ज्यादा पैसे कम पेट्रोल? कहीं पंप पर धोखा तो नहीं हो रहा?

पेट्रोल पंप पर पेट्रोल भरवाने का काम हम सभी लोग करते हैं. वे सारे लोग जो टू व्हीलर या कार चलाते हैं उनके लिए पेट्रोल पंप जाना हर हफ्ते का काम होता है. कई लोग थोड़े स्मार्ट होते हैं और इस बात का पूरा ध्यान रखते हैं कि  उन्हें उतना ही पेट्रोल मिले जितना उन्होंने पैसा दिया है.

0 991

पेट्रोल पंप पर पेट्रोल भरवाने का काम हम सभी लोग करते हैं. वे सारे लोग जो टू व्हीलर या कार चलाते हैं उनके लिए पेट्रोल पंप जाना हर हफ्ते का काम होता है. कई लोग थोड़े स्मार्ट होते हैं और इस बात का पूरा ध्यान रखते हैं कि  उन्हें उतना ही पेट्रोल मिले जितना उन्होंने पैसा दिया है. कई लोग ऐसे होते हैं जो पेट्रोल पंप पर जाते समय बहुत जल्दी में होते हैं और उन्हें परवाह ही नहीं होती कि पेट्रोल कितना डाला जा रहा है और किस तरह डाला जा रहा है.  मीटर कैसा चल रहा है और यहां तक कि पेट्रोल पंप पर खड़े आदमी ने पैसा कितना लौटाया.  

इन बातों पर रखें ध्यान 

यदि आप पेट्रोल पंप पर जा रहे हैं तो आपके लिए सबसे जरूरी हो जाता है कि आप अलर्ट रहें. फोन पर बात करने से बचें और इधर-उधर ना देखते हुए केवल मीटर पर ध्यान रखें और पेट्रोल पंप वाले व्यक्ति पर नजर रखें और विशेष  रूप से मीटर पर नजर रखें. अक्सर आपने देखा होगा कि पेट्रोल भरने के समय मीटर बार-बार रुक जाता है. हालांकि धीरे धीरे करके इसी तरह आपको पेट्रोल दे दिया जाता है. 
जानकारों के मुताबिक, बार-बार रुकने से पेट्रोल का नुकसान  होता है, लिहाजा किसी पेट्रोल पंप पर ऐसी मशीन है तो इस मशीन पर पेट्रोल भरवाने से बचें. यही नहीं मीटर से नजर नहीं हटाएं. कई लोग जब कार में पेट्रोल/डीजल भरवाते हैं तो गाड़ी से नीचे नहीं उतरते हैं. पेट्रोल पम्पकर्मी इसका फायदा उठाते हैं. पेट्रोल भरवाते समय कार से उतरें और मीटर के पास खड़े हों और सेल्सकर्मी की सारी गतिविधियों को देखें. इससे आपके साथ चीटिंग होने के मौके बेहद कम हो जाते हैं.

 

खाली टैंक में कभी ना भरवाएं-

इस बात का विशेष ध्यान रखें कि अपनी गाड़ी में तभी पेट्रोल ना भरवाएं जब वह पूरा ही खाली हो जाए. इस बात का ध्यान रखें कि खाली टैंक में पेट्रोल भरवाने से नुकसान होता है. दरअसल, जितना खाली टैंक होता है उतनी ही हवा टैंक में मौजूद रहती है. ऐसे में आप पेट्रोल हमेशा रिजर्व से पहले भरवाएं पेट्रोल भरवाते हैं तो हवा के कारण पेट्रोल की मात्रा कम मिलेगी. इसलिए कम से कम टैंक के रिजर्व तक आने का इंतजार नहीं करें. आधा टैंक हमेशा भरा रखें. 

Image Source: unsplash.com
Image Source: unsplash.com

 

जीरो देखकर पेट्रोल डलवाएं-

इस बात का ध्यान रखें कि जब भी पेट्रोल डलवाएं. पेट्रोल पंप के सेल्सकर्मी से ज्यादा बात ना करें. यह भी संभव है कि वह आपको बातों में जीरो तो दिखाए, लेकिन मीटर में मांगा गया पेट्रोल का मूल्य नहीं सेट करे. आजकल सभी  पेट्रोल पंप पर डिजिटल मीटर होते हैं. इसमें मांगा गया पेट्रोल फीगर और मूल्य पहले ही भरा जाता है. इससे पेट्रोलपम्प कर्मी की मनमानी और चीटिंग करने की गुंजाइश बेहद कम हो जाती है.

रीडिंग का रखें विशेष ध्यान-

पेट्रोल पंप मशीन में जीरो फिगर देख लेने के बाद इस बात का ध्यान रखें कि रीडिंग स्टार्ट किस फीगर से हुई. सीधे 10, 15 या 20 से हुई है या फि मीटर की रीडिंग कम से कम 3 से स्टार्ट हो. अगर 3 से ज्यादा अंक पर जंप हुआ तो समझो नुकसान भी उतना ही होगा. यदि मीटर तेज चल रहा हो तो आपने जो पेट्रोल ऑर्डर किया और मीटर बेहद तेज चल रहा है, तो समझिए कुछ गड़बड़ है. पेट्रोलपंपकर्मी को मीटर की स्पीड नार्मल करने को कहें. हो  सकता है तेज मीटर चलने से आपकी जेब कट रही हो.

अलर्ट भी रहें-

इन सबके अलावा आप पेट्रोल भरवाते समय अलर्ट रहें. कई बार पेट्रोल पंप पर भीड़ होती है इसलिए आप जल्दबाजी में वहां पेट्रोल भरवा लेते हैं जहां माइलेज के लिए महंगा पेट्रोल होता है आपको नुकसान हो जाता है. पेट्रोल हमेशा राउंड  फिगर मनी में भरवाएं, यानी की 200 की अपेक्षा 208 या 209 ऐसे ही 500 या 1000 की अपेक्षा 505 या फिर 1009. इस तरह पेट्रोल भरवाने से सेल्सकर्मी को पेट्रोल सेट करना होगा. उसे ऐसा करने दे जिससे उसकी बनाई हुई सेटिंग  डिस्टर्ब होगी और यदि वह चालाकी खत्म हो जाएगी. 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!