बच्चे का आधार कार्ड कैसे बनवाएँ, किन दस्तावेजों की होती है जरूरत?

Aadhaar Card एक बहुत ही जरूरी दस्तावेज़ है जो बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी के लिए जरूरी होता है. यदि आपके घर में कोई छोटा बच्चा है तो आप उसका भी आधार कार्ड बनवा सकते हैं.

आधार कार्ड में आमतौर पर आपके आँखों की पुतली और फिंगरप्रिंट लिए जाते हैं. लेकिन छोटे बच्चे के फिंगरप्रिंट नहीं लिए जाते. इसे बनाने का प्रोसेस थोड़ा अलग होता है.

आपके घर में कोई 5 साल से छोटा बच्चा है और आप उसका आधार कार्ड बनवाना चाहते हैं तो यहाँ दिये गए प्रोसेस को फॉलो करके अपने बच्चे का आधार कार्ड बनवा सकते हैं.

बड़े व्यक्ति के मुक़ाबले छोटे बच्चे का आधार कार्ड बनवाना आसान होता है क्योंकि इसमें काफी कम दस्तावेजों की मांग की जाती है. यदि आप एक बार आधार कार्ड बनवा लेते हैं तो बाद में आपको सिर्फ अपडेट ही करवाना होता है.

बच्चे का आधार कार्ड बनवाने के दो तरीके हैं. अगर बच्चा 5 साल से कम का है तो उसका अलग तरीका होता है और अगतर 5 साल से ज्यादा उम्र का है तो उसका अलग तरीका होता है.

5 साल से छोटे बच्चे का आधार कार्ड बनवाने के लिए आपको बच्चे को लेकर आधार केंद्र पर जाना होगा.

बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र देना होगा. बच्चे के अभिभावक का ओरिजिनल आधार कार्ड देना होंगे.

आधार कार्ड बनवाते समय बच्चे के फिंगरप्रिंट और आँखों को स्कैन नहीं किया जाएगा. आधार कार्ड में केवल उसकी फोटो रहेगी.

5 साल से बड़े बच्चे का आधार कार्ड बनवाने पर आपको उसका जन्म प्रमाण पत्र साथ लेकर जाना होगा.

बच्चे का स्कूल में एडमिशन करवा दिया गया है तो उसका आईडी कार्ड साथ लेकर जाये.

अगर उसका स्कूल में एडमिशन नहीं हुआ है तो माता-पिता के आधार कार्ड की कॉपी को राजपत्रित अधिकारी या तहसीलदार द्वारा सत्यापित करवा कर ले जाए.

एड्रेस प्रूफ के लिए राजपत्रित अधिकारी/ सांसद/विधायक/तहसीलदार के द्वारा सत्यापित प्रमाण पत्र ले जाए.

बच्चे की आँखों तथा फिंगरप्रिंट को स्कैन किया जाएगा. इस तरह आप बच्चे का आधार कार्ड बनवा सकते हैं.