The Undertaker की कहानी : क्या मरकर जिंदा होते थे अंडरटेकर?

अंडरटेकर को हम ‘द अंडरटेकर’ (The Undertaker) के नाम से जानते हैं लेकिन क्या यही उनका वास्तविक नाम है. अंडरटेकर का असली नाम (Undertaker real name) मार्क विलियम कैलावे है.

बचपन से लेकर आज तक आपने भले ही WWF की फाइट देखी हो या न देखी हो आपने अंडरटेकर (The Undertaker) का नाम जरूर सुना होगा और उसके काफी सारे किस्से भी सुने होंगे. WWF की रिंग में न जाने कितने ही पहलवान आए और गए लेकिन अंडरटेकर जैसा न कोई हुआ और न रहेगा. WWF की रिंग से सबके दिलों पर राज करने वाले अंडरटेकर ने साल 2020 में सन्यास लेने की घोषणा कर दी है. 52 साल की उम्र में रिंग को अलविदा कहने वाले अंडरटेकर की कहानी क्या है? (Undertaker biography) उनका असली नाम क्या है? (Undertaker real name)  सारी बाते आप यहाँ जानेंगे.

अंडरटेकर का असली नाम (Undertaker real name?)

अंडरटेकर को हम ‘द अंडरटेकर’ (The Undertaker) के नाम से जानते हैं लेकिन क्या यही उनका वास्तविक नाम है. अंडरटेकर का असली नाम (Undertaker real name) मार्क विलियम कैलावे है. इनका जन्म 24 मार्च 1965 (Undertaker birth) को हुआ था. अंडरटेकर जब स्कूल में पढ़ते थे तो उन्हें बास्केटबॉल खेलने का शौक था. उन्होने अपने हाइ स्कूल से वेस्लेयान यूनिवर्सिटी तक बास्केटबॉल खेला.

अंडरटेकर का पहला मैच  (Undertaker first match)

साल 1984 में अंडरटेकर ने रेस्लिंग की शुरुवात की. इस साल उन्होने टेक्सास रेड के अंतर्गत वर्ल्ड क्लास चैंपियनशिप रेस्लिंग खेली. उनका पहला मैच ब्रूइसर ब्रोडी के साथ हुआ जिसमें अंडरटेकर को हार का मुंह देखना पड़ा.

अंडरटेकर का डबल्यूडबल्यूएफ़ में डेब्यु (Undertaker WWF debut) 

19 नवंबर 1990 को अंडरटेकर ने डबल्यूडबल्यूएफ़ की रिंग में प्रवेश किया. इस रिंग में उन्होने अपना नाम ‘कैन द अंडरटेकर’ रखा था. वे कैमरे के सामने 22 नवंबर 1990 को सर्वाइवर सीरीज में एक खलनायक के रूप में आए. उस वक़्त वे टेड डीबायस की मिलियन डॉलर टिम के रहस्यमय हिस्सेदार थे. इस मैच के शुरू के एक मिनट में ही अंडरटेकर ने कोको बी वेयर को अपने फिनिशर टोम्बस्टोन पाइलड्राईवर के जरिये बाहर निकाल दिया था.

अंडरटेकर को डैडमेन क्यों कहा जाता है? (Why Undertaker call deadman?)

अंडरटेकर जब रिंग में आता है तो मौत की आवाज़े बजाई जाती है, चारो तरफ अंधेरा और धुआँ दिखाई देता है. अंडरटेकर की एंट्री ही इस तरीके से होती है जैसे कोई मौत का सौदागर आ रहा हो. हम में से कई लोगों ने ये कहानी भी सुनी है की अंडरटेकर मरकर जिंदा हो जाता था, वो मौत के ताबूत में से निकलकर अपने दुश्मन का सफाया करता था. यही सब कहानियाँ अंडरटेकर को डैडमेन बनती है.

दरअसल अंडरटेकर एक अच्छे रेसलर तो थे ही साथ ही उन्हें इस बात की समझ भी थी की दर्शकों का दिल कैसे जीता जाए, कैसे उनके दिलों में जगह बनाई जाए. आपने देखा होगा की WWF में हर रेसलर की एंट्री का एक अलग अंदाज होता है तो अंडरटेकर ने भी अपने लिए एक अंदाज चुना जो डैडमेन का अंदाज था.

अंडरटेकर रिंग में अपने आप को इस तरह दिखाते थे की वे मृत हैं और अपनी मौत का बदला लेने आए हैं. कई बार उन्हें ताबूत से निकलते हुए बताया गया है. हालांकि बाद में उन्होने अपनी एंट्री बाइक से की थी लेकिन उनकी रिंग पर आने की जो एंट्री है वो आपको किसी मौत के सौदागर की याद दिला ही देती है. इसलिए इन्हें डैडमेन या मौत का सौदागर भी कहा जाता है.

अंडरटेकर का आखिरी मैच (Undertaker last match) 

अंडरटेकर का रेसलमेनिया में 33वां मुक़ाबला था जिसमें उनकी फाइट रोमन राइन्स के साथ हुई थी. इस फाइट में वे हार गए. इस फाइट के साथ ही उन्होने अपने सन्यास की घोषणा कर दी. इस हार से पहले भी उनकी एक हार हुई थी. साल 2014 में उनका 30वां मुक़ाबला था जिसमें वे ब्रोक लेसनर से हारे थे.

अंडरटेकर वो इंसान हैं जो WWF के पर्यायवाची माने जाते हैं. यानि अगर कोई WWF का नाम ले तो अंडरटेकर का नाम ही पहले आता है. आज भले ही कितने ही पहलवान क्यों न आ गए हो अंडरटेकर की अपनी जगह लोगों के दिलों में है.

यह भी पढ़ें :

karate कैसे सीखते हैं, कराटे के नियम?

ऑनलाइन रमी कैसे खेलें, रमी के नियम, रमी से पैसे कैसे कमाएं?

Squash : स्कवैश खेल के नियम, जरूरी उपकरण तथा कोर्ट की जानकारी

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!