Sawan Somvar 2022: सावन सोमवार कब से शुरू हो रहे हैं, सावन शिवरात्रि कब रहेगी?

सावन सोमवार 2022 काफी खास होने वाला है. इस बार 4 सोमवार आने वाले हैं. सावन सोमवार से जुड़ी सभी जानकारी आपको इस लेख में मिलने वाली है. 

शिवजी का पावन महीना सावन (Sawan Somvar 2022) बहुत जल्द शुरू होने वाला है. इस बार शिवजी की विशेष पूजा करके आप अपनी मनोकामना पूर्ण कर सकते हैं. शिवजी की पूजा करने के लिए कई लोगों के मन में सवाल जरूर होगा कि सावन सोमवार कब से शुरू हो रहे हैं? (Sawan Somvar Kab hai?)  या पहला सावन सोमवार कब है? 

सावन सोमवार 2022 काफी खास होने वाला है. इस बार 4 सोमवार आने वाले हैं. सावन सोमवार से जुड़ी सभी जानकारी आपको इस लेख में मिलने वाली है. 

सावन सोमवार कब से शुरू हो रहे हैं? (Sawan 2022 Start Date and End Date)

सावन माह 2022 की शुरुआत 14 जुलाई गुरुवार से हो रही है. 14 जुलाई सावन माह का पहला दिन रहेगा. पहला सावन सोमवार 2022, 18 जुलाई को रहेगा. इस दिन से आप शिवजी की पूजा कर सकते हैं.

इस बार पूरे सावन के महीने में सिर्फ 4 सोमवार ही हैं. इन चारों सोमवार को आप सच्चे मन से शिवजी की आराधना करें, उनकी पूजा करें, उनका ध्यान करें. शिवजी आप पर प्रसन्न अवश्य होंगे.

>> सावन सोमवार में भगवान शिव को अर्पित न करें ये चीज, भोले हो जाएंगे नाराज

सावन सोमवार कब-कब हैं? (Pahla Sawan Somvar 2022) 

सावन माह में इस बार 4 सोमवार हैं.

  • पहला सावन सोमवार 18 जुलाई को है.
  • दूसरा सावन सोमवार 25 जुलाई को है.
  • तीसरा सावन सोमवार 1 अगस्त को है.
  • चौथा सावन सोमवार 8 अगस्त को है.

सावन माह का समापन 22 अगस्त 2022, शुक्रवार को है. 

>> सावन सोमवार को करें ये उपाय, दूर होगी आर्थिक तंगी

सावन सोमवार के नियम (Sawan Somvar 2022 Niyam) 

सावन सोमवार को शिवजी की आराधना यदि आप कुछ नियमों का पालन करके करें तो आपके लिए काफी अच्छा होता है. इन नियमों की जानकारी आपको अवश्य होनी चाहिए.

  • सावन माह में हर दिन सूर्योदय से पहले उठें, शौच आदि से निवृत्त होकर स्नान करें.
  • अपने पूजा घर या पूजा स्थल को साफ करें.
  • शिवजी के मंदिर जाकर शिवलिंग को दूध चढ़ाएं.
  • दिन में कम से कम दो बार सुबह और शाम को भगवान शिव की प्रार्थना अवश्य करें.
  • शिवजी के मंत्रों का उच्चारण करते हुए शिवजी को जल, बेलपत्र एवं दूध अर्पित करें.
  • सावन सोमवार व्रत कथा का पाठ अवश्य करें या फिर इसे सुने.
  • पूजा समाप्त होने के बाद प्रसाद का वितरण करें.
  • आपका व्रत है तो उसे शाम के समय ही खोलें, सामान्य भोजन करें.
  • पूरे माह ‘ॐ नमः शिवाय’ मंत्र का जाप अवश्य करें. 

सावन शिवरात्रि 2022 कब है? (Sawan Shivratri 2022 Kab hai?) 

सावन माह में आने वाली शिवरात्रि को बेहद ही पावन शिवरात्रि माना जाता है. हिन्दू पंचांगा के अनुसार साल में 12 शिवरात्रि होती है जिसमें से दो महत्वपूर्ण होती है. 

दो शिवरात्रि में से भी सबसे महत्वपूर्ण शिवरात्रि फागुन मास की होती है जिसे महाशिवरात्रि कहा जाता है. इस दिन शिवजी की बारात निकाली गई थी.

>> सावन सोमवार में करें इन मंत्रों का जाप, शिवजी चमकाएंगे आपका भाग्य

दूसरी महत्वपूर्ण शिवरात्रि सावन माह की होती है. ये 26 जुलाई 2022, मंगलवार को रहेगी. इसका आरंभ मंगलवार को शाम 6 बजकर 46 मिनट पर होगा और समाप्त 27 जुलाई को रात 9 बजकर 11 मिनट पर होगी. 

सावन माह की शिवरात्रि के शुभ मुहूर्त की बात करें तो इस दिन भगवान शिव की पूजा और अभिषेक करने के लिए शुभ मुहूर्त 26 जुलाई को शाम 7 बजकर 24 मिनट से रात 9 बजकर 28 मिनट तक रहेगा. 

सावन माह में आप सच्चे मन से शिवजी की पूजा करें, शिवलिंग को बेलपत्र, दूध और जल अर्पित करें. यदि आप सच्चे मन से उनकी आराधना करते हैं तो वे आपकी जरूर सुनते हैं. 

यह भी पढ़ें :

Shiv Chalisa Hindi: शिव चालीसा पढ़ने के नियम और फायदे

Mangala Gouri Vrat Katha: मंगला गौरी व्रत कथा एवं मंगला गौरी आरती

क्यों पसंद है शिव को बिल्व पत्र? कैसें करें अर्पित

error: Content is protected !!