PM Narendra Modi : पीएम नरेंद्र मोदी जीवनी, शिक्षा और राजनैतिक कैरियर

भारत में अधिकतर लोगों की राजनीति में रुचि होती है और जब भी राजनीति पर बोलने की बात आती है तो लोग अपना-अपना ज्ञान देने लगते हैं. भारत की राजनीति में उस समय भूचाल आया जब नरेंद्र मोदी (narendra modi biography) भारत के प्रधानमंत्री बने. इसके बाद इनकी छवि ऐसी बनी की बच्चे-बच्चे को ये पता चल गया की भारत का प्रधानमंत्री कौन है. भारत का प्रधानमंत्री बनना कोई आसान काम नहीं है. इसके लिए नरेंद्र मोदी ने कड़ा संघर्ष किया और आज भी वे देश को आगे बढ़ाने के लिए काफी मेहनत कर रहे हैं.

1 42

भारत में अधिकतर लोगों की राजनीति में रुचि होती है और जब भी राजनीति पर बोलने की बात आती है तो लोग अपना-अपना ज्ञान देने लगते हैं. भारत की राजनीति में उस समय भूचाल आया जब नरेंद्र मोदी (narendra modi biography) भारत के प्रधानमंत्री बने. इसके बाद इनकी छवि ऐसी बनी की बच्चे-बच्चे को ये पता चल गया की भारत का प्रधानमंत्री कौन है. भारत का प्रधानमंत्री बनना कोई आसान काम नहीं है. इसके लिए नरेंद्र मोदी ने कड़ा संघर्ष किया और आज भी वे देश को आगे बढ़ाने के लिए काफी मेहनत कर रहे हैं.

नरेंद्र मोदी का प्रारम्भिक जीवन

पीएम नरेंद्र मोदी आज भले ही प्रधानमंत्री हो लेकिन उनका जन्म एक गरीब घर में हुआ था जहां पर पेट भरने के लिए पूरे घर को मेहनत करना पड़ती थी. उनका जन्म 17 सितंबर 1950 को वडनगर, गुजरात (narendra modi birth) में हुआ था. उनके पिता (narendra modi father) का नाम श्री दामोदर दास मूलचंद मोदी था और उनकी (narendra modi mother) माता श्री हीरा बेन हैं. उनका बचपन काफी संघर्षों में बीता. बचपन में उन्हें पढ़ने का काफी शौक था और वे स्वामी विवेकानंद से काफी ज्यादा प्रभावित थे. बचपन में घर चलाने के लिए वे रेलवे स्टेशन पर चाय भी बेचा करते थे.

नरेंद्र मोदी की शिक्षा (Narendra modi education)

नरेंद्र मोदी के 5 भाई बहन थे. जिसमें चार भाई और एक बहन है. उनकी शुरुवाती पढ़ाई (narendra modi schooling) वडनगर के ही स्थानीय स्कूल से हुई. वहाँ पर उन्होने साल 1967 तक अपनी हायर सेकेन्डरी की पढ़ाई पूरी की. उसके बाद पारिवारिक कारण से उन्होने घर छोड़ दिया और वे भारत में अलग-अलग जगह पर आश्रम और मठों में रहते हुए भारत भ्रमण करने लगी. इस दौरान उन्होने भारत की विभिन्न संस्कृति को जाना. इस दौरान उन्होने ऋषिकेश और हिमालय जैसे स्थानों पर अपना समय बिताया और 2 साल बाद घर लौट आए.

पीएम नरेंद्र मोदी उस दौरान अपनी पढ़ाई छोड़ कर चले गए थे. वहाँ से लौटने के बाद उन्होने अपनी पढ़ाई फिर से शुरू की. साल 1978 में उन्होने अपनी उच्च शिक्षा के लिए दिल्ली यूनिवर्सिटी में दाख़िला लिया और उसके बाद अहमदाबाद की गुजरात यूनिवर्सिटी में आ गए. उन्होने राजनीति विज्ञान में स्नातक और स्नातकोत्तर किया.

नरेंद्र मोदी का राजनैतिक करियर (Narendra modi political career)

पीएम नरेंद्र मोदी पढ़ाई के दौरान वाद-विवाद में काफी ज्यादा अव्वल थे. यही वजह की आज उनके भाषण पर जनता खुश होकर तालियाँ बजाती है. पीएम नरेंद्र मोदी के राजनैतिक करियर की शुरवात की बात करें तो वे कॉलेज की पढ़ाई के समय से ही राजनीति में आ गए थे. उस दौरान वे एबीवीपी में शामिल हुए और आरएसएस के प्रचारक बने. नरेंद्र मोदी को उस समय आरएसएस में लेखन का काम सौपा गया था.

साल 1985 में वे बीजेपी में शामिल हो गए और (narendra modi gujrat politics) गुजरात की राजनीति का हिस्सा बन गए. उन्होने शुरुवात में बीजेपी के लिए जनाधार मजबूत करने का काम किया. साल 1990 में जब केंद्र में मिली जुली सरकार बनी तो उसमें नरेंद्र मोदी की काफी मेहनत थी. उस समय शंकर सिंह वाघेला गुजरात के मुख्य मंत्री हुआ करते थे. कुछ समय बाद उन्होने अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया तो केशुभाई पटेल को वहाँ का सीएम बना दिया गया.

