गहरी नींद को तरसती देश की बड़ी आबादी

0 260

आजकल की दौड़भाग भरी ज़िंदगी में गहरी नींद नहीं आना चिंता का विषय बन चुका है, जबकि स्वस्थ शरीर और माइंड को फ्रेश रखने के लिए रात में गहरी नींद जरुरी है. आइये जानते है गहरी नींद नहीं आने की वजह और समाधान.

क्यों होती है नींद की प्रॉब्लम?

सम्बंधित लेख - पढ़िए

नींद नहीं आने की प्रॉब्लम से वृद्ध ही नहीं बल्कि युवा वर्ग भी परेशान है. मानसिक तनाव की वजह से लोग रात के समय बिस्तर पर तो होते है लेकिन करवटें बदलने में रात गुजार देते है. व्यक्ति को रात में सात से आठ घंटे सोना चाहिए. आपके सोने की जगह और परिस्थियां भी आपकी नींद को प्रभावित करती है.

कैसे ले सकते हैं अच्छी नींद?

– अच्छी नींद के लिए जरूरी है कि सोने से 2 या 3 घंटे पहले हल्का खाना खाए. खाने के बाद थोड़ा टहले जिससे कि खाना पच जाये.

– अनिद्रा रोग हो तो भोजन के बाद कच्चे नारियल का पानी पियें.

– सोने के लिए नींद की गोलियां हरगिज न लें व नशीले पदार्थों का सेवन भी न करें. चाय,काफी,तंबाकू आदि खाकर न सोये क्योकि इनमें कैफीन होता है, जो आपकी नींद को प्रभवित करता है.

– सोने वाली जगह शांत और अंधेरा युक्त होनी चाहिए.

– ऑफिस का काम घर पर करने की वजह से आपकी नींद प्रभवित हो सकती है.

– रात में नींद खुलने पर कोई भी बात को ज्यादा नहीं सोचे जिससे आपको दोबारा नींद आ जाएगी.

– प्रतिदिन सुबह जल्दी उठकर टहलने जायें हो सके तो व्यायाम भी करें और रात में समय से सोये.

– खांसी या दमे की बीमारी वाले व्यक्ति को दवाई लेकर सोना चाहिए जिससे नींद ख़राब न हो.

– सोते समय ढीले व खुले कपडे पहनकर सोयें. टाइट कपडे पहनकर सोने से शरीर को हिलाने डुलाने में परेशानी होती है जिससे नींद बीच-बीच में खुल जाती है.

– सोते समय उत्तेजक किताब न पढ़े साथ ही देर रात तक टीवी नहीं देखे.

error: Content is protected !!