Browsing Category

धर्म-कर्म

Osho birthday day 2018: “शिव सूत्र: चैतन्य ही मैं हूं और सब ‘पर’ है, पराया है- ओशो

इस जगत में, सिर्फ चैतन्य ही तुम्हारा अपना है. आत्मा का अर्थ होता है, अपना; शेष सब पराया है. शेष कितना ही अपना लगे, पराया है. मित्र हों, प्रियजन हों, परिवार के लोग हों, धन हो, यश, पद-प्रतिष्ठा हो, बड़ा साम्राज्य हो, वह सब जिसे तुम कहते हो…
Read More...

कैसे और कितनी उम्र में हुई थी श्रीकृष्ण की मृत्यु?

विष्णु पुराण के अनुसार महाभारत में कौरव वंश का नाश हुआ और उसके बाद अपने 100 बच्चों की मृत्यु से आहत गांधारी ने श्रीकृष्ण को श्राप दिया कि जैसे मेरे 100 पुत्र मरे हैं वैसे ही तुम्हारे पुत्र मरेंगे और कुल का नाश होगा.
Read More...

अनोखी है गुरु नानक देव की कहानी

दुनिया को प्रेम और मानवता का संदेश देने वाले सिख धर्म के पहले गुरु नानक देव जी का जन्मोत्सव सिख समुदाय प्रकाश पर्व के रूप में मनाता है. सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव जी पंजाब के तलवंडी में कार्तिक पूर्णिमा को एक किसान परिवार में जन्में…
Read More...

मंगलवार को प्रभावकारी है हनुमानजी की भक्ति

"संकट कटे, मिटे सब पीरा, जो सुमरे हनुमत बलवीरा" यदि आप भी जीवन के किसी कठिनतम वक्त से गुजर रहे हैं, कोई न कोई समस्या आपको हमेशा घेरे रहती है, तो संकट मोचन बजरंगबली की शरण में जाएं. आपके हर संकट का निवारण राम भक्त हनुमानजी करेंगे. अपनी…
Read More...

दुनिया भर में चर्चित हैं पाकिस्तान के हिंदू ये मंदिर

हिन्दू धर्म और धार्मिक स्थलों की चर्चा होते ही हमारी आंखों के सामने भारत भर के हज़ारों प्रसिद्ध तीर्थ और मंदिरों के दृश्य आ जाते हैं. आप में से शायद कम ही लोगों को जानकारी होगी कुछ अन्य देशों में भी बहुत फेमस हिन्दू तीर्थ स्थल हैं. शायद आपको…
Read More...

दीवाली 2018: धन, वैभव पाने शुभ मुहूर्त में करें लक्ष्मी पूजन

सनातन धर्म में तम को हरकर उजाला फ़ैलाने वाले पर्व को 'दीपावली' के रूप में मनाया जाता है. दीपों के इस पर्व से पूरा देश जगमगाता है. पुराणों के मुताबिक श्रीराम लंकापति रावण को पराजित कर और अपना वनवास समाप्त कर अयोध्या वापस लौटे, तो…
Read More...

Diwali 2018: यश प्राप्ति के लिए करें राशि अनुसार दीपावली पूजन

दिवाली को सिद्धि प्राप्ति का पर्व भी माना जाता है और इस दिन यदि साधक अपनी राशि के अनुसार पूजन करते हैं तो मन चाही सिद्धि पा सकते हैं. सभी राशि के जातकों के लिए शास्त्रों में अलग-अलग सामग्री से पूजन विधि बताई गईं हैं. हालांकि दिवाली पर गणेश…
Read More...

दीवाली 2018: कब और कहां जलाएं दीप

दीपावली दीपों का पर्व है और इस दिन पृथ्वी पर माता लक्ष्मी का आगमन होता है. मां को प्रसन्न कर उनकी कृपा पाने के लिए दीप जलाए जाते हैं. दिवाली पर माता के पूजन का विधान है और सभी उसका पालन भी करते हैं, लेकिन आमतौर पर लोग किस स्थान पर दीपक रखे…
Read More...

दिवाली 2018: सुख-समृद्धि दायक है दीपावली पंचमहापर्व

सुख व समृद्धि का मुख्य पर्व है दीपावली पंचमहापर्व. कार्तिक मास में आने वाले इस पंच महापर्व में धनत्रयोदशी, नरक चतुदर्शी, दीपावली, गोवर्धन और भैयादूज त्यौहार शामिल हैं. हमारे जीवन में पंचमहापर्व का महत्व उतना ही है, जितना की पंच तत्व और पंच…
Read More...

दिवाली 2018: राशि अनुसार करें धनतेरस का पूजन व खरीदी

धनतेरस 5 नवंबर को है और इसी दिन से दिवाली की भी शुरुआत हो जाती है. कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को यह पर्व मनाया जाता है. धनतेरस से कई पौराणिक कथाएं भी जुड़ी हुई हैं. इसी दिन समुद्र मंथन से भगवान धनवंतरि अमृत कलश के साथ प्रकट…
Read More...