Browsing Category

धर्म-कर्म

मांं कात्यायनी की कहानी और महत्व, मनचाहा वर देने वाली देवी

नवरात्रि का छठवाँ दिन (navratri 6th day) माँ कात्यायनी (Maa Katyayani) की उपासना का होता है. माँ कात्यायनी माँ पार्वती का दूसरा नाम है. माँ पार्वती के अन्य नाम उमा, काली, गौरी, हेमावाती और ईश्वरी है. इन्हें दुर्गा, शक्ति, भद्रकाली और चंडिका…

माँ कुष्मांडा की कथा और महत्व, सृष्टि और ब्रह्मांड की रचना करने वाली देवी

नवरात्रि का चौथा दिन कुष्मांडा देवी (Kushmanda devi) की उपासना का दिन होता है. कुष्मांडा देवी (maa kushmanda) को सबसे ज्यादा शक्तिशाली और सहनशील माना जाता है. नवरात्रि के चौथे दिन अत्यंत पवित्र मन से कुष्मांडा देवी की पूजा उपासना करनी चाहिए…

Navratri dress colour : नवरात्रि में नौ दिन कौन सा रंग पहने?

नवरात्रि (navratri) नौ दिनों का त्योहार है और ये नौ दिन माँ दुर्गा के नौ स्वरूप की उपासना के दिन होते हैं. इन नौ दिनों (nou din maa ke nou rup) में माँ दुर्गा के अलग-अलग नौ रूप की पूजा की जाती है. माँ दुर्गा के इन नौ रूपों में जितना महत्व…

Navratri : व्रत में फलाहार से मिलेगी भरपूर एनर्जी

शक्ति की भक्ति का पर्व शरदीय नवरात्रि 10 अक्टूबर से शुरू होने जा रहा है. माँ के भक्त पूजा-अर्चना के साथ ही नवरात्रि का व्रत भी रखते हैं. नवरात्रि का व्रत भी हो जाए और आपकी सेहत भी बनी रहे, इसके लिए आवश्यक है कि व्रत के दौरान हेल्दी और…

माँ चंद्रघंटा की कथा और महत्व, महिषासुर का वध करने वाली देवी

नवरात्रि का त्योहार हिन्दू धर्म में काफी धूम-धाम (why is navratri celebrated) से मनाया जाता है. ऐसा नहीं है की इसे सिर्फ हिन्दू या भारतीय लोग ही मनाते हैं कई विदेशी लोग भी नवरात्रि को धूम-धाम से मनाते हैं. नवरात्रि का तीसरा दिन माँ दुर्गा…

नवरात्रि का दूसरा दिन, माँ ब्रह्मचारिणी की कथा और महत्व

नवरात्रि का त्योहार माँ दुर्गा की पुजा अर्चना करने का त्योहार होता है. नवरात्रि के नौ दिनों तक (why is navratri celebrated) माँ दुर्गा के नौ रूपों की पूजा (nine days of navratri) की जाती है. नवरात्रि के दूसरे दिन माँ दुर्गा के दूसरे स्वरूप…

माँ शैलपुत्री की कहानी, महत्व और माता सती का पुनर्जन्म

नवरात्रि भारत में धूम-धाम से (why is navratri celebreted) मनाया जाने वाला त्योहार है. नवरात्रि के नौ दिनों (nind days of navratri) में माँ दुर्गा के नौ रूपों की पूजा होती है. इसलिए हम इसे नवदुर्गा (navdurga) भी कहते हैं. नवरात्रि के दौरान…

Shri Krishna Geeta Gyan: भगवत् गीता की 9 ज्ञान की बातें

श्रीकृष्ण की लीलाओं को जानना हो तो श्रीमद् भागवत् के ( Bhagavata Purana) पास जाना चाहिए और यदि श्रीकृष्ण के पास जाना हो तो गीताकार श्रीकृष्ण की (geeta shri krishna) गीता के पास जाना चाहिए.

Holi story : भक्त प्रहलाद की कथा और होलिका दहन की कहानी

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार होली मनाने के पीछे का कारण यह है कि आदि काल में हिरण कश्यप नाम का एक क्रूर राक्षस राजा था.

होली की परंपरा: होलाष्टक में क्यों नहीं किए जाते शुभ कार्य?

होली पर्व से एक सप्ताह पहले होलाष्टक लग जाता है. होलाष्टक लगते ही सारे उत्सव रुक जाते हैं और शुभ कार्यों को कुछ देर के लिए स्थगित कर दिया जाता है.
error: Content is protected !!