Browsing Tag

#metoo india

#metoo: बदलेगी समाज की पुरुष प्रधान सोच?

एक दौर ऐसा भी था जब कला माध्यमों में महिलाओं की भागीदारी लगभग न के बराबर थी. नगण्यता के इस दौर को उन्नीसवीं शताब्दी के दो प्रमुख प्रतिभाशाली कलाकारों के काम को देखकर समझा जा सकता है. ये कलाकार थे महान चित्रकार राजा रवि वर्मा और दूसरे थे गोविंदराव फालके, जिनको भारतीय सिनेमा का पितामह कहा जाता है.
Read More...
error: Content is protected !!