कितने प्रकार के होते हैं म्‍यूचुअल फंड?

यदि आप म्‍यूचुअल फंड में निवेश करने का मन बना रहे हैं तो इन्वेस्ट के पहले जान लें कि म्‍यूचुअल फंड कितने प्रकार के होते हैं और आप कैसे इससे पैसा कमा सकते हैं. आपको किस म्‍यूचुअल फंड में पैसा लगाना ठीक रहेगा और कैसे उससे कमाई कर सकते हैं. यह सारी जानकारी होना बहुत ज़रूरी है. 

0 308

यदि आप म्‍यूचुअल फंड में निवेश करने का मन बना रहे हैं तो इन्वेस्ट के पहले जान लें कि म्‍यूचुअल फंड कितने प्रकार के होते हैं और आप कैसे इससे पैसा कमा सकते हैं. आपको किस म्‍यूचुअल फंड में पैसा लगाना ठीक रहेगा और कैसे उससे कमाई कर सकते हैं. यह सारी जानकारी होना बहुत ज़रूरी है. 

जाने म्‍यूचुअल फंड के प्रकार 

सम्बंधित लेख - पढ़िए

म्‍यूचुअल फंड के मुख्य रूप से सात प्रकार होते हैं. हालांकि सबसे अधिक चर्चित सिर्फ पांच ही प्रकार के फंड हैं. म्‍यूचुअल फंड के मुख्य सात प्रकारों में इक्विटी फंड, ग्रोथ फंड, बैलेंस या हाइब्रिड फंड, डेब्‍ट फंड, मनी मार्केट फंड, गिल्‍ड फंड और लिक्विड फंड शामिल है. 

इक्विटी फंड्स

इक्विटी फंड्स से अधिकांश कंपनियों के शेयर में निवेश होता है. इस फंड का काम संपदा निर्माण या फिर पूंजी वृद्धि करना होता है. इसमें उच्च लाभ देने की अच्छी संभावनाएं होती हैं साथ ही लंबे समय के लिए निवेश करने वालों के लिए इनको अबसे बेहतर माना जाता है. 

बैलेंस या हाइब्रिड फंड

बैलेंस फंड को आमतौर पर हाइब्रिड फंड के नाम से भी जाना जाता है. जोखिम कम होने के कारण इस फंड में लगाई गई राशि के सेव रहने की गारंटी होती है. बैलेंस फंड पूर्ण रूप से कॉमन स्‍टॉक और अल्‍पावधि बांड होता है. इस नज़रिय से देखें तो यह फंड काफी लाभदायक है. 

समझें क्या है डेब्ट फंड 

डेब्‍ट फंड सरकारी और कंपनियों की फिक्स-इनकम सिक्योरिटीज में निवेश करते हैं. इनमें कॉर्पोरेट बॉन्ड, सरकारी सिक्योरिटीज, ट्रेजरी बिल, मनी मार्केट इंस्टूमेंट्स सहित कई अन्य डेब्ट सिक्योरिटीज शामिल हैं.

डेब्ट फंड खरीदने का मतलब है कि आप सामने वाली कंपनी को लोन दे रहे हैं. सरकारी के साथ ही निजी कंपनियां विभिन्न कार्यक्रमों को चलाने के लिए लोन लेने के लिए बिल और बॉन्ड देती हैं.

मनी मार्केट फंड

जो लोग कम समय या फिर जल्द रिटर्न चाहते हैं उनके लिए मनी मार्केट सबसे सही म्यूचुअल फंड है. यह फंड अल्पकालिक फिक्स्ड आय प्रतिभूतियों में इन्वेस्ट का सही जरिया माना जाता है. मनी मार्केट फंड सरकारी बांड, ट्रेजरी बिल, बैंकरों की स्वीकृति, वाणिज्यिक पत्र और जमा प्रमाण पत्रों में निवेश करते हैं.

हालांकि अन्य म्यूचुअल फंड्स की तुलना में मनी मार्केट सुरक्षित निवेश तो है लेकिन दूसरे म्यूचुअल फंड्स के मुकाबले इसमें रिटर्न कम है.

सबसे सेव है गिल्ट फंड 

यदि आप पहली बार म्यूचुअल फंड में निवेश कर रहे हैं या फिर बहुत अधिक इसके बारे में जानकारी नहीं रखते तो गिल्‍ट फंड पर भरोसा कर सकते हैं. दूसरे फंड्स की तुलना में इसे सबसे अधिक सुरक्षित माना जाता है.

कंपनी निवेशकों से लिया गया सारा पैसा सरकार और सरकारी योजनाओं में लगाया जाता है. सरकार का बैकअप रहने से इस फंड में लगा पैसा डूबने का खतरा न के बराबर भी नहीं रहता है.

कम समय में अच्छा रिटर्न देगा लिक्विड 

जो भी निवेशक कम समय में बहुत अच्छा रिटर्न चाहते हैं वो लिक्विड फंड में अपना पैसा इनवेस्ट कर सकते हैं. लिक्विड फंड के माध्यम से टी-बिलों और सीपी जैसे अल्‍पकालिक साधनों में इन्वेस्ट किया जाता है. 

ग्रोथ फंड में है जोखिम 

ग्रोथ फंड में जोखिम ज्यादा है लेकिन यह एक ऐसा फंड है जिसकी सहायता से अधिकतम रिटर्न प्राप्‍त करने का प्रयास भी किया जाता है. मार्केट में सबसे अधिक ग्रोथ करने वाली कंपनियों में इसके अंतर्गत पैसा इन्वेस्ट किया जाता है. 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!