किसे करवाना चाहिए कोरोना टेस्ट, जानिए ICMR की नई गाइडलाइन?

भारत में कोरोना तेजी से रफ्तार पकड़ रहा है. जिसके चलते यूएन ने भी भारत को चेतावनी दी है कि समय रहते पुख्ता इंतजाम किए जाए. 17 जनवरी 2022 तक भारत में 16 लाख से भी ज्यादा एक्टिव केस हैं.

भारत में कोरोना तेजी से रफ्तार पकड़ रहा है. हर दिन काफी सारे लोग कोरोना से संक्रमित (Corona Positive in India) हो रहे हैं. वहीं काफी सारे लोग कोरोना से ठीक भी हो रहे हैं. ऐसे में कोरोना टेस्ट (Covid Test)  को लेकर काफी अफवाहे सामने आ रही हैं. आईसीएमआर ने अपनी गाइडलाइन (ICMR Guideline) में ये तय किया है कि किस व्यक्ति को कोरोना टेस्ट करवाना चाहिए और किसे नहीं करवाना चाहिए.

भारत में कोरोना की स्थिति (Corona case in India) 

भारत में कोरोना तेजी से रफ्तार पकड़ रहा है. जिसके चलते यूएन ने भी भारत को चेतावनी दी है कि समय रहते पुख्ता इंतजाम किए जाए. 17 जनवरी 2022 तक भारत में 16 लाख से भी ज्यादा एक्टिव केस हैं.

@mohfw

अभी तक 48 हजार से भी ज्यादा लोगों की कोरोना के कारण मौत हो चुकी है. दूसरी तरफ 1.5 अरब से भी ज्यादा लोगों को Vaccinate किया गया है.

ICMR कोरोना गाइडलाइन (ICMR Guideline in India for Corona Test) 

कोरोना टेस्ट को लेकर आईसीएमआर ने गाइडलाइन जारी की है जिसमें ये बताया गया है कि किसे कोरोना टेस्ट करवाने की जरूरत है और किसे नहीं है?

किनके लिए कोरोना टेस्ट जरूरी है? (Corona Test Required for these person) 

1) यदि किसी व्यक्ति को खांसी, बुखार, गले में खराश, स्वाद और गंध की कमी महसूस हो रही है तथा सांस फूल रही है तो उन्हें कोविड टेस्ट जरूर कराना चाहिए.

2) जो व्यक्ति 60 वर्ष की उम्र के हैं या उससे ज्यादा उम्र के हैं उन्हें कोविड टेस्ट करवाने की जरूरत है.

3) जिन लोगों को डायबिटीज़ की बीमारी है, जिन्हें हाई ब्लड प्रेशर की बीमारी या फिर पुरानी फेफड़े, गुर्दे की बीमारी है उन्हें कोरोना टेस्ट करवाने की जरूरत है.

4) देश से बाहर किसी दूसरे देश में ट्रैवल करने वाले लोगों को कोरोना टेस्ट करवाने की जरूरत है.

5) यदि डॉक्टर आपको कोरोना टेस्ट करवाने की सलाह दे रहे हैं तो आपको कोरोना टेस्ट करवाने की जरूरत है.

किन लोगों के लिए जरूरी नहीं कोरोना टेस्ट? (Corona test not required for these person) 

आईसीएमआर की नई गाइडलाइन में ये भी बताया गया है कि किन लोगों के लिए कोरोना टेस्ट जरूरी नहीं है.

1) कोई व्यक्ति जो कोरोना मरीज के संपर्क में आया है और उसमें कोई ज्यादा जोखिम वाले लक्षण नहीं दिख रहे हैं तो उन्हें कोरोना टेस्ट करवाने की जरूरत नहीं है. लेकिन यदि आपकी उम्र 60 वर्ष से अधिक है तो आपको जरूरत है.

2) सामुदायिक स्थानों पर रह रहे लोग जिनमें कोविड के लक्षण नहीं है उन्हें टेस्ट की जरूरत नहीं है.

3) जो व्यक्ति होम आइसोलेशन की गाइडलाइन के आधार पर डिस्चार्ज हो चुके हैं उन्हें टेस्ट करवाने की जरूरत नहीं है.

4) जो लोग कोविड-19 केंद्र से भर्ती होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं उन्हें भी कोरोना टेस्ट करवाने की जरूरत नहीं है.

5) भारत के एक राज्य से दूसरे राज्य में यात्रा करनेके लिए भी कोविड टेस्ट करवाने की जरूरत नहीं है.

6) किसी व्यक्ति को कोरोना के लक्षण महसूस हो रहे हैं लेकिन घर पर उसकी रिपोर्ट नेगीटिव आई है तो उसे भी कोविड टेस्ट करवाने की जरूरत है.

7) गर्भवती महिलाएं जिनमें कोविड के लक्षण नजर नहीं आ रहे हैं उनका कोविड टेस्ट नहीं किया जाना है.

8) अस्पताल में भर्ती मरीजों का हफ्ते में एक बार से ज्यादा टेस्ट नहीं होना चाहिए.

कोरोना को लेकर जरा भी लापरवाही न बरतें. यदि आपको कोरोना के लक्षण महसूस हो रहे हैं तो कोविड टेस्ट जरूर कराएं. इसके बाद जरूरी इलाज को भी कराएं ताकि आप कोरोना को हरा सकें.

यह भी पढ़ें :

Omicron virus in India: क्या कोरोना की तीसरी लहर को रोका जा सकता है?

Omicron India: कितना खतरनाक है कोरोना का ओमिक्रॉन वैरिएंट?

Omicron पर यूएन की चेतावनी, भारत में आ सकती है तबाही, 24 घंटे में 2.7 लाख केस

ओमिक्रोन के इन लक्षणों को न करें नजरंदाज, अपनाएं ये उपाय

error: Content is protected !!