सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम, गोल्ड से करें कमाई

ये भारत सरकार द्वारा संचालित एक योजना है जिसके माध्यम से आप सोना खरीदकर उससे मुनाफा कमा सकते हैं. आमतौर पर लोग सोना खरीदकर अपने पास रखे लेते हैं. ये सोना कई सालों तक उनके पास रखा रहता है. इसका कोई उपयोग उनके द्वारा नहीं होता

लोग पैसा निवेश (investment) करने का सबसे सही माध्यम गोल्ड (gold) को समझते हैं. गोल्ड के दाम आमतौर पर सालभर के अंदर काफी बढ़ जाते हैं. यानि इसमें निश्चित होता है की आपका फायदा तो होगा ही होगा. लोगों के इसी रुझान को देखते हुए सरकार ने सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना (sovereign gold bond scheme) शुरू की है. जिसमें आप निवेश करके अच्छा और निश्चित मुनाफा कमा सकते हैं.

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम क्या है? (What is sovereign gold bond scheme?)

ये भारत सरकार द्वारा संचालित एक योजना है जिसके माध्यम से आप सोना खरीदकर उससे मुनाफा कमा सकते हैं. आमतौर पर लोग सोना खरीदकर अपने पास रखे लेते हैं. ये सोना कई सालों तक उनके पास रखा रहता है. इसका कोई उपयोग उनके द्वारा नहीं होता और ये उन्हें तब फायदा देता है जब वो उसे बेचते हैं. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम में आप सोने के रूप में बॉन्ड खरीदते हैं जो सोने की वर्तमान कीमत के बराबर होते हैं. जब आप इन्हें बेचेंगे तो उस समय जो भी सोने का प्राइज़ होगा वो आपको मिल जाएगा.

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम का क्या फायदा है? (Sovereign gold bond scheme benefit)

– इसका सबसे बड़ा फायदा ये है की आपको इस बात के लिए चिंता नहीं करनी पड़ती की कोई आपका सोना चोरी करके ले जाएगा क्योंकि इस योजना में जब आप निवेश करते हैं तो आपको वास्तविक सोना नहीं बल्कि कागज का एक पेपर दिया जाता है जो उस सोने के बराबर की कीमत रखता है.

– जब आप सोना खरीदते हैं तो सोने में कुछ अशुद्धियां मिली होती है खासतौर पर ज्वेलरी के मामले में. ऐसे में जरूरी नहीं है की आपने आज जितने का सोना लिया है उसका वास्तविक मूल्य उतना ही हो. वहीं दूसरी तरफ अगर आप इस स्कीम के अंतर्गत बॉन्ड खरीदते हैं तो इनकी कीमत उतनी ही है जितने में आपने इन्हें खरीदा है.

– सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड को खरीदते समय आपको वो मूल्य चुकाना होता है जो वर्तमान में गोल्ड का दाम है. जबकि इन्हें बेचते समय आपको उतना मूल्य मिलेगा जो उस समय चल रहा होगा. यानि फायदा निश्चित है.

– इस योजना में गोल्ड बॉन्ड को आप डीमैट अकाउंट और पेपर दोनों प्रकार से खरीद सकते हैं.

– इस योजना में बॉन्ड की अवधि 5 से 8 साल तक की होती है. लॉन्ग टर्म इनवेस्टमेंट के लिए ये काफी सही है और इसमें रिस्क भी कम है.

सॉवरेन गोल्ड स्कीम में कितना सोना खरीद सकते हैं? (Gold quantity in Sovereign gold bond scheme?)

इस योजना के अंतर्गत आप कम से कम 1 ग्राम गोल्ड में निवेश कर सकते हैं. ज्यादा से ज्यादा आप 500 ग्राम सोने के बॉन्ड खरीद सकते हैं. आप इन्हें ऑनलाइन खरीद सकते हैं. इन्हें खरीदने के लिए सरकार ने स्टॉक होल्डिंग कंपनी कार्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड, शैड्यूल बैंक और डाकघर, बॉम्बे स्टॉक एक्स्चेंज, नेशनल स्टॉक एक्स्चेंज को अधिकार दिया है.

कब खरीद सकते हैं गोल्ड बॉन्ड? (Sovereign gold bond launching date)

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम के तहत साल में 6 बार गोल्ड बॉन्ड स्कीम को लॉंच किया जाता है जिसमें आप इन्हें खरीद सकते हैं. साल 2020 में इनकी तारीख है.

20 अप्रैल से 24 अप्रैल
11 मई से 15 मई
8 जून से 12 जून
6 जुलाई से 10 जुलाई
3 अगस्त से 7 अगस्त
31 अगस्त से 4 सितंबर

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम एक बहुत ही अच्छी योजना है जिसमें आपका मूलधन और ब्याज दोनों ही सुरक्शित रहते हैं. यानि आप जितना पैसा जमा करते हैं वो तो आपको मिल ही जाता है और जो मुनाफा आपको मिलना चाहिए वो भी मिल जाता है. इसमें निवेश करने पर आपको पैसे डूबने की चिंता नहीं रहती है.

यह भी पढ़ें :

UPI क्या होता है, यूपीआई के फायदे और मनी ट्रांसफर तरीका

किसान क्रेडिट कार्ड क्या है, कैसे बनवाएँ, KCC लोन की जानकारी?

अमेज़न के साथ बिजनेस कैसे करें, अमेज़न पर प्रोडक्ट कैसे सेल करें?

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!