Ton in AC: कितने टन का एसी खरीदें, एसी में टन का क्या मतलब है?

अक्सर लोग एसी को चुनते वक़्त 1 टन, 2 टन को लेकर ज्यादा कनफ्यूज रहते हैं. एसी में टन का क्या मतलब होता है (What is ton in ac?) और एक अच्छा एसी किस तरह चुनते हैं? (how to purchase best ac?)

गर्मियों के मौसम में एसी की बिक्री खूब होती है. एसी खरीदते समय लोग काफी कनफ्यूज होते हैं क्योंकि एसी खरीदते समय उनसे कई सवाल पूछे जाते हैं जिनका जवाब वो दे नहीं पाते. अक्सर लोग एसी को चुनते वक़्त 1 टन, 2 टन को लेकर ज्यादा कनफ्यूज रहते हैं. एसी में टन का क्या मतलब होता है (What is ton in ac?) और एक अच्छा एसी किस तरह चुनते हैं? (how to purchase best ac?) इस तरह के सवाल आपको परेशान करते हैं?

एसी के प्रकार (Types of AC)

कई लोग एसी को टन देखकर खरीदते हैं लेकिन एसी टन के अलावा भी अलग-अलग प्रकार की आती है. एसी मुख्यतः दो प्रकार की होती है. 1) स्पिलट एसी 2) विंडो एसी

स्पिलट एसी क्या होती है? (What is split AC?)

स्पिलट एसी (Split AC) एक एडवांस वर्जन है जिसे दो हिस्सों में बनाया जाता है. इसे खिड़की वाले और बिना खिड़की वाले दोनों तरह के घरों में लगाया जा सकता है. इसके दो हिस्से होते हैं. इसका एक हिस्सा आपके कमरे में लगा होता है जो ठंडी हवा देता है और दूसरा हिस्सा कमरे से बाहर होता है जिसे आप अपनी छत पर या दीवार पर बाहर की ओर लगा सकते हैं. ये गर्म हवा को बाहर फेंकने का काम करता है.

विंडो एसी क्या होता है? (What is Window AC?)

इसके नाम से ही पता लगता है की ये खिड़की पर लगाया जा सकता है. आपने कई घरों में देखा होगा की उनकी खिड़की पर एसी लगा होता है कूलर की तरह. इस एसी में सिर्फ एक ही हिस्सा होता है. ये कूलर की तरह ही होता है. इसमें ठंडी हवा देने वाले हिस्से को अंदर रखा जाता है और बाहर खिड़की पर लगाया जाता है.

एसी में टन का क्या मतलब होता है? (What is ton in AC?)

एसी खरीदते वक़्त आपसे दुकानदार या सेलसमेन ने पूछा होगा की आपको कितने टन का एसी चाहिए. इस सवाल पर काफी लोग सोच में पड़ जाते हैं लेकिन आपको एसी खरीदने से पहले ये तय करना जरूरी है की आपको कितने टन एसी की जरूरत है.
एसी में टन का मतलब ठंडक से और आपके रूम के साइज़ से होता है. 1 टन एसी का मतलब होता है की ये इतनी बर्फ के बराबर ठंडक देगा. लेकिन इसी के साथ ये कम साइज़ के कमरे में ठंडक देगा. अगर कमरा ज्यादा बड़ा है तो 1 टन एसी अपना काम ठीक से नहीं करेगा.

कितने टन का एसी खरीदना चाहिए? (Ton in AC and its meaning)

आपको अपने कमरे के साइज़ के हिसाब से एसी की ख़रीदारी करनी चाहिए.

– आपका कमरा 100 वर्गफीट का है तो आपको 1 टन एसी खरीदना चाहिए.
– 100 से 200 वर्गफीट का कमरा है तो आपको 2 टन एसी खरीदना चाहिए.
– 200 फीट से बड़े कमरे के लिए आपको 3 टन का एसी खरीदना चाहिए.

एसी में स्टार रेटिंग (Star rating in AC)

एसी में स्टार रेटिंग का भी बड़ा महत्व होता है. एसी खरीदते वक़्त यदि आपका बजट कम है तो आप कम टन और कम रेटिंग वाले एसी की तरफ ही जाएंगे. लेकिन ऐसा करना आपको बाद में महंगा पड़ सकता है. वैसे एसी में आने वाली स्टार रेटिंग का कूलिंग से कोई संबंध नहीं है. इसका सीधा संबंध आपके एसी के द्वारा किए जाने वाली बिजली खपत से है. एसी में आप जितने कम स्टार वाला एसी लेंगे आपका एसी उतनी ही ज्यादा बिजली खपत करेगा. एसी में 1 से 5 स्टार तक की रेटिंग आती है. अगर अच्छा और कम खपत वाला एसी चाहिए तो कम से कम 3 स्टार रेटिंग तक का एसी लेना चाहिए.

सही और अच्छा एसी कैसे खरीदें? (How to purchase best AC in budget?)

सही और अच्छा एसी खरीदने के लिए आपको पहले इस पर थोड़ी रिसर्च करने की जरूरत है. इसके अलावा आपको कुछ सवाल खुद से ही पूछने हैं.

– एसी में आप किस ब्रांड को खरीदना चाहते हैं. मार्केट में एसी के कई ब्रांड है जैसे Voltas, LG, Hitachi, Samsung, Blue star आदि.
– इसके बाद आपको ये देखना है की आप जिस जगह पर एसी लगवा रहे हैं उस जगह का साइज़ क्या है. फिर उसके हिसाब से आप ये तय कर पाएंगे की आपको कितने टन का एसी खरीदना है.
– इसके बाद आपको एसी खरीदने के लिए अपना बजट तय करना है. आपका बजट जितना होगा उसके हिसाब वाला स्टार रेटिंग वाला एसी आप खरीद पाएंगे.

इस तरह आप एक अच्छे एसी का चुनाव कर सकते हैं लेकिन ध्यान रखें की कम स्टार रेटिंग वाला एसी अगर आप खरीदते हैं तो ये बाद में बिजली की खपत ज्यादा करेगा तो जो पैसे आपने एसी खरीदते वक़्त बचाए हैं उससे ज्यादा के आपको बिजली के बिल भरना पड़ जाएंगे. इसलिए एसी का चुनाव करते वक़्त बजट से ज्यादा स्टार रेटिंग को महत्व दें.

यह भी पढ़ें :

BBT Cars : बीबीटी क्या है, बीबीटी की सफलता की कहानी

NavIC : इसरो का नाविक क्या है, इसके क्या फायदे हैं?

RAM और ROM क्या होते हैं, इनमें क्या अंतर है?

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!