स्वप्नफल ज्योतिष: कौन से सपने देंगे कैसा फल?

सपने आना एक आम बात है. आमतौर पर लोग सपनों को नजर अंदाज कर देते हैं लेकिन सपने आने पर ये आपको कुछ इशारा देते हैं. ज्योतिष के अनुसार आपको आने वाले हर सपने का कुछ न कुछ फल होता है.

ज्योतिष में संतान योग: कुंडली में संतान बाधा, संतान प्राप्ति के उपाय

किसी भी व्यक्ति की कुंडली में संतान भाव देखने के लिए उस व्यक्ति की कुंडली का पांचवां भाव देखा जाता है. पांचवे भाव में बैठा ग्रह तथा उस ग्रह का स्वामी संतान के संबंध में विशेष जानकारी देता है.

कुंडली में धनवान बनने के योग कौन से होते हैं?

ज्योतिष के हिसाब से देखा जाए तो आपके पास कितना धन होगा या आप कितने धनवान होंगे ये आपकी कुंडली में ही लिखा होता है. आपकी कुंडली में ग्रहों की स्थिति ये बताती है कि आप धनवान होंगे या नहीं.

नक्षत्र क्या होते हैं, नक्षत्रों के नाम एवं उनके प्रभाव

नक्षत्र तारों का समूह होता है. ज्योतिष भविष्य की गणना करने के लिए आकाश की सहायता लेते हैं. पूरे आकाश को हम 360 डिग्री का मानते हैं. अगर इसे 12 हिस्सों में बांटते हैं तो 12 राशियाँ बन जाती हैं.

राशि के अनुसार कौन से करियर का करें चुनाव?

ज्योतिष के अनुसार हमारी ज़िंदगी पर ग्रहों का बड़ा प्रभाव होता है. हमारी राशि के स्वामी ग्रह हमारी शिक्षा और हमारी बुद्धि पर प्रभाव डालते हैं. अगर हम उनके अनुसार किसी करियर का चयन करते हैं तो आगे चलकर अच्छी नौकरी की संभावना बनती है.

राशि अनुसार चुनें पार्टनर, इन राशियों के लोग होते हैं परफेक्ट मैच

हर व्यक्ति चाहता है की शादी होने के बाद वो सुखी रहे. उसे एक अच्छा पार्टनर मिले. वो पार्टनर ऐसा हो जिसके साथ वो ज़िंदगी बिता सके. आप अपने लिए एक अच्छे पार्टनर का चुनाव राशि के आधार पर भी कर सकते हैं.

ज्योतिष में चन्द्र ग्रह का महत्व और कुंडली के 12 भावों में चन्द्र का महत्व

चंद्रमा भले ही वैज्ञानिक दृष्टि से एक उपग्रह हो लेकिन ज्योतिषी इसे ग्रह मानते हैं और इसे स्त्री ग्रह कहा जाता है. चंद्रमा को मन का कारक माना गया है. इसकी वजह से हमारा मन स्थिर और चंचल होता है.

ज्योतिष में सूर्य ग्रह का महत्व और कुंडली के 12 भावों में सूर्य का महत्व

सौरमंडल के केन्द्र में स्थित सूर्य पृथ्वी से काफी करीब है. सूर्य के कारण ही पृथ्वी पर जीवन सुचारु रूप से चल रहा है. ज्योतिष में सूर्य को एक क्रूर ग्रह का दर्जा दिया गया है लेकिन अगर ये किसी जातक पर प्रभावी होता है तो उसका समय भी बदल सकता…

ज्योतिष में केतु ग्रह का महत्व और कुंडली के 12 भावों में केतु का महत्व

ज्योतिष में केतु एक बहुत ही महत्वपूर्ण ग्रह है. इसे एक छाया ग्रह माना जाता है. ये अपने साथ बैठे ग्रह के अनुसार ही फल देता है.

ज्योतिष में शनि ग्रह का महत्व और कुंडली के 12 भावों में शनि का महत्व

सौरमंडल का एक सबसे अलग ग्रह है शनि जिसके चारो ओर एक छल्लानुमा आकृति है. शनि को ज्योतिष में न्याय का देवता और कम का फल दाता कहा जाता है. यानि जैसे आपने कर्म किए है उसके अनुसार शनि आपको फल देता है.
error: Content is protected !!