Sip Investment Plan: सिप क्या है? एसआईपी के जरिए कैसे होता है म्यूचुअल फंड में निवेश?

SIP का पूरा नाम (sip meaning) है systematic investment plan. अब ये सिस्टमेटिक प्लान है तो सही लेकिन किसके लिए? दरअसल ये जो सिस्टेमेटिक प्लान है ये म्यूचुअल फ़ंड में आपका पैसा इन्वेस्ट करने के लिए है

0 1,564

जो लोग share market शेयर बाजार में सीधे निवेश नहीं करना चाहते या फिर मार्केट में निवेश तो करना चाहते हैं लेकिन वे जोखिम नहीं उठाना चाहते ऐसे में वे म्यूचुअल फ़ंड (Mutual fund) के जरिये मार्केट में इन्वेस्ट करते हैं. म्यूचुअल फंड एक ऐसी सुविधा है जहां आप मार्केट के बड़े लाभ का फायदा अप्रत्यक्ष रूप से उठा सकते हैं. लेकिन जब बात म्यूचुअल फंड के जरिये मार्केट में निवेश करने की आती है तब बात आती है SIP की.

आपने SIP का (what is sip?) नाम Internet, अखबारों और मीडिया में सुना होगा. लेकिन क्या आपको पता है कि कि एसआईपी के जरिये निवेश कितना फ़ायदेमंद है. 

सम्बंधित लेख - पढ़िए

SIP क्या है? (What is sip?)
SIP का पूरा नाम (sip meaning) है systematic investment plan. अब ये सिस्टमेटिक प्लान है तो सही लेकिन किसके लिए? दरअसल ये जो सिस्टेमेटिक प्लान है ये म्यूचुअल फ़ंड में आपका पैसा इन्वेस्ट करने के लिए है. SIP के जरिये आपसे निश्चित समय अंतराल पर पैसे लिए जाते हैं और म्यूचुअल फ़ंड में पैसा इन्वेस्ट किया जाता है.

SIP कैसे काम करता है? (how to start sip investment?)
SIP म्यूचुअल फ़ंड का ही एक हिस्सा है. दरअसल, जब आप म्यूचुअल फ़ंड में इन्वेस्ट करने के लिए form भरते हैं तो आपको Investment option इनवेस्टमेंट के ऑप्शन दिये जाते हैं जिसमें आप SIP को चुन सकते हैं. SIP को चुनने के बाद आपसे समयसीमा के बारे में पूछा जाता है. तो अगर आप salaried person है तो एक माह का अंतराल चुन सकते हैं. वैसे आप इसमें daily, weekly, monthly quarterly investment plan भी चुन सकते हैं.

इसके अलावा mutual fund form भरते समय आपको auto-debt का mandate देना होगा. जिससे तय समय पर आपके अकाउंट से पैसा कट जाए.

SIP में इन्वेस्ट किए पैसे का कैसे उपयोग होता है? (SIP Investment plan?)
SIP में आपके अकाउंट से हर निश्चित अवधि में पैसे कट जाते हैं. इन पैसों का प्रयोग म्यूचुअल फ़ंड खरीदने में किया जाता है. ये म्यूचुअल फ़ंड जिस दिन खरीदें जाते हैं उसी भाव पर आपके नाम पर आते हैं अगर भाव कम हुआ तो ज्यादा म्यूचुअल फ़ंड आपके पास आएंगे और भाव ज्यादा हुआ तो कम म्यूचुअल फ़ंड आपके पास आएंगे. लेकिन आप लगातार इसमें इन्वेस्ट करते रहते हैं तो आपको भाव ज्यादा या कम होने से फर्क नहीं पड़ता ये आपको औसत भाव पर मिल जाते हैं.

SIP में क्यों इन्वेस्ट करें? (Why invest in SIP?)
SIP म्यूचुअल फ़ंड का ही एक हिस्सा है लेकिन इसमें जोखिम म्यूचुअल फ़ंड के बराबर नहीं है. म्यूचुअल फ़ंड में आपको होने वाले फायदे में कभी-कभी थोड़ा नुकसान भी हो सकता है लेकिन SIP में म्यूचुअल फ़ंड के बराबर नुकसान नहीं होता है. यहां प्रॉफ़िट तय होता है.

इसे आप ऐसे भी समझ सकते है जिस तरह RD (Recuring deposit) होता है. उसमें भी आप तय समय पर तय राशि जमा करते हैं और कुछ सालों बाद आपको उस पर रिटर्न मिलते हैं ठीक इसी तरह SIP भी होता है. इसे इनवेस्टमेंट के तौर पर सबसे ज्यादा सेफ माना जाता है.

अगर आप अपना पैसा कहीं इन्वेस्ट ही करना चाहते हैं तो आप SIP में कर सकते हैं. ये एक सेफ इनवेस्टमेंट ऑप्शन हैं. इसके अलावा SIP में इन्वेस्ट करने से पहले एक बार एक्सपर्ट की राय जरूर लें.

नोट: यह लेख आपकी जानकारी बढ़ाने के लिए साझा किया गया है. यदि आप एसआईपी के जरिये निवेश करना चाहते हैं तो एक बार एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.

error: Content is protected !!