Startup india registration : भारत में स्टार्टअप कैसे शुरू करें, सरकार स्टार्टअप के लिए कैसे मदद करती है?

भारत के युवा नौकरी से ज्यादा बिजनेस को तवज्जो दे रहे हैं. यही कारण है की पिछले कुछ सालों में देश में कई स्टार्टअप शुरू (Startup india registration) हुए हैं और काफी सफल भी रहे हैं. आज हर कोई चाहता है की वो भी स्टार्टअप करें, खुद की कंपनी खोलें. लेकिन सवाल ये उठता है की खुद का स्टार्टअप कैसे शुरू करें, खुद की कंपनी कैसे खोलें?

0 766

भारत के युवा नौकरी से ज्यादा बिजनेस को तवज्जो दे रहे हैं. यही कारण है की पिछले कुछ सालों में देश में कई स्टार्टअप शुरू (Startup india registration) हुए हैं और काफी सफल भी रहे हैं. आज हर कोई चाहता है की वो भी स्टार्टअप करें, खुद की कंपनी खोलें. लेकिन सवाल ये उठता है की खुद का स्टार्टअप कैसे शुरू करें, खुद की कंपनी कैसे खोलें?

स्टार्टअप शुरू करना चाहते हैं तो आपको ये प्रोसेस फॉलो करना होगा. (Process for startup india registration)

सम्बंधित लेख - पढ़िए

सबसे पहले तो आपको ये तय करना होगा की आप कंपनी कैसी बनाना चाहते हैं(How to regsitar a company online). मतलब आप अपनी कंपनी के अकेले मालिक होंगे, या फिर पार्टनरशिप में कंपनी शुरू करेंगे, लिमिटेड कंपनी खोलेंगे, कंपनी का नाम क्या रखेंगे और वो कंपनी क्या काम और किस तरीके से करेगी.

जब आप ये सारी बाते तय कर लेते हैं तो फिर आपको अपनी सोची गई कंपनी को भारत सरकार के तहत रजिस्टर करवाना होता है और बताना होता है की आपकी कंपनी किस श्रेणी की है. आप उसके अकेले मालिक है या फिर कंपनी पार्टनरशिप में है. सारी जानकारी आपको भारत सरकार के पास दर्ज करवानी है और अपने स्टार्टअप को कंपनी का दर्जा दिलवाना है. ये एक तरीके से ऐसा होगा जैसे आपको कंपनी के लिए लाइसेन्स लेना हो.

सरकार स्टार्टअप की मदद कैसे करती है? (Startup learning program)

जब आप सरकार से किसी कंपनी को शुरू करने का लाइसेन्स ले लेते हैं तो आपको अपनी कंपनी को स्टार्टअप के रूप में भारत सरकार की वेबसाइट Startup india पर जाकर आवेदन करना होता है. जिससे भारत सरकार द्वारा दी जा रही स्टार्टअप के लिए मदद आप को मिल सके.

स्टार्टअप के लिए कैसे रजिस्टर करें? (startup india registration)

भारत सरकार द्वारा दी जा रही स्टार्ट अप की मदद आप तक पहुच सके या आप इसका फायदा उठा सके इसके लिए आपको स्टार्टअप इंडिया पोर्टल पर जाकर खुद को रजिस्टर करना होगा. सबसे पहले आपको एक अकाउंट बनाना होगा जो आपके नाम, मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी के द्वारा बन जाएगा. इसके बाद आपको 5 भागों में कंपनी का रजिस्ट्रेशन करवाना है.

– सबसे पहले तो आपको ये बताना है की आपकी कंपनी किस श्रेणी में आती है. मतलब आपकी कंपनी पार्टनरशिप में है, या प्राइवेट लिमिटेड है या और कुछ है वो बताना है.
– इसके बाद आपको ये बताना है की कंपनी किसके नाम पर रजिस्टर है. उनका नाम, उनकी पोस्ट और उनका कांटैक्ट नंबर आदि बताना होता है.
– इसके बाद आपको कंपनी के डायरेक्टर, अन्य साथी की डीटेल देनी होगी.
– इसके अलावा आपको कुछ अन्य जानकारी जैसे आपकी कंपनी में कितने कर्मचारी होंगे, आप कितने उत्पादों का प्रॉडक्शन करेंगे आदि.
– इसके बाद आपको कंपनी निगमन प्रमाण पत्र जो MCA द्वारा जारी किया हो. बताए गए फॉर्मेट में अपलोड करना होता है.
– इसके अलावा भी आपसे कुछ अन्य जानकारियाँ मांगी जाती है जो आपको रजिस्ट्रेशन के समय पता लगेगी.

स्टार्टअप के लिए सरकार से मिलने वाले लाभ (Benefits by startup india registration program)

स्टार्टअप से मिलने वाले लाभ उन कंपनियों को मिलते हैं जो भारत में 7 साल से अधिक पुरानी नहीं है. जिनका टर्नओवर 25 करोड़ रुपये से अधिक नहीं है. वे स्टार्टअप कहलाती है. इन्हें भारत सरकार निम्न लाभ देती है.
– विभिन्न श्रम और फैक्ट्री कानून के लिए स्वयं प्रमाणन
– 3 साल के लिए आपकी कंपनी द्वारा कमाए गए लाभ पर कोई टैक्स नहीं.
– 10 हजार करोड़ रुपये के कुल कोश के साथ फंड निधि की स्थापना.
– कार्यों को जल्दी खत्म करने के लिए, जरूरी ज्ञान के आदान प्रदान के लिए तथा धन की जरूरत के लिए केन्द्रीय स्टार्टअप हब की स्थापना.
– पेटेंट दाखिल करने के लिए तेजी से कानूनी सहायता.

तो इस तरह आप अपने स्टार्टअप को शुरू कर सकते हैं और सरकार से स्टार्टअप के लिए मदद भी ले सकते हैं. भारत सरकार खुद स्टार्टअप शुरू करने पर ज़ोर दे रही है. इसके लिए बैंक से लोन की प्रक्रिया को भी आसान बनाया गया है और प्राइवेट फंडिंग भी हो रही है.