उस समय नरेंद्र मोदी को बीजेपी ने दिल्ली बुला कर केन्द्रीय मंत्री बना दिया. 1995 में उन्हें पाँच राज्यों में पार्टी संघटन का काम दिया गया जिसे मोदी जी ने बखूबी किया. साल 1998 में उन्हें राष्ट्रीय महामंत्री संघटन सौपा गया. पीएम मोदी ने उस पद पर 2001 तक काम किया और उसके बाद उन्हें सीधे गुजरात का मुख्य मंत्री बना दिया गया.

नरेंद्र मोदी और गुजरात (narendra modi and gujarat)

नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्य मंत्री बने तो उन्होने पूरी तरह से गुजरात को बदल कर रख दिया. वे एक तुरंत एक्शन लेने वाले सीएम बने. हालांकि उनके कार्यकाल में कई ऐसी घटनाएँ भी हुई जो दिल दहला देने वाली थी जैसे दंगे. लेकिन पीएम मोदी उस समय उस विपत्ति से भी निपटे. उन्होने दंगो से हटकर अपना ध्यान गुजरात के विकास पर भी लगाया और गुजरात को एक economic state बनाया. ये पीएम मोदी की ही दें है जो गुजरात आज अन्य राज्यों से अच्छी तरक्की कर रहा है. वे साल 2001 से 2013 तक गुजरात के मुख्यमंत्री रहे. उनका प्रभाव ऐसा था की उन्हें 2013 के बाद भी उन्हें कोई हारा नहीं पाया. वे वहाँ से सीधे प्रधानमंत्री बने.

नरेंद्र मोदी का लोकसभा चुनाव (Narendra modi lok sabha election)

साल 2013 में उन्हें लोक सभा का टिकट मिला और उन्होने वाराणसी से अपना लोक सभा चुनाव लड़ा और जीत हासिल की. लोक सभा चुनाव में बीजेपी की नहीं बल्कि मोदी की लहर ऐसी चली की लोगों ने चुनाव के नतीजे घोषित होने से पहले ही नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री मान लिया था. इसके बाद उन्होने कई ऐसे काम किए जो शायद ही कोई और कर सकता था और जब फिर से लोकसभा चुनाव हुए तो पूरे देश ने बीजेपी को अपना साथ दिया और नरेंद्र मोदी फिर से प्रधानमंत्री बने.

पीएम मोदी के ऐतिहासिक कार्य (Narendra modi milestone)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने कार्यकाल में कई ऐसे काम किए जो ऐतिहासिक बन गए और जनता ने उनकी खूब प्रशंसा भी की. हालांकि ये काम ऐसे भी थे जिनसे जनता को थोड़ी बहुत दिक्कत हुई लेकिन जनता ने अपना समर्थन पीएम मोदी को दिया.

– पीएम मोदी ने देश में रखा हुआ कालाधन निकालने के लिए नोटबंदी जैसा फैसला लिया. उन्होने रातों रात 500 और 1000 रुपये के नोट बंद करवा दिये. जिससे देश में दबा कर रखी गई मुद्रा को बाहर लाया जा सके या फिर उसे चलन से बाहर किया जा सके. ये देश के अंदर से कालाधन निकालने की कोशिश थी. जिसकी आम जनता ने काफी प्रशंसा की.

– पाकिस्तान को आतंकवाद का जवाब देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक की अनुमति दी. जिसमें भारत के वीर जवानों ने पाकिस्तान को आतंकवाद का करारा जवाब दिया.

– भारत के टैक्स सिस्टम को सुधारने के लिए देश में के देश एक कर जीएसटी को लागू किया गया. जिससे ढेर सारे टैक्स से छुटकारा मिला और देश में टैक्स सिस्टम आसान हुआ.

– देश में उज्ज्वला योजना को लागू किया जिससे महिलाओं को धुएँ वाले चूल्हे से छुटकारा मिल सके. इससे देश की उन महिलाओं को भी गैस कनेक्शन मिला जो कभी गैस के सपने भी नहीं देखते है.

– पीएम मोदी ने देश में आयुष्मान भारत योजना लॉंच की जिससे की देश के हर गरीब का इलाज मुफ्त में हो सके. अगर उसे कोई बड़ी बीमारी हो तो उस पर आर्थिक बोझ न पड़े. आज इस योजना के चलते भारत के कई लोग अपना इलाज करवा रहे हैं.

– पीएम मोदी ने “प्रधानमंत्री आवास योजना” भी लॉंच की जिससे गरीब तबके के लोगों को खुद का घर मिला और जिनके घर कच्चे थे उन्हें घर बनाने के लिए पैसा मिला. इसके अलावा जिन लोगों के घर में शौचालय नहीं थे उन्हें शौचालय बनाने के लिए पैसे दिये गए.

– देश में रोजगार एक बड़ी समस्या थी इसे दूर करने के लिए पीएम मोदी ने कौशल विकास योजना शुरू की ताकि देश का युवा खुद हुनर सीख कर दूसरों को रोजगार दे सकें.

पीएम मोदी द्वारा ऐसे कई सारे काम किए गए हैं जिनके द्वारा उन्होने जनता के दिल में जगह बनाई है. वे भारत ही नहीं बल्कि दुनियाभर में लोकप्रिय नेता हैं. उनकी लोकप्रियता के बारे में आप भी अच्छी तरह वाक़िफ़ हैं.

यह भी पढ़ें :

Raksha Bandhan 2019 : कौन है पीएम मोदी की बहन, प्रधानमंत्री को राखी कौन बांधता है?

Kisan pension yojna : किसान पेंशन योजना आवेदन, प्रीमियम और लाभ

PMUY free gas connection : प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की जानकारी, मुफ्त गैस कनेक्शन कैसे लें?

1 Comment
  1. […] प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप […]

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!