Is Paytm safe and secure: कितना सुरक्षित है पेटीएम? कैसे बचें ऑनलाइन धोखाधड़ी से?

इन दिनों कई लोग शॉपिंग, बिल पेमेंट, रिचार्ज सभी के लिए Paytm का यूज करते हैं. ऐसे में जरूरी हो जाता है कि बहुत सावधानी बरतें. Paytm फ्रॉड के बारे में आपने सुना होगा. डिजिटल पेमेंट में छोटी सी भूल भी हजारों रुपए का नुकसान करवा सकती है. Tech Expert आकाश उपाध्याय से जानें - कितना सुरक्षित है Paytm? कैसे बचें online धोखाधड़ी से?

0 1,648

2016 में हुई नोटबंदी के बाद से इंडिया में डिजिटल ट्रांजेक्शन बढ़ा है. आज हर व्यक्ति डिजिटल एप और नेट बैंकिंग से ऑनलाइन पैसों का लेनदेन कर रहा है. पैसे भेजने के लिए इन दिनों कई तरह की एप भी हैं. BHIM, Rupay और Paytm जैसी Applicaion का यूज करोड़ों लोग कर रहे हैं.

यदि आप शॉपिंग, बिल पेमेंट, रिचार्ज सभी के लिए Paytm का यूज करते हैं तो आपको बहुत सावधानी बरतने की जरूरत है. दरअसल, paytm wallet frauds के बारे में आपने सुना होगा. डिजिटल पेमेंट में छोटी सी भूल भी आपको हजारों रुपए का नुकसान करवा सकती है.

सम्बंधित लेख - पढ़िए

Paytm OTP किसी से शेयर ना करें (don’t share payment one time password)

OTP न शेयर करें- ऑनलाइन ट्रांजेक्शन में OTP किसी से शेयर ना करें. चाहे Paytm की हो या Net Banking की.पेटीएम में लॉगिन के दौरान एक नंबर आता है जिसे OTP कहते हैं. यह बहुत जरूरी नंबर है, जो आपकी पहचान जाहिर करता है. 

कई बार ठग फोन कर paytem की OTP मांगते हैं. किसी भी सूरत में आपको OTP शेयर नहीं करना है. ना फ्रेंड्स ना फैमिली मेंबर्स. जरूरी हो तभी ऐसा करें. ध्यान रखें एक बार OTP किसी से शेयर किया तो वह ना केवल एकाउंट एक्सेस करेगा बल्कि paytm में आपके अकाउंट से पैसे एड करने से लेकर वॉलेट के पैसे भी ट्रांसफर कर सकता है.

Paytm की KYC ना बताएं (paytm kyc online verification at home)

KYC की फर्जी कॉल- KYC यानी know your certificate यानी आपकी पहचान के दस्तावेज. ऑनलाइफ फ्रॉड करने वाले कॉल करके पेटीएम अकाउंट की KYC complete करने की बात कहते हैं. इसे कभी शेयर ना करें क्योंकि आपकी डिटेल्स से वह बड़ी ठगी करते हैं. यदि KYC मांगे तो तुरंत इसकी सूचना paytm customer care number पर दें.

इसके अलावा अगर आपको KYC करवानी है तो पेटीएम के ऐप पर जाकर भी आप उसे खुद अपडेट कर सकते हैं, या फिर paytm executive number पर कॉल करवा सकते हैं.

Paytm पेमेंट में रहें सावधान (paytm payment safety) 

फर्जी लिंक से बचें- Paytm में ज्यादा पैसे का ट्रांजेक्शन कर रहे हैं तो फर्जी लिंक से बचें. हैकर्स और फ्रॉड करने वाले फर्जी लिंक भेजते हैं और फिर आपको चूना लगा देते हैं. मीडिया में आई एक खबर के मुताबिक शिमला एक व्यक्ति ने यूट्यूब से पेटीएम ट्रांजेक्शन का फर्जी लिंक बनाना सीखा और हजारों की ठगी की.

ध्यान रखें पेमेंट करते वक्त उतना ही एमाउंट मैसेज में डालना होता है जितनी डिमांड की जाती है. मैसेज जब भेजा जाता है तो फर्जी है या असली इसे पहचानें. अगर कोई पेमेंट करता है, तो paytm wallet में पासबुक में जाकर अपने पैसे की जांच जरूर करें.

Paytm और online धोखाधड़ी हो तो क्या करें (how to paytm frauds complaints)

आप Paytm में धोखाधड़ी के शिकार होते हैं, तो सबसे पहले Paytm customer care number पर कॉल करें. यह नंबर आपको Paytm App के सबसे ऊपर कोने पर बने प्रोफाइल आइकन पर क्ल‍िक करें. वहां आपको Paytm ’24×7′ Paytm customer care number का विकल्प दिखेगा. क्ल‍िक के बाद यहां एक लंबी लिस्ट खुलेगी.

इस लिस्ट में थोड़ा नीचे जाकर आपको ‘प्राइवेसी एंड सिक्योरिटी’ वाला विकल्प चुनें. यहां पर क्ल‍िक करते ही कुछ नये विकल्प खुलेंगे. यहां जिस तरह की धोखाधड़ी हुई है, उसके हिसाब से विकल्प चुनें. वहां जो विंडो खुलेगी वहां जाकर पूरी घटना का ब्यौरा दे दें. ध्यान रखें यहां सारी जानकारी दें. कोई डॉक्युुमेंट्स हो तो उसे भी अटैच करें.

Paytm customer care number पर complaint कैसे करें (how to complain paytm customer care) 

ध्यान रखें जब Paytm customer care number पर complaint करते हैं, तो Paytm संदिग्ध लेन-देन Action लेता. कई मौकों पर Paytm उस transaction को ही ब्लॉक कर देता है. ऐसे में संभावना यह होती है कि पैसा वापस आ जाए. बेहतर होगा कि ज्यादा जानकारी आप Paytm customer care number से लें.

Expert Review on Paytem   (How to report Paytm and use paytm) 

किसी भी ऑनलाइन एप चाहे फिर वह Paytm ही क्यों ना हो, इसका यूज बहुत ही सावधानी से करें. ऑनलाइन ट्रांजेक्शन जितना बढ़ा है उतनी ही तेजी से फ्रॉड बढ़े हैं. आंकड़े बताते हैं कि ऑनलाइन धोखाधड़ी में पैसे लौटने की संभावना ना के बराबर रहती है.

आपकी कंप्लेंट फिर चाहे वह बैंक में ही क्यों ना हो दर्ज तो कर ली जाती है, लेकिन उस पर लिया गया एक्शन आपके पैसे लौटा ही लाएगा ये जरूरी नहीं. इंडिया में साइबर लॉ उस रूप में एक्टिव नहीं है और ना ही फैसले जल्दी आते हैं. ज्यादा पैसे के ऑनलाइन ट्रांजेक्शन से बचें और अलर्ट रहें. यदि आपकी फैमिली में मां-पिता या बुजुर्ग को आप Paytm से payment की ट्रेनिंग भी दे रहे हैं, तो ध्यान रखें, सुविधा के चक्कर में नुकसान ना हो जाए. यहां सावधानी ही बचाव है.

(आकाश उपाध्याय IT कंपनी msinfologix के फाउंडर हैं और पेशे से इंजीनियर और टेक एक्सपर्ट हैं. )