Mushroom Farming: मशरूम की खेती कैसे करें, मशरूम खेती के लिए लोन?

विश्वभर में मशरूम की खेती (Mushroom ki kheti) हजारो वर्षों से की जा रही है और इससे मिलने वाले मुनाफे को देखते हुए भारत में भी तेजी से मशरूम की खेती करने का चलन बढ़ गया है.

भारत और दुनिया के अन्य देशों में मशरूम का उपयोग भोजन और दवाई के रूप में किया जाता है. विश्वभर में मशरूम की खेती (Mushroom ki kheti) हजारो वर्षों से की जा रही है और इससे मिलने वाले मुनाफे को देखते हुए भारत में भी तेजी से मशरूम की खेती करने का चलन बढ़ गया है. अगर आप भी मशरूम की खेती करना चाहते हैं तो इस लेख में मशरूम की खेती से जुड़े कई सवालों के जवाब आपको मिलेंगे.

मशरूम के बीज कहाँ मिलते हैं? (Mushroom Seeds in India?)

मशरूम की खेती करने के लिए आपके पास मशरूम के बीज होना चाहिए. इनके लिए सरकार भी आपकी मदद कर रही है. आप अपने जिले के कृषि विज्ञान केंद्र से मशरूम के बीज को खरीद सकते हैं. साथ ही अपने जिले के बीज की दुकान से भी इन्हें खरीद सकते हैं.

मशरूम के प्रकार (Types of Mushroom)

दुनियाभर में 10 हजार से ज्यादा प्रजाति के मशरूम हैं जो खाने योग्य हैं. लेकिन इनमें से व्यावसायिक स्तर पर 5 तरह के मशरूम की खेती की जाती है.
सफ़ेद बटन मशरूम
ऑयस्टर मशरूम
दूधिया मशरूम
पैडिस्ट्रा मशरूम
शिटाके मशरूम

भारत में ज़्यादातर सफ़ेद मशरूम की ही खेती की जाती है क्योंकि ये भारत की जलवायु के अनुकूल हैं.

मशरूम की खेती कैसे करें? (How to do mushroom farming?)

मशरूम की खेती करने के लिए आप राज्य सरकार द्वारा आयोजित ट्रेनिंग ले सकते हैं. या फिर इंटरनेट से सीख कर इसे शुरू कर सकते हैं. मशरूम की खेती करने के लिए आपको जगह की जरूरत होती है. अगर आप इसे छोटे लेवल पर शुरू करना चाहते हैं तो इसे अपने घर से या घर के आँगन से शुरू कर सकते हैं. इसमें ऐसी जगह का चुनाव करें जो ठंडी हो और जहां पर छाँव हो. मतलब वहाँ धूप सीधे न आती हो. यदि आप घर पर मशरूम की खेती करना चाहते हैं तो इस विडियो को देखकर अच्छे से समझ सकते हैं कि मशरूम की खेती किस तरह की जा सकती है.

मशरूम को कहाँ बेचें? (Market for mushroom sell?)

मशरूम की खेती के बाद इसे बेचने को लेकर समस्या रहती है. इसे खरीदने वालों में मुख्य तौर पर होटल तथा दवा कंपनियां होती हैं. लेकिन मशरूम की खेती करने से पहले आपको ये अच्छी तरह रिसर्च कर लेना चाहिए कि आप इन्हें कहाँ बेच सकते हैं. इसकी रिसर्च के लिए आप अपने जिले के कृषि विज्ञान केंद्र की मदद ले सकते हैं. इन्हें आप अपने शहर की मंडी में बेच सकते हैं लेकिन यदि वहाँ इनकी ख़रीदारी नहीं की जाती है तो आपको कृषि विज्ञान केंद्र के जरिये मशरूम को बेचने की जानकारी मिल सकती है.

मशरूम खेती के लिए लोन (Loan for mushroom farming in India)

भारत सरकार मशरूम की खेती करने पर काफी ज़ोर दे रही है और इसके लिए आर्थिक सहायता भी मुहैया करा रही है. मशरूम की खेती करने के लिए महिलाओं को अधिक प्रोत्साहित किया जा रहा है. सरकार इन्हें लागत का 50 प्रतिशत अनुदान दे रही है. अनुदान देने में बिहार सरकार काफी आगे है. मशरूम की खेती करने के लिए सरकारी अनुदान की जानकारी आपको नाबार्ड की आधिकारिक वेबसाइट https://www.nabard.org/ पर मिल सकती है.

मशरूम की खेती वर्तमान समय में फायदे की खेती बन रही है. यदि आप कम समय में कम जगह पर अच्छा पैसा कमाना चाहते हैं तो मशरूम की खेती करके अच्छी कमाई कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें :

PMKVY : खेती करने के लिए सरकार देती है 50 हजार रुपये, जानिए कैसे मिलेगा लाभ

Pearl Farming : मोती की खेती कैसे करें, मोती की खेती से कमाई?

Silk Farming : रेशम की खेती कैसे की जाती है, रेशम की खेती से कमाई?

error: Content is protected !!