Vastu tips for home: वास्तु अनुसार कैसे सजाएं घर? कैसा हो घर का रंग

घर में वास्तु का बड़ा महत्व है. वास्तु के अनुसार बने घर में हमेशा सुख समृद्धि शांति सकारात्मक ऊर्जा और सदा ईश्वर की कृपा बनी रहती है

0 645

घर में वास्तु का बड़ा महत्व है. वास्तु के अनुसार बने घर में हमेशा सुख समृद्धि शांति सकारात्मक ऊर्जा और सदा ईश्वर की कृपा बनी रहती है. ऐसा कहा गया है कि वास्तु के हिसाब से यदि घर में कोई कमी है तो उसका प्रभाव सीधा सीधा आपके जीवन पर, आपके सुख पर, आपके धन धान्य पर पड़ता है. ऐसे में घर बना लेने के बाद रंगो के चयन का भी वास्तु पर बड़ा प्रभाव पड़ता है.

वास्तु के अनुसार घर की सजावट (Colour combination as per vastu)
वास्तु के अनुसार रंगों का चयन करने से आपके घर में सदा सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता रहता है. आपके घर, बंगले, ऑफिस या अन्य स्थान पर वास्तु के अनुसार रंगों की पुताई करने से और वास्तु के अनुसार इंटीरियर डेकोरेशन किए जाने से आने वाले दुःखो से बचा जा सकता है. साथ ही एक अलग ही फीलिंग के साथ आप आने वाली समस्याओं से बच सकते हैं .जैसे आपका बेडरूम वास्तु के अनुसार गुलाबी, आसमानी कलर का होना चाहिए. (vastu colours for living room)

सम्बंधित लेख - पढ़िए

वहीं किचन (vastu colours for kitchen) के लिए लाल और नारंगी रंग को शुभ माना गया है. टॉयलेट में सफेद या नीले रंग की पुताई करने से टॉयलेट के द्वारा होने वाले वास्तु दोष से बचा जा सकता है.

इसी तरह आप कोशिश करें की छत हमेशा सफेद कलर से पुता हो. यह सकारात्मक ऊर्जा और शांति को प्रदान करने वाला होता है. बात अगर पर्दों या कर्टन्स कि की जाए तो पर्दे हमेशा दो रंग के हो तो ज्यादा बेहतर है.

इंटीरियर सजावट के लिए वास्तु शास्त्र युक्तियां (home decoration vastu tips in hindi)
पूर्व दिशा में यदि आपका बेडरूम है तो आप हरे रंग के परदे लगाएं. ऐसे ही यदि बेडरूम उत्तर दिशा में है नीले रंग के परदे शुभ माने गए हैं. पश्चिम दिशा में बेडरूम होने पर सफेद रंग के पर्दो का चुनाव कर सकते हैं.

ड्राइंग रूम घर का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है जहां हर आगंतुक का सबसे पहले आना होता है. आने वाला उसे बड़े गौर से देख सकता है क्योंकि आगंतुक या मेहमान अपना अधिकतम समय यही बिताते हैं ऐसे में इसे डेकोरेट करना आवश्यक है. यहां वास्तु के अनुसार हल्के नीले और आसमानी रंग के परदे लगाएं तो यह शुभ माने गए हैं.

Wall colors according to vastu
क्रीम कलर, सुनहरे या भूरे रंग के पदों का भी चुनाव आप अपने लिए कर सकते हैं. हल्का हरा, सफेद रंग भी यदि आपको पसंद हो तो आप उसे अपने ड्राइंग रूम की सजावट के लिए चुन सकते है.

भगवान का स्थान या ब्रह्म स्थान आप हमेशा गुलाबी और पीले रंग के पर्दो से सजाएं यहां सफेद रंग का उपयोग भी कर सकते हैं. अगर आपका बेडरूम और पूजा घर किसी भी कारण एक साथ है तो उसे आप हल्के नीले रंग से दीवारों की पुताई करें. 

साथ ही शयन कक्ष और पूजा घर के किसी मजबूरी के कारण एक साथ होने पर इसे सफेद हल्के पीले गुलाबी रंगों के पर्दो से सजा सकते थे. इन कुछ वास्तु टिप्स और रंगों से आप अपने दीवारों और अपने घर को सजाने के साथ होने वाले वास्तु दोषों से बच सकते हैं.

ऐसा कहा जाता है कि वास्तु दोष का वास्तु का आपके जीवन पर पूर्ण प्रभाव पड़ता है आए दिन आने वाली परेशानियों सुख और दुख के पीछे आपके घर के वास्तु का बड़ा हाथ होता है.

नोट: यह लेख आपकी जानकारी बढ़ाने के लिए साझा किया गया है. अधिक जानकारी के लिए किसी वास्तु विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें.

error: Content is protected !!