पीएम मोदी बोले -परमाणु ऊर्जा अब भी भारत के लिए चुनौती है, पढ़िए आज की बड़ी ख़बरें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इनदिनों अमेरिका की यात्रा पर है. यहां ब्लूमबर्ग ग्लोबल बिजनेस फोरम में हिस्सा लेते हुए उन्होंने भारत को परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (NSG) का सदस्य न बनाए जाने से एटमी ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए ईंधन की आवश्यक आपूर्ति बाधित होने की बात कही है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इनदिनों अमेरिका की यात्रा पर है. यहां ब्लूमबर्ग ग्लोबल बिजनेस फोरम में हिस्सा लेते हुए उन्होंने भारत को परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (NSG) का सदस्य न बनाए जाने से एटमी ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए ईंधन की आवश्यक आपूर्ति बाधित होने की बात कही है. उन्होंने कहा कि भारत समूचे विश्व के लिए आदर्श बन सकता है, लेकिन हमें यह समस्या हल करनी होगी.

सवाल जवाब सत्र में प्रधानमंत्री ने कहा कि ”हम NSG के मेंबर नहीं है और इस वजह से हमें परमाणु ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए ईंधन की पर्याप्त आपूर्ति नहीं मिलती है. इस मोर्चे पर भारत को समाधान मिल जाता है तो, हम बाकि दुनिया के आदर्श बन सकते हैं. बता दें कि NSG में दुनिया के परमाणु ऊर्जा 48 देश शामिल है. चीन भी इसका सदस्य है. भारत भी इसकी सदस्यता लेना चाहता है, लेकिन चीन हमेशा रोड़े अटकाए हुए हैं.

दरअसल, चीन का कहना हैं कि भारत परमाणु अप्रसार संधि (NPT) पर पर साइन करें, उसके बाद ही वह NSG का सदस्य बन सकता है. बता दें
कि भारत देश में बढ़ती ऊर्जा जरूरतों की पूर्ति के लिए परमाणु ऊर्जा के उत्पादन को बेहतर विकल्प मानती है. यदि भारत NSG का सदस्य बन जाता है उसे दवाई से लेकर न्यूक्लियर पावर प्लांट बनाने तक की तकनीक बेहद आसानी से उपलब्ध होगी.

दिल्ली सीएम केजरीवाल का मनोज तिवारी पर तंज
नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन्स (NRC) पर दिल्ली की सियासत गर्मा गई है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल और दिल्ली बीजेपी के प्रमुख मनोज तिवारी आमने-सामने आ गए है.

दिल्ली सीएम ने मनोज तिवारी के उस बयान पर पलटवार किया है, जिसमें उन्होंने असम की तरह दिल्ली में NRC लागू करने की बात कही थी. उन्होंने कहा कि यदि दिल्ली में NRC लागू होगा तो सबसे पहले उन्हें (तिवारी को) ही शहर छोड़ना पड़ेगा.

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में केजरीवाल ने कहा कि यदि दिल्ली में NRC लागू हुई तो सबसे मनोज तिवारी को दिल्ली छोड़ना पड़ जाएगा. बता दें कि पिछले दिनों मनोज तिवारी ने अपने एक बयान में कहा था कि ” बांग्लादेशी और रोहिंग्या समेत अन्य अवैध प्रवासियों की वजह से दिल्ली की हालत ‘खतरनाक’ हो गई है.

पाकिस्तान जीपीएस लगे ड्रोन से पंजाब में गिराये हथियार
पाकिस्तान अपनी नापाक हरकत से बाज नहीं आ रहा है. पंजाब के तरनतारन को इस पर पाक ने अपना शिकार बनाया है. यहां जीपीएस लगे ड्रोन से उसने खतरनाक हथियार गिराए हैं.

ख़बरों के अनुसार पाक ने ड्रोन विमानों से भारत में सात-आठ बार आकर यहां AK-47 राइफलें, पिस्तौल और हथगोले गिराये. पंजाब पुलिस ने दावा किया पाक ने यह हथियार जम्मू कश्मीर में आतंकी हमलों की साजिश को अंजाम देने के लिए गिराए हैं.

पंजाब के एक पुलिस अधिकारी के अनुसार यह पहला मौका है जब पाकिस्तान ने सीमा पार से ड्रोन विमानों का उपयोग हथियार और सैटेलाइट फोन जैसे संचार उपकरण गिराने के लिए किया है.

वहीं सेना के एक शीर्ष कमांडर के मुताबिक भारत सीमा पार से आने वाले किसी भी सैन्य ड्रोन विमान को मार गिराने में सक्षम हैं.

एंटीगुआ के पीएम बोले- धोखेबाज है मेहुल चौकसी
एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्रॉउन ने पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में आरोपी मेहुल चौकसी पर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि मेहुल चौकसी धोखेबाज है. भारतीय जांच एजेंसियां उससे एंटीगुआ आकर स्वतंत्र पूछताछ कर सकती हैं.

पीएम ब्राउन ने कहा कि चौकसी को भारत वापस जाना ही होगा. उसने सिटिजनशिप बाय इनवेस्टमेंट प्रोग्राम को नुकसान पहुंचा है. उन्होंने कहा कि प्रोग्राम का उपयोग करके उसने एंटीगुआ की नागरिकता ली.

हालांकि ब्राउन ने चौकसी के भारत आने का समय तो नहीं बताया, क्योंकि यह मामला न्यायपालिका का अधीन है. लेकिन ब्राउन के बयान से घोटालेबाज मेहुल चौकसी के प्रत्यर्पण की संभावनाओं को ताकत मिलती है.

गौरतलब है कि पिछले दिनों एंटीगुआ के प्रधानमंत्री ने मेहुल चौकसी की नागरिकता रद्द करने का एलान किया था. साथ ही उन्होंने माना था कि यह निर्णय उन्होंने भारत के दबाव में लिया था. मेहुल चौकसी और नीरव मोदी पर 13 हज़ार करोड़ रुपये के गबन का आरोप है.

Railway ticket concession : फ्री में रेल यात्रा कैसे करें, गंभीर बीमारी के रोगियों के लिए टिकट में छूट?

error: Content is protected !!