कॉमर्स फील्ड में है रुचि तो पकड़ें सीए की राह

12वीं के बाद कॉमर्स फील्ड में करियर बनाना चाहते हैं तो सीए यानी चार्टर्ड अकाउंटेंट की पढ़ाई लीजिए. प्रतिष्ठा के साथ ही यह करियर आपको पैसे भी दिलाएगा. आप कहां से और कैसे सीए की पढ़ाई और तैयारी कर सकते हैं. यह जानना भी ज़रूरी है. 

0 368

12वीं के बाद कॉमर्स फील्ड में करियर बनाना चाहते हैं तो सीए यानी चार्टर्ड अकाउंटेंट की पढ़ाई लीजिए. प्रतिष्ठा के साथ ही यह करियर आपको पैसे भी दिलाएगा. आप कहां से और कैसे सीए की पढ़ाई और तैयारी कर सकते हैं. यह जानना भी ज़रूरी है. 

जान लें क्या है Chartered Accountant

सम्बंधित लेख - पढ़िए

सीए का काम वित्तीय हिसाब-किताब रखने के साथ ही लोगों को फाइनेंसियल गाइड करना, टेक्स, बिजनेस ऑकाउंट आदि की एडवाइज देने का होता है. सीए कोर्स को करने के लिए आपको प्रवेश परीक्षा देनी होती है। जिसके बाद ही आप इस कोर्स को कर सकते हैं.

12वीं के बाद करें तैयारी (ca Preparation after 12th)

देश के किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कॉमर्स से 12वीं पास कर स्‍टूडेंट्स सीए में करियर बना सकता है. कुछ मामलों में स्‍टूडेंट्स अपनी शुरुआत ग्रेजुएशन के बाद भी करते हैं. हालांकि प्रोफेशनल्स मानते हैं कि सीए कोर्स की लंबी अवधि होती है और इसके लिए 12वीं पास करने के बाद ही एग्जाम देना ठीक रहता है. 

कहां से कैसे करें कोर्स 

CA का कोर्स करने वालों के लिए तीन चरणों में एग्जाम कंडक्ट किया जाता है. जिसमें पहला सीपीटी (Common Proficiency Test), दूसरा आईपीसीसी (Integrated Professional Competency Course) तीसरा फाइनल राउंड सीए (Chartered Accountant) होता है. सीए के एग्जाम गवर्निंग बॉडी द इंस्टिट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट ऑफ इंडिया (ICAI) कंडक्ट कराती है.

सीए एग्जाम के तीन चरण (Three steps of CA Exam) 

सीए की शुरूआत कॉमन प्रोफिसिएंसी टेस्ट यानी सीपीटी से होती है. इसमें अकाउंटिंग, मर्केटाइल-लॉ, जनरल इकोनॉमिक्स व क्वांटिटेटिव एप्टीटयूड को शामिल किया जाता है. इटीग्रेटेड प्रोफेशनल कंपीटेंस कोर्स (IPCC) इसका दूसरा चरण है.

दूसरे चरण में अकाउंटिंग, बिजनेस और कंपनी लॉ, एथिक्स एंड कम्युनिकेशन, कास्ट अकाउंटिंग और फाइनेंशियल मैनेजमेंट, टैक्सेशन, एडवांस अकाउंटिंग आदि सब्जेक्ट के बारे में पूछा जाता है. इसको पास कर स्टूडेंट्स को तीसरे चरण के लिए नौ महीने का टाइम तैयारी के लिए मिलता है. 

जब आप आईपीसीसी एग्जाम क्लियर कर लेते हैं तो किसी सीए के अंडर में इंटर्न के रूप में काम करना होता है. फाइनल एग्जाम के लिए एलिजिबल होने से पहले स्टूडेंट को तीन साल तक यह इंटर्नशिप करनी होती है. इंस्टिट्यूट के फाइनल एग्जाम के बाद इंडस्ट्री में क्वॉलिफाइड चार्टर्ड अकाउंटेंट (सीए) के रूप में जॉब मिल जाती है.

देश-विदेश की कंपनियों में ढेरों ऑपर्च्युनिटी

देश-विदेश की कई कंपनियों में आपको सीए करने के बाद फाइनेंस अकाउंट और टैक्स डिपार्टमेंट में ढेरों जॉब ऑपर्च्युनिटी हैं. आप फाइनेंस मैनेजर, अकाउंट मैनेजर, फाइनेंशियल बिजनेस एनालिस्ट, ऑडिटिंगइंटरनल ऑडिटिंग, मैनेजिंग डायरेक्टर, सीईओ, फाइनेंस डायरेक्टर, फाइनेंशियल कंट्रोलर, चीफ अकाउंटेंट, चीफ इंटरनल ऑडिटर जैसी पोजिशन पर काम कर सकते हैं.

(नोट : यह लेख आपकी जागरूकता, सतर्कता और समझ बढ़ाने के लिए साझा किया गया है. अधिक जानकारी के लिए किसी करियर काउंसिल की सलाह जरूर लें.)