Driving License Types : ड्राइविंग लाइसेन्स कितने प्रकार के होते हैं?

किसी भी देश में वाहन को चलाने के लिए आपको ड्राइविंग लाइसेन्स (Driving license) की जरूरत होती है. इस ड्राइविंग लाइसेन्स को पाने के लिए आपकी उम्र सही होनी चाहिए. इसके अलावा ड्राइविंग टेस्ट (Driving test) भी पार करना होता है. ड्राइविंग लाइसेन्स कई तरह (types of driving license) के होते हैं

किसी भी देश में वाहन को चलाने के लिए आपको ड्राइविंग लाइसेन्स (Driving license) की जरूरत होती है. इस ड्राइविंग लाइसेन्स को पाने के लिए आपकी उम्र सही होनी चाहिए. इसके अलावा ड्राइविंग टेस्ट (Driving test) भी पार करना होता है. ड्राइविंग लाइसेन्स कई तरह (types of driving license) के होते हैं जिन्हें हम अपने उपयोग के आधार पर बनवा सकते हैं. सबसे पहले हमें इस बात की जानकारी होनी चाहिए कि हमें कौन सा वाहन चलाना है? तब जाकर हम ये तय कर सकते हैं कि हमें किस प्रकार का ड्राइविंग लाइसेन्स बनवाना है?

ड्राइविंग लाइसेन्स के प्रकार (Types of driving license)

ड्राइविंग लाइसेन्स बनवाते समय जब हम से पूछा जाता है तो हम बता देते हैं कि हम या तो कार या बाइक चलाने के लिए ड्राइविंग लाइसेन्स बनवाना चाहते हैं. लेकिन इनके अलावा भी कई सारे ड्राइविंग लाइसेन्स बनाए जाते हैं जिनके बारे में आपको जानकारी होनी चाहिए.

MC 50 सीसी (Motor Cycle 50 CC Driving license)

ये सबसे बेसिक ड्राइविंग लाइसेन्स होता है. अगर आपके पास ये ड्राइविंग लाइसेन्स है तो आप 50 सीसी का स्कूटर या बाइक चला सकते हैं. इस लाइसेन्स के लिए आप 16 साल की उम्र के बाद अप्लाई कर सकते हैं.

FVG लाइसेन्स (FVC License)

इस ड्राइविंग लाइसेन्स से आप बिना गियर वाला स्कूटर, बाइक आदि चला सकते हैं. इस लाइसेन्स में सीसी नहीं देखा जाता. बस ये देखा जाता है कि बाइक या स्कूटर में गियर न हो.

MC with Gear लाइसेन्स (MC With gear licnese)

इस ड्राइविंग लाइसेन्स से आप गियर वाली और बिना गियर वाली दोनों तरह की स्कूटर या बाइक चला सकते हैं. सामान्यतौर पर जो लोग बाइक या स्कूटर चलाते हैं उनके लिए यही लाइसेन्स इशू किया जाता है. इस तरह के लाइसेन्स से आप किसी भी तरह के इंजन वाली बाइक चला सकते हैं.

LMV-NT (Light motor vehicle non transport license)

इस ड्राइविंग लाइसेन्स से आप किसी भी तरह की कार को चला सकते हैं. लेकिन आप किसी कमर्शियल वाहन को नहीं चला सकते. आप खुद की पर्सनल कार को खुद के उपयोग के लिए आसानी से इस लाइसेन्स की मदद से चला सकते हैं.

LMV-TR (Light motor vehicle transport licnese)

इस तरह के ड्राइविंग लाइसेन्स की मदद से आप कमर्शियल वाहन जैसे कैब, टैक्सी आदि चला सकते हैं. इन सभी के अलावा आप बाइक और स्कूटर के लिए भी इसी ड्राइविंग लाइसेन्स का इस्तेमाल कर सकते हैं.

LMV (Light motor vehicle licnese)

इस तरह के ड्राइविंग लाइसेन्स से आप खुद की निजी कार और व्यावसायिक कार दोनों चला सकते हैं. इस अकेले ड्राइविंग लाइसेन्स के साथ आप दोनों तरह के वाहन चला सकते हैं. इनके अलावा आप खुद के स्कूटर और बाइक भी चला सकते हैं.

HPMV (Heavy passenger motor vehicle license)

इस तरह के ड्राइविंग लाइसेन्स से आप बस को चला सकते हैं. यानि अगर आपको बस का ड्राईवर बनना है तो आपके पास ये HPMV लाइसेन्स जरूर होना चाहिए. इसे बनवाने के लिए आपकी उम्र 18 या 20 साल मांगी जाती है और शिक्षा कम से कम 8वी पास होना चाहिए.

HTV (Heavy transport vehicle license)

इस तरह के लाइसेन्स से आप बस और ट्रक दोनों चला सकते हैं. इसे बनवाने के लिए आपकी उम्र कम से कम 18 से 20 साल होनी चाहिए और आप 8वी पास होना चाहिए.

HMV (Heavy Motor vehicle licnese)

ये एक तरह का एडवांस लाइसेन्स है. अगर आपके पास ये लाइसेन्स है तो आप बस, ट्रक, टेम्पो, कार, टैक्सी, बाइक, स्कूटर सभी चीजें चला सकते हैं. इसकी मदद से आप पर्सनल और कमर्शियल दोनों तरह के वाहन चला सकते हैं.

Trailor license

इन सभी के बाद आता है Trailor लाइसेन्स. इस तरह के लियसेंस से आप लंबे ट्रक चला सकते हैं. आपने हाइवे पर इन लंबे ट्रक को देखा होगा जिनमें भरकर कार को ले जया जाता है. इस तरह के लाइसेन्स को बनवाने के लिए आपके पास पहले HMV लाइसेन्स होना चाहिए.

यह भी पढ़ें :

Driving License : ड्राइविंग लाइसेन्स के लिए ऑनलाइन अप्लाई कैसे करें, ड्राइविंग लाइसेन्स फीस?

इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस कैसे बनवाएं, जरूरी दस्तावेज की जानकारी ?

ड्राइविंग लाइसेंस और आरसी में लगेगी माइक्रोचिप

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!