भारत में लॉंच हुआ CNG Tractor, किसानों की होगी बड़ी बचत

केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने भारत में सीएनजी ट्रैक्टर लॉंच किया है. ये देश का पहला ट्रैक्टर (India’s First CNG Tractor) होगा जो सीएनजी से चलेगा. अभी तक ट्रैक्टर डीजल से चलते थे.

भारत में पेट्रोल और डीजल के दाम तेजी से बढ़ रहे हैं जिनका सीधा असर लोगों के जेब पर पड़ रहा है. पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने से एक तरफ जहां आम जनता परेशान है वहीं किसान भी इससे खूब परेशान हैं क्योंकि खेती करने में वे ट्रैक्टर की सहायता लेते हैं और ट्रैक्टर डीजल से चलता है जो इस समय काफी महंगा है. ऐसे में फसलों की लागत काफी ज्यादा हो जाती है. सरकार ने किसानों को राहत देते हुए सीएनजी ट्रैक्टर लॉंच (CNG Tractor Launch) किया है जो किसानों के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा.

केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने भारत में सीएनजी ट्रैक्टर लॉंच किया है. ये देश का पहला ट्रैक्टर (India’s First CNG Tractor) होगा जो सीएनजी से चलेगा. अभी तक ट्रैक्टर डीजल से चलते थे. इस ट्रैक्टर को रॉमैटो टेक्नो सोल्यूशंस और टोमासेटो एकाइल इंडिया नाम की कंपनी ने मिलकर बनाया है. ये ट्रैक्टर किसानों को उनकी लागत घटाकर उनकी आय बढ़ाने में मदद करेगा. इस ट्रैक्टर की मदद से किसान हर साल ईधन के रूप में लगने वाले पैसे में कमी कर पाएंगे. जिससे उनका जीवन स्तर सुधारने में मदद मिलेगी.

सीएनजी ट्रैक्टर के फायदे (CNG Tractor Benefits)

सीएनजी ट्रैक्टर के कई सारे फायदे रहेंगे.
– सीएनजी ट्रैक्टर प्रदूषण को नियंत्रित रखेगा.
– सीएनजी ट्रैक्टर में कार्बन उत्सर्जन कम होगा.
– डीजल ट्रैक्टर की तुलना में ये 70 प्रतिशत कम प्रदूषण करेगा.
– पेट्रोल और डीजल के मुक़ाबले सीएनजी काफी सस्ती है जिस वजह से किसानों को ट्रैक्टर से काम करवाने पर उतनी लागत नहीं लगेगी जितनी डीजल ट्रैक्टर से लगती है.
– सीएनजी टैंक टाइट सील वाले होते हैं जिससे उन्हें रिफ्युल करते वक़्त विस्फोट या आग का खतरा नहीं रहेगा.
– ट्रैक्टर ज्यादा लंबे समय तक चलेगा.
– सीएनजी ट्रैक्टर का माइलेज डीजल ट्रैक्टर के मुक़ाबले ज्यादा होगा.
– किसानों के पैसों की बचत होगी.

सीएनजी ट्रैक्टर से लोगों को रोजगार मिलेगा

सीएनजी ट्रैक्टर से एक तरफ किसानों की लागत तो बचेगी ही साथ ही सरकार अब ये प्लान बना रही है कि डीजल ट्रैक्टर के इंजन को भी सीएनजी ट्रैक्टर में परिवर्तित किया जा सके. ताकि जिन लोगों के पास डीजल ट्रैक्टर पहले से हैं वे भी सीएनजी का उपयोग कर सके. डीजल ट्रैक्टर को सीएनजी में बदलने के लिए सरकार सीएनजी तकनीक से संबंधी केंद्र खोलेगी जिस पर बड़े पैमाने पर इस काम को किया जाएगा. इस काम की वजह से कई लोगों को रोजगार मिलेगा.

योजना के मुताबिक पहले चरण में शहरों में सिटी बस, टैक्सी, कार, स्कूटर, मोटरसाइकल को वैकल्पिक ईधन पर लाया जाएगा. इसके बाद अंतरराज्यीय सार्वजनिक बस सेवा व ट्रकों को वैकल्पिक ईधन पर बदला जाएगा. सीएनजी लोगों के लिए एक सस्ता विकल्प होगा और इसकी वजह से ईधन पर होने वाला खर्च काफी कम हो जाएगा. वर्तमान में सीएनजी का दाम 42 रुपये है वहीं पेट्रोल का दाम 90 रुपये से ज्यादा है. ऐसे में यदि सीएनजी का चलन तेजी से हो जाता है तो आम लोगों को ईधन पर होने वाले खर्च में बहुत राहत मिलेगी.

यह भी पढ़ें :

Vehicle Owner Details : गाड़ी के नंबर से कैसे जानेंं ऑनलाइन गाड़ी मालिक का नाम

Gas Booking IVRS Number : किसी भी कंपनी का एलपीजी सिलेन्डर कैसे बुक करें?

Speed Post कैसे करें, Speed Post Track कैसे करें?

error: Content is protected !!