IELTES की तैयारी कैसे करें, IELTS exam pattern कैसा है?

अगर आप विदेश में पढ़ना चाहते हैं या फिर काम करना चाहते हैं तो आपको इस टेस्ट को देने की जरूरत होती है. अगर आप IELTS की तैयारी करना चाहते हैं तो इस लेख में आपको IELTS से जुड़ी जानकारी मिलेगी.

विदेश में पढ़ाई करना हो या फिर नौकरी. आपको कोई न कोई English Test जरूर देना होता है. एक इंग्लिश टेस्ट IELTS भी है. जिसका नाम आपने बहुत बार सुना होगा. अगर आप विदेश में पढ़ना चाहते हैं या फिर काम करना चाहते हैं तो आपको इस टेस्ट को देने की जरूरत होती है. अगर आप IELTS की तैयारी करना चाहते हैं तो इस लेख में आपको IELTS से जुड़ी जानकारी मिलेगी.

IELTS क्या है? (What is IELTS?)

IELTS का पूरा नाम International English Language Testing System है. (IELTS Full Form) ये एक इंग्लिश लैंगवेज़ टेस्ट है. जिसे Commonwealth Countries की university में एडमिशन के लिए लिया जाता है. इनमें ब्रिटैन, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, न्यूज़ीलैंड आदि शामिल हैं. इस टेस्ट को ब्रिटिश काउंसिल, आईडीपी तथा कैम्ब्रिज के द्वारा किसी एक से लिया जाता है. आप इन तीनों में से किसी एक जरिये इस टेस्ट को दे सकते हैं.

IELTS के लिए योग्यता (Eligibility for IELTS)

IELTS एक लैंगवेज़ टेस्ट है इसलिए ये कोई खास Eligibility की डिमांड नहीं करते हैं. इसमें न ही आपको शैक्षणिक योग्यता की जरूरत होती है और न ही उम्र की कोई सीमा होती है. लेकिन इन सभी योग्यताओं का पालन आपको किसी यूनिवर्सिटी में एडमिशन के लिए जरूर करना होगा. बस इस एक्जाम को देने के लिए किसी तरह की योग्यता की डिमांड नहीं की गई है. IELTS को आप सालभर में 48 बार दे सकते हैं. इसके लिए अटेम्प्ट की भी कोई सीमा नहीं है.

IELTS एक्जाम पैटर्न (IELTS Exam Pattern)

IELTS exam दो कैटेगरी में होता है. पहला एकेडमिक होता है जिसमें वो लोग भाग लेते हैं जिन्हें किसी यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेना होता है या फिर किसी प्रोफेशनल ऑर्गनाइज़ेशन के साथ काम करना होता है. दूसरा होता है General Training जिसमें वो लोग भाग ले सकते हैं जो स्कूलिंग, किसी प्रोजेक्ट या फिर प्रवासी के तौर पर जा रहे हो.

IELTS पेपर 2 घंटे 49 मिनट का होता है. इसमें चार सेक्शन होते हैं. Listening, Reading, Writing, Speaking. ये चारो सेक्शन दोनों तरह के पार्ट के लिए अलग-अलग टाइप के होते हैं. इसमें स्कोर 0 से 9 के बीच में होता है. अगर आप विदेश में किसी अच्छी यूनिवर्सिटी जैसे कैम्ब्रिज आदि में एडमिशन लेना चाहते हैं तो आपको 7 से अधिक स्कोर करना होगा.

IELTS की तैयारी कैसे करें? (Strategy for IELTS?)

IELTS की तैयारी कैसे करें? इससे पहले ये सोचें की IELTS की परीक्षा किस सबजेक्ट के लिए होती है. तो इसका सीधा सा जवाब है की ये English के लिए होती है. अब English में ज़्यादातर क्या पूछा जाता है. तो हम सभी जानते हैं की English में हमेशा ग्रामर को चेक किया जाता है.
तो इसकी तैयारी करने के लिए नीचे दिये गए बिन्दुओं पर ध्यान दें.

– इंग्लिश को ठीक ढंग से पढ़ना सीखें.
– अँग्रेजी शब्दों का सही से उच्चारण करना सीखें.
– इंग्लिश Vocabulary को सीखें.
– इंग्लिश Grammar सीखें. एक बेसिक बुक के साथ.
– इंग्लिश पढ़ने और समझने की स्पीड को बढ़ाएँ.

इतना सब करने के बाद आपको लगता है की अब आपको टेस्ट देना चाहिए तो आप IELTS की वेबसाइट पर जाकर स्टडी मटेरियल को देख सकते हैं और वहाँ से प्रैक्टिस कर सकते हैं. IELTS में सब कुछ आपकी practice का खेल है. यदि आपकी इंग्लिश पर अच्छी कमांड है तो आप इस एक्जाम को आसानी से पास कर जाएंगे.

यह भी पढ़ें :

TOEFL की तैयारी कैसे करें, TOEFL की फीस?

SAT क्या है, सैट की तैयारी कैसे करें?

GMAT क्या है, जीमैट की तैयारी कैसे करें?

error: Content is protected !!