Mutual fund loan : म्यूचुअल फ़ंड पर लोन कैसे मिलता है?

कई लोग हैं जो अपना पैसा म्यूचुअल फ़ंड में निवेश (mutual fund investment) करते हैं. निवेश करने के बाद कई बार हमें पैसों की जरूरत पड़ती है लेकिन म्यूचुअल फ़ंड (mutual fund) से पैसा तो तय समय के बाद ही निकाला जा सकता है. ऐसे में पैसों की जरूरत के लिए या तो आपको पर्सनल लोन (personal loan) लेना पड़ेगा या अपनी प्रॉपर्टी गिरवी रखकर लोन लेना पड़ेगा. इन सभी से एक अच्छा विकल्प है की आप म्यूचुअल फ़ंड पर ही लोन (mutual fund loan) लें. देश में कई बैंक और एनबीएफ़सी संस्थाएं हैं जो आपको म्यूचुअल फ़ंड पर लोन (mutual fund loan) देती हैं.

कई लोग हैं जो अपना पैसा म्यूचुअल फ़ंड में निवेश (mutual fund investment) करते हैं. निवेश करने के बाद कई बार हमें पैसों की जरूरत पड़ती है लेकिन म्यूचुअल फ़ंड (mutual fund) से पैसा तो तय समय के बाद ही निकाला जा सकता है. ऐसे में पैसों की जरूरत के लिए या तो आपको पर्सनल लोन (personal loan) लेना पड़ेगा या अपनी प्रॉपर्टी गिरवी रखकर लोन लेना पड़ेगा. इन सभी से एक अच्छा विकल्प है की आप म्यूचुअल फ़ंड पर ही लोन (mutual fund loan) लें. देश में कई बैंक और एनबीएफ़सी संस्थाएं हैं जो आपको म्यूचुअल फ़ंड पर लोन (mutual fund loan) देती हैं.

म्यूचुअल फ़ंड पर लोन कैसे मिलेगा? (Loan against mutual fund)

अगर आपने म्यूचुअल फ़ंड खरीदे (mutual fund purchase) हैं या उनमें पैसा लगाया है तो आप म्यूचुअल फ़ंड के बदले में लोन (loan against mutual fund) ले सकते हैं. इसके लिए आपको म्यूचुअल फ़ंड की यूनिट के बदले लोन लेने के लिए बैंक या कर्जदाता संस्था के साथ लोन एग्रीमेंट करना होता है. इसके बाद बैंक म्यूचुअल फ़ंड (mutual fund) रजिस्ट्रार से संपर्क करता है ताकि आप जिन म्यूचुअल फ़ंड यूनिट के बदले लोन (mutual fund loan) ले रहे हैं उन्हें लिन मार्क कर दिया जाए. यहां लिन मार्क (lin mark in mutual fund) करने के का मतलब ये है की जब तक आपका कर्ज पूरा नहीं होता तब तक आप म्यूचुअल फ़ंड को बेच नहीं सकते. इसका मतलब आपको तय समय में लोन चुकाना है अगर आपने नहीं चुकाया तो ये म्यूचुअल फ़ंड उस वित्तीय संस्था के हो जाएंगे जिनसे आपने लोन लिया है.

म्यूचुअल फ़ंड पर कितना लोन मिल सकता है? (how much mutual fund on loan?)

म्यूचुअल फ़ंड पर मिलने वाला लोन (mutual fund loan) आपके म्यूचुअल फ़ंड की मार्केट वैल्यू से कम ही रहता है. देखा जाए तो आप म्यूचुअल फ़ंड की नेट असेट वैल्यू से 50 प्रतिशत तक का लोन ले सकते हैं. यानि अगर आपके म्यूचुअल फ़ंड की कीमत 50 हजार रुपये ही तो आपको 25 हजार रुपये तक का लोन आसानी से मिल सकता है. म्यूचुअल फ़ंड पर मिलने वाले लोन की ब्याज दर पर्सनल लोन के मुक़ाबले कम होती है.

म्यूचुअल फ़ंड पर कौन लोन ले सकता है? (who take mutual fund loan?)

म्यूचुअल फ़ंड (mutual fund loan) पर वे व्यक्ति लोन ले सकते हैं जिनके पास म्यूचुअल फ़ंड हैं. इसके अलावा वे व्यक्ति जिनके पास म्यूचुअल फ़ंड हैं और जो भारतीय निवासी, अनिवासी भारतीय, सोलो प्रोपराइटरशिप, पार्टनरशिप फर्म, प्राइवेट ट्रस्ट, प्राइवेट लिमिटेड कंपनी या पब्लिक लिमिटेड कंपनी के मालिक है वे म्यूचुअल फ़ंड पर लोन ले सकते हैं.

आप म्यूचुअल फ़ंड पर लोन ले रहे हैं तो आपको लोन लेने की प्रक्रिया भी आसान हो जाती है क्योंकि आप सिक्योरिटी पर लोन ले रहे हैं. इसके अलावा आप चाहे तो इस लोन को जल्दी चुका कर अपने म्यूचुअल फ़ंड को फ्री करवा सकते हैं.

म्यूचुअल फ़ंड के जरिये लोन लेना आपके लिए एक बेहद अच्छा ऑप्शन है लेकिन इसके लिए जरूरी है की आपके पास म्यूचुअल फ़ंड हो. अगर आपके पास म्यूचुअल फ़ंड नहीं है तो आप इस सुविधा का लाभ नहीं ले पाएंगे. आप इसमें बैंक के नियम अनुसार 50 प्रतिशत से ज्यादा वैल्यू का भी लोन ले सकते है लेकिन ये पूरी तरह बैंक पर निर्भर करता है की वो आपको म्यूचुअल फ़ंड पर कितना लोन देना चाहती है.

यह भी पढ़ें :

Mutual Fund में निवेश को कितना सेफ मानते हैं शेयर मार्केट के एक्सपर्ट?

म्यूचुअल फंड में कैसे करें निवेश? क्या हैं इन्वेस्टमेंट के फायदे?

Sip Investment Plan: सिप क्या है? एसआईपी के जरिए कैसे होता है म्यूचुअल फंड में निवेश?

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!