कैसे अपलोड होंगे DigiLocker में पैन कार्ड-पासपोर्ट और मार्कशीट्स?

डिजिलॉकर की सुविधा भारत सरकार के संचार और आईटी मंत्रालय की वेबसाइट के जरिये संचालित होती है. आप इस लिंक https://digilocker.gov.in/ पर जाकर भी आप अपना डिजिटल लॉकर अकाउंट बना सकते हैं और इसमें बर्थ सर्टिफिकेट यानी जन्म प्रमाण पत्र, पासपोर्ट, शैक्षणिक प्रमाण पत्र जैसे डॉक्यमेंट्स ऑनलाइन सेफ रखे जा सकते हैं.

0 929

4 साल पुरानी मोदी सरकार ने डिजिटल प्रोग्राम के जरिये देश हर सेक्टर को डिजिटल प्लेटफॉर्म से जोड़ने की दिशा में तेजी से कदम बढ़ाया है. सरकारी विभागों के एप्प, उन्हें सोशल मीडिया से जोड़ना और ई-बैंकिंग के साथ डिजिटल ट्रांजेक्शन सरकार के डिजिटल इंडिया कार्यक्रम का ही हिस्सा है.

सरकार के इस पूरे प्रोग्राम में सबसे महत्वपूर्ण है डिजिटल लॉकर या डिजिलॉकर की सुविधा. ये एक ऐसी सुविधा है जहां आप अपने सभी डॉक्यूमेंट्स डिजिटल फॉर्मेट यानी की सॉफ्ट कॉपी के तौर पर रख सकते हैं.

सम्बंधित लेख - पढ़िए

कैसे काम करता है डिजिलॉकर

डिजिलॉकर की सुविधा भारत सरकार के संचार और आईटी मंत्रालय की वेबसाइट के जरिये संचालित होती है. आप इस लिंक https://digilocker.gov.in/ पर जाकर भी आप अपना डिजिटल लॉकर अकाउंट बना सकते हैं.

यहां आकर यूजर अपनी डिजिटल लॉकर एकाउंट ओपन कर सकता है. इसमें बर्थ सर्टिफिकेट यानी जन्म प्रमाण पत्र, पासपोर्ट, शैक्षणिक प्रमाण पत्र जैसे डॉक्यमेंट्स ऑनलाइन सेफ रखे जा सकते हैं. डिजिलॉकर ओपन करने के लिए आधार कार्ड होना जरूरी है. इसमें आप अपना आधार नंबर डालकर डिजिलॉकर खाता खोल सकते हैं.

डिजिलॉकर एप भी कर सकते हैं डाउनलोड

डिजिलॉकर के बारे में डॉक्यूमेंट्स अपलोड करने के लिए आप अपने मोबाइल में डिजिलॉकर एप डाउनलोड कर सकते हैं. इसके लिए आपको प्ले स्टोर से डिजिलॉकर एप डाउनलोड कर इंस्टॉल करनी होगी. इसके बाद साइनअप पर क्लिक कर फोन नंबर से अकाउंट बना सकते हैं.

डिजिलॉकर के एप से कैसे बनाएं एकाउंट

प्ले स्टोर से डिजिलॉकर एप डाउनलोड कर इंस्टॉल करने के बाद आपके नंबर पर एक OTP कोड आएगा. यहां आपको अलर्ट रहते हुए एप में यूजरनेम और पासवर्ड सेलेक्ट करें. ऐसा करते ही आपका डिजिलॉकर अकाउंट बन जाएगा.

बता दें कि डिजिलॉकर अकाउंट ओपन होने के बाद आपको सर्विस का इस्तेमाल करने के लिए अपना आधार नंबर एंटर करना होगा. इस एप में ड्राइविंग लाइसेंस और रजिस्ट्रेशन पेपर्स अपलोड किए जा सकते हैं.

आपको बता दें कि इस समय सरकार के निर्देशानुसार आधार कार्ड और ड्राइविंग लाइसेंस की डिजिटल कॉपी को बतौर आईडी प्रूफ मान्यता देने की दिशा में कदम उठाया जा रहा है. ऐसे में डिजिलॉकर की सुविधा हर व्यक्ति के लिए बहुत लाभदायक होगी.