Malaria treatment : मलेरिया के लक्षण, घरेलू उपाय और परहेज

जब भी बरसात का मौसम आता है तो अपने साथ ढेर सारी बीमारियाँ साथ लाता है. इन ढेर सारी बीमारियों में जो सबसे ज्यादा परेशान करती है वो बीमारी है 'मलेरिया' (malaria). मलेरिया बारिश में तेजी से फैलने वाली बीमारी है और लोग इसकी जकड़ में जल्दी आ जाती है. मलेरिया एनोफेलीज मच्छर के काटने से होता है. इसमें सिर दर्द के साथ-साथ बार-बार बुखार भी आता है. मलेरिया को पहचानने के लिए आपको मलेरिया के लक्षण (malaria symptoms) के बारे में पता होना चाहिए.

1 418

जब भी बरसात का मौसम आता है तो अपने साथ ढेर सारी बीमारियाँ साथ लाता है. इन ढेर सारी बीमारियों में जो सबसे ज्यादा परेशान करती है वो बीमारी है ‘मलेरिया’ (malaria). मलेरिया बारिश में तेजी से फैलने वाली बीमारी है और लोग इसकी जकड़ में जल्दी आ जाती है. मलेरिया एनोफेलीज मच्छर के काटने से होता है. इसमें सिर दर्द के साथ-साथ बार-बार बुखार भी आता है. मलेरिया को पहचानने के लिए आपको मलेरिया के लक्षण (malaria symptoms) के बारे में पता होना चाहिए.

मलेरिया के लक्षण

मलेरिया मच्छर के काटने से होता है और इसे होने में कम से कम 7 दिन का समय लगता है. आप मलेरिया के लक्षण (malaria symptoms) जानकर इसे पहचान सकते हैं.

– बुखार
– सिरदर्द
– पसीना आना
– ठंड लगना
– उल्टी होना
– ठंड लगने के साथ बुखार आना
– पसीने के साथ बुखार आना
– मांसपेशियों में दर्द होना
– दस्त लगना

मलेरिया कैसे फैलता है?

मलेरिया एनोफेलीज मच्छर के काटने से (malaria causes) होता है. ये मच्छर व्यक्ति के शरीर में परजीवी छोड़ देता है जो व्यक्ति को मलेरिया संक्रमित कर देते हैं. अगर वही मच्छर एक व्यक्ति को काटने के बाद दूसरे को काट लेता है तो उस व्यक्ति को भी मलेरिया हो जाता है और इस तरह ये बहुत ही जल्दी फैल जाता है.

मलेरिया से कैसे बचें?

आप मलेरिया के होने से पहले उसके लिए बचाव (malaria prevention) कर सकते हैं और मलेरिया को फैलने से रोक सकते हैं. मलेरिया को रोकने के लिए निम्न बचाव कर सकते हैं.

– घर के आसपास गंदगी ना करें, पानी का निकास सही रखें, पानी को जमा कर ना रखें इन सभी चीजों से मच्छर पैदा होते हैं. आपको मच्छर को पनपने से रोकना है.
– बारिश में जितना हो सके घर में रहें और अपने घर में मच्छरों को पनपने से और घुसने से रोकने का इंतेजाम करें.
– मच्छरदानी या मच्छर मारने वाली चीजों का प्रयोग करें.
– ऐसे कपड़े पहने जो पूरे शरीर को ढक सके.

मलेरिया का इलाज

मलेरिया होने पर पहले लक्षणों के आधार पर देखें की आपको मलेरिया है की नहीं इसके बाद डॉक्टर को तुरंत दिखाएँ. डॉक्टर मलेरिया की गंभीरता को देखते हुए मलेरिया का इलाज (malaria treatment) दवाइयों के जरिये करेंगे. मलेरिया का इलाज दवाई के जरिये ही संभव है.

मलेरिया में परहेज

मलेरिया होने पर (malaria precautions) आपको अपने खानपान का भी ध्यान रखना पड़ता है. मलेरिया के लक्षण नजर आने पर आप कुछ खाद्य पदार्थों से परहेज जरूर करें.
– मीट या मांस
– खट्टी चीजें जैसे अचार का सेवन न करें.
– मसाले वाला भोजन न करें.
– केक, पेस्ट्री, प्रोसेस्ड फूड का सेवन न करें.
– चाय, कॉफी, शराब का सेवन न करें.

मलेरिया के घरेलू इलाज

मरेलिया के लक्षण नजर आने पर आप मलेरिया को कुछ घरेलू उपाय (malaria home remedy) के जरिये नियंत्रित कर सकते हैं.

– अदरक का सेवन करें. मलेरिया में अदरक काफी प्रभावी होता है.
– दालचीनी का सेवन करें. ये मलेरिया के लक्षण जैसे सिरदर्द, बुखार, दस्त जैसी समस्याओं से छुटकारा दिलाएगी.
– खट्टे फल जैसे संतरे, नींबू आदि का सेवन करें.
– मलेरिया के होने पर संतरे के जूस का सेवन करें ये जल्दी ठीक होने में मदद करता है.

यह भी पढ़ें :

Typhoid fever treatment : टाइफाइड बुखार के लक्षण, इलाज और परहेज

Chickenpox treatment : छोटी माता (चिकन पॉक्स) के लक्षण, बचाव और परहेज

Piles (Hemorrhoids) : बवासीर से कैसे बचें, लक्षण, इलाज और घरेलू उपाय

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!