कैसे करें कॉलेज स्टडी के साथ आईएएस एग्जाम की तैयारी

देश की सबसे प्रतिष्ठित सेवाओं में अहम मानी जाने वाली सेवा है आईएएस (IAS). हजारों प्रतिभागी प्रति वर्ष इस सेवा में शामिल होने के लिए तैयारी करते हैं, लेकिन गिने-चुने ही एग्जाम तक पहुंच पाते हैं. यदि आप भी आईएएस बनने का सपना देख रहे हैं तो कहां से और कैसे इसकी तैयारी करें यह जानना बहुत ही ज़रूरी है. 

0 363

देश की सबसे प्रतिष्ठित सेवाओं में अहम मानी जाने वाली सेवा है आईएएस (IAS). हजारों प्रतिभागी प्रति वर्ष इस सेवा में शामिल होने के लिए तैयारी करते हैं, लेकिन गिने-चुने ही एग्जाम तक पहुंच पाते हैं. यदि आप भी आईएएस बनने का सपना देख रहे हैं तो कहां से और कैसे इसकी तैयारी करें यह जानना बहुत ही ज़रूरी है. 

कॉलेज में पढ़ाई करते हुए करें तैयारी 

सम्बंधित लेख - पढ़िए

कॉलेज में पढ़ाई करने ही आप यूपीएससी की भी तैयारी के लिए वक्त निकाल सकते हैं. कॉलेज के सिलेबस को पूरा करने के बाद जो भी टाइम आपको रोजाना मिले उसमे आप आईएएस परीक्षा की तैयारी क्र सकते हैं. इसके लिए ज़रूरी है कि आप दोनों सिलेबस को पूरा करने के लिए टाइम टेबल तैयार करें.

टाइम-टेबल का पालन करने से आप कॉलेज और आईएएस दोनों ही पढ़ाई को सिलसिलेबार तरीके से कर सकेंगे. टाइम-टेबल होने से आप अपने वक्त का ज्यादा उपयोग कर सकते हैं. आईएएस परीक्षा में भाग लेने से पहले मॉक टेस्ट को गंभीरता के साथ लें, क्यों कि मॉक टेस्ट देने के बाद आप अपनी तैयारी का अंदाज़ा लगा सकते हैं. 

स्नातक के सब्जेक्ट्स को करें शामिल 

स्नातक के दौरान ही सिविल सेवा परीक्षा सिलेबस के मुताबिक स्टूडेंट्स अध्ययन शुरू कर सकते हैं. स्नातक के स्टूडेंट्स के लिए सबसे बड़ा लाभ है कि स्नातक में लिए हुए विषयोन को ही सिविल सेवा परीक्षा के एक विषय के रूप में ले सकते हैं. ऐसे में आरम्भ से ही स्नातक के दौरान लिए गए विषयों का गंभीरता से अध्ययन करें.

ग्रुप डिस्कशन पर दें ध्यान (Group discussion )

आईएएस एग्जाम की तैयारी में ग्रुप डिस्कशन सबसे ज्यादा मददगार साबित होता है. रोजाना आपको कम से कम एक घंटे ग्रुप डिस्कशन को देना चाहिए. ग्रुप डिस्कशन में जिन विषयों पर चर्चा की जाती है वे अधिक समय तक यद् रहते हैं. इसके साथ ही विषय को लेकर डाउट भी क्लीयर हो जाते हैं. 

आयु सीमा जानना भी है ज़रूरी 

किसी भी परीक्षा में बैठने के लिए एक आयु सीमा तय की जाती है. ठीक इसी तरह से आईएएस पद के लिए आवेदक की न्यूनतम उम्र 21 और अधि‍कतम 32 साल तय है. ऐसे में यदि आप कॉलेज के फाइनल ईयर में हैं और आपकी उम्र 21 साल हो चुकी है तो आपको आईएएस परीक्षा में बैठने के ज्यादा मौके मिलेंगे.

इन बातों का भी रखें ख्याल 

आईएएस की तैयारी करते वक्त आपको रोजाना अखबार और मैग्जीन पढ़नी चाहिए. इससे आपको करंट अफेयर्स की जानकारी मिलती रहेगी. इससे आपको अलग से करंट अफेयर्स की तैयारी नहीं करनी होगी. आईएएस के लिए उन्ही विषयों को चुनें जिन विषयों पर आपकी पकड़ मजबूत हो. इससे तैयारी में काफी आसानी होगी.

(नोट: यह लेख आपकी जागरूकता और समझ बढ़ाने के लिए साझा किया गया है. अधिक जानकारी के लिए किसी करियर काउंसलर की सलाह ज़रूर लें.)