एक सर्कुलर करके IRDA ने यह जानकारी दी है.

IRDA ने अपने नियमों में बदलाव करते हुए एक आदेश जारी किया है. इस आदेश के मुताबिक स्वास्थ्य बीमा लेने वाले ग्राहक अपने प्रीमियम की राशि मासिक किस्तों में अदा कर सकेंगे. यह आदेश स्वास्थ्य बीमा के अलावा उन सामान्य बीमा कंपनियों पर लागू होगा, जो इस तरह का उत्पाद बेचती है. स्वास्थ्य बीमा खरीदने वाले ग्राहकों के लिए यह बड़ा तोहफा माना जा रहा है.

ऐसे दे सकेंगे प्रीमियम की राशि
किसी भी बीमा कम्पनी से स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी लेने वाले ग्राहकों को यह सुविधा मिलेगी. इस आदेशानुसार, स्वास्थ्य बीमा लेने वाले ग्राहक अपनी  प्रीमियम को मासिक, तिमाही, छमाही और वार्षिक आधार पर भर सकेंगे. ग्राहक अपने अनुसार प्रीमियम भरने का समय चुन सकते हैं.

इसके साथ ही पॉलिसी डॉक्यूमेंट में भी बीमा कम्पनियों को छोटे बदलाव करने का आदेश दिया गया है. इससे बीमाधारकों को अपनी पॉलिसी की सही जानकारी मिल सकेगी. हालांकि, IRDA ने साफ किया कि इससे बीमा पॉलिसी कवरेज के नियम और शर्तों में कोई बदलाव नहीं होगा.

65 पार भी ले सकेंगे पॉलिसी
8 पेज के IRDA के इस सर्कुलर के मुताबिक एक और अहम बदलाव किया गया है. जो कि ग्राहकों की उम्र को लेकर है. इसके मुताबिक, 65 साल से अधिक उम्र के लोग भी बीमा पॉलिसी ले सकेंगे. जो कि बड़ी हिदायत मानी जा रही है. हालांकि ग्राहकों को यह छूट देने के लिए बीमा कम्पनी को IRDA से अनुमति लेनी होगी.

बीमा राशि बढ़ा/घटा सकेगी
IRDA ने बीमा कंपनियों को पॉलिसी की राशि घटाने और बढ़ाने की भी छूट दी है.  इस नियमानुसार, बीमा कंपनियां पॉलिसी की प्रीमियम राशि को 15 फीसदी घटा या बढ़ा सकेगी. पॉलिसी ग्राहकों को एक और बढ़ा फायदा देते हुए IRDA ने आदेश दिया कि बीमा कम्पनियां अपनी किसी पॉलिसी में गंभीर बीमारियों को जुड़वां सकेंगे, जो कि बीमा पॉलिसी में शामिल नहीं है.

cancer insurance policy: क्या है कैंसर इंश्योरेंस प्लान? कितनी फायदेमंद है कैंसर बीमा योजना?

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!