आँख से आँसू और शरीर से पसीना क्यों आता है?

इंसान की आँख से आँसू क्यों आते है? (Why tears come?) गर्मियों में शरीर से पसीना क्यों आता है? (Why sweat come from body?) आमतौर पर इनके पीछे जुड़े साइन्स को बहुत ही कम लोग जानते हैं.

मनुष्य के शरीर में कई ऐसी चीजे होती है जिनके पीछे की वजह मनुष्य को पता नहीं होती. जैसे इंसान की आँख से आँसू क्यों आते है? (Why tears come?) गर्मियों में शरीर से पसीना क्यों आता है? (Why sweat come from body?) आमतौर पर इनके पीछे जुड़े साइन्स को बहुत ही कम लोग जानते हैं. अगर आपने कभी ऐसा सोचा है कि हम रोते हैं इसलिए आँखों से आँसू आते हैं और ज्यादा गर्मी पड़ने पर शरीर से पसीना आता है. तो ये सही है लेकिन इसके पीछे जुड़ा क्या साइन्स है? शायद आप इस बात को नहीं जानते होंगे.

आँखों से आँसू क्यों आते हैं? (Why Tears come from eyes?)

आमतौर पर देखा जाता है कि जब इंसान दुखी होता है तो उसकी आँखों से आँसू बहने लगते हैं. लेकिन आँसू आने के पीछे सिर्फ यही कारण नहीं है. जब आपकी आँखों में कुछ कचरा चला जाता है, या फिर वो प्याज काटता है तो भी आपकी आँखों से आँसू आने लगते हैं.

अगर आपकी आँखों में कचरा चला जाता है या फिर कोई खास गंध आपकी आँखों में चली जाती है तब आँसू आते हैं तो इन्हें वैज्ञानिक भाषा में नॉन इमोश्नल आँसू कहते हैं. ये आँखों के सिस्टम के अनुसार होता है. आंखे शरीर का भूत ही नाजुक अंग होता है. अगर कोई चीज चली जाती है तो आँखों से आँसू आ जाते हैं जो आँखों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं. आँसू के जरिये वो कचरा हमारी आँखों से बाहर चला जाता है. कुलमिलाकर इस केस में आंखे अपने आप को असुरक्षित महसूस करने पर आँसू के जरिये अपनी रक्षा करती हैं और आँखों को खराब होने से बचाती है.

दूसरा केस ये है कि जब आप रोते हैं या उदास होते हैं तो आपकी आँखों से आँसू आते हैं. इन्हें क्राईंग आँसू कहते हैं. इंसान के दिमाग में एक लिंबिक सिस्टम होता है जिसमें दिमाग का हाइपोथैलेमस होता है. हाइपोथैलेमस हमेशा नर्वस सिस्टम के सीधे संपर्क में रहता है. इस सिस्टम का न्यूरोट्रांसमिटर संकेत देता है और किसी भावना के अधिक हो जाने पर हम रो पड़ते हैं। इंसान केवल दुख में ही नहीं, बल्कि गुस्सा या डर होने पर भी रोने लगता है.

शरीर से पसीना क्यों आता है? (Why Sweat come from body?)

गर्मियों के दिनों में शरीर में पसीना आना बेहद आम बात है. लेकिन पसीना सिर्फ बाहर के तामपान के बढ़ने पर नहीं होता है. आपने देखा होगा कि जब आप ज्यादा मेहनत करते हैं तो भी आपको पसीना आने लगता है. फिर चाहे वो सर्दियों के दिनों में ही क्यों न हो.


दरअसल जब हमारे शरीर का तापमान सामान्य के मुक़ाबले ज्यादा हो जाता है तो शरीर को सामान्य तापमान पर लाने के लिए शरीर से पसीना निकलता है. शरीर के तापमान बढ़ने पर हमारा दिमाग प्रतिक्रिया करता है और लाखों एक्रिन ग्रंथियों के जरिये पूरे शरीर से पसीना निकलता है ताकि हमारे शरीर का तापमान कम हो सके.

शरीर से पसीना निकलने का सीधा मतलब होता है कि आपके शरीर का तापमान अब बढ़ चुका है. जब आप बीमार हुए होंगे या आपको बुखार आई होगी तब भी आपने देखा होगा कि आपको पसीना आ रहा होगा. या फिर कुछ दवाइयों के सेवन करने के बाद भी पसीना आ जाता है. तो ऐसा इसलिए ही होता है क्योंकि आपके शरीर का तापमान बढ़ जाता है और फिर एक्रिन ग्रंथियां शरीर से पसीना का बहाव करती है और आपके शरीर की गर्मी हवा के साथ मिलकर भाप बनकर उड़ जाती है.

अब आप जान गए होंगे कि शरीर से पसीना और आँखों से आँसू क्यों निकलते हैं और ये हमारे शरीर के लिए कितने जरूरी हैं.

यह भी पढ़ें :

Calcium deficiency disease: कैल्शियम की कमी के लक्षण, जानिए शरीर में कब और किस मात्रा में जरूरी है कैल्शियम

Immunity booster food: शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाते हैं ये फूड

Red moles on body : शरीर पर लाल तिल क्यों होते हैं, लाल तिल का मतलब तथा महत्व

error: Content is protected !!