IAS कैसे बनें, UPSC Exam Pattern और योग्यता क्या है?

IAS कैसे बने (How to become IAS officer) ये सवाल तो सभी के मन में रहता है. IAS बनने के लिए आपको सबसे पहले UPSC Exam देना होता है जो देश की सबसे टफ और प्रतिष्ठित एग्जाम है. इसमें देशभर से लाखों उम्मीदवार आवेदन करते हैं. देश में कई उम्मीदवार इस एग्जाम को क्रेक करने का सपना संजोए हुए होते हैं. UPSC Exam को क्रेक करना कोई आसान बात नहीं है. ये एक कड़ी तपस्या है जिसका समय आने पर ही आपको फल मिलता है.

0 167

IAS कैसे बने (How to become IAS officer) ये सवाल तो सभी के मन में रहता है. IAS बनने के लिए आपको सबसे पहले UPSC Exam देना होता है जो देश की सबसे टफ और प्रतिष्ठित एग्जाम है. इसमें देशभर से लाखों उम्मीदवार आवेदन करते हैं. देश में कई उम्मीदवार इस एग्जाम को क्रेक करने का सपना संजोए हुए होते हैं. UPSC Exam को क्रेक करना कोई आसान बात नहीं है. ये एक कड़ी तपस्या है जिसका समय आने पर ही आपको फल मिलता है.

क्या है यूपीएससी एग्जाम (What is UPSC Exam)

सम्बंधित लेख - पढ़िए

UPSC Exam देशभर में IAS, IPS, IRS, IFS, NDA, CDS जैसे लगभग 24 पदों के लिए की जाती है. यूपीएससी का फुलफॉर्म यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (Union Public Service Commission) होता है और यही इसे हर साल आयोजित करवाता है. इस एग्जाम को पास करने के बाद देश के बड़े-बड़े अधिकारी पदों पर उम्मीदवारों की नियुक्ति होती है.

यूपीएसी एग्जाम पैटर्न (UPSC Exam pattern)

यूपीएससी एग्जाम तीन चरणों में होती है.

1. प्रारंभिक परीक्षा (Pre Exam)

प्रारंभिक यानि प्री एग्जाम इस एग्जाम का पहला चरण है जिसमें दो पेपर होते हैं. इस एग्जाम ऑब्जेटिक्व पूछे जाते हैं जिसमें हमे एक सवाल के चार जवाब दिए जाते हैं. इसमें से हमें एक सही जवाब को चुनना होता है। इस परीक्षा में पहला पेपर होता है सामान्य अध्ययन का जिसमें 2-2 अंकों के 100 प्रश्न होते हैं तथा दूसरा पेपर CSAT का होता है जिसमें 2.5-2.5 अंकों के 80 प्रश्न होते हैं। इन दोनों पेपर में ही निगेटिव मार्किंग होती है.

सामान्य अध्ययन के पेपर में आपसे निम्न विषयों से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैंः

-करंट अफेयर्स
-सामान्य विज्ञान
-भारत का इतिहास
-पर्यावरण-जलवायु परिवर्तन, जैव विविधता, पर्यावरण पारिस्थिकी,
-भारतीय राजनीति और शासन-संविधान, राजनीतिक प्रणाली, पंचायती राज आदि,
-विश्व और भारतीय भूगोल- अधिकारों के मुद्दें, भारत और दुनिया के आर्थिक व भौतिक भूगोल
-सामाजिक विकास और आर्थिक- सामाजिक क्षेत्र की पहल, सतत विकास, समावेश, जनसांख्यिकी और गरीबी

दूसरा पेपर CSAT यानि सिविल सेवा अभिवृत्ति परीक्षा (CIVIL SERVICES APTITUDE TEST) में आपसे निम्न विषयों पर प्रश्न पूछे जाते हैं

-समस्या को हल करना और निर्णय लेना (PROBLEM SOLVING OR DECISION MAKING)
-सामान्य मानसिक योग्यता (GENERAL MENTAL ABILITY)
-समझ (COMPREHENSION)
-डेटा व्याख्या (DATA INTERPRETATION)
-विश्लेषणात्मक क्षमता और तार्किक तर्क (ANALYTICAL & LOGICAL REASONING)
-संचार कौशल सहित पारस्परिक कौशल (INTERPERSONAL SKILLS INCLUDING COMMUNICATION SKILLS)

2. मुख्य परीक्षा (Mains Exam)

प्रारंभिक परीक्षा को क्वलीफाई करने के बाद ही उम्मीदवार मुख्य परीक्षा दे सकता है। मेंस परीक्षा पूरी तरह से लिखित होती है। इसमें आपको प्रश्न दिए जाते हैं जिनके उत्तर आपको वर्णनात्म तरीके से लिखना होते हैं. इनमें हर प्रश्न की शब्द सीमा अलग-अलग होती है. इस परीक्षा में सफल होने के लिए आपकी लेखन शैली अच्छी होनी चाहिए. इस परीक्षा में 7 पेपर होते हैं जिनमें 2 वैकल्पिक पेपर होते हैं. इनके विषय आप अपनी मर्जी से चुन सकते हैं. मेंस में निम्न पेपर होते हैं

पेपर 1 – निबंध
पेपर 2 -सामान्य अध्ययन 1 (संस्कृति और भारतीय विरासत, विश्व का इतिहास और भूगोल)
पेपर 3- सामान्य अध्ययन 2 (संविधान, प्रशासन, राजनीति, सामाजिक न्याय तथा अंतराष्ट्रीय संबंध)
पेपर 4- सामान्य अध्ययन 3 (आर्थिक विकास, जैव विविधता, पर्यावरण, प्रोद्योगिकी, आपदा प्रबंधन)
पेपर 5- सामान्य अध्ययन 4(अभिवृत्ति, सत्यनिष्ठा)
पेपर 6- वैकल्पिक विषय – पेपर 1
पेपर 6- वैकल्पिक विषय- पेपर 2

3. इंटरव्यू (UPSC Interview)

यूपीएससी का इंटरव्यू देश के कठिन इंटरव्यू में एक है. आपने इससे रिलेटेड कई सवाल इंटरनेट पर पढ़े होंगे जिन्हें पढ़कर आपका दिमाग घूम गया होगा. वैसे आमतौर पर इसमें आपकी हाजिर जवाबी को चेक किया जाता है. इंटरव्यू में इस तरह के सवाल होते हैं जिससे पता किया जा सके कि ऐसी क्विक सिचुऐशन में आप क्या करते हैं. अगर आप इंटरव्यू पास कर देते हैं तो यूपीएससी में आपकी नौकरी पक्की हो जाती है.

यूपीएससी के लिए आयुसीमा (Age limit for UPSC exam)

-यूपीएससी एग्जाम देने के लिए आपकी उम्र कम से कम 21 साल होना चाहिए.
-अगर जनरल कैटेगरी में आते हैं तो आपके लिए आयु सीमा 32 साल तक है और तब तक आप 6 अटेंप्ट दे सकते हैं.
-ओबीसी के लिए आयुसीमा 35 साल है और अटेंप्ट 9 हैं.
-एससी और एसटी के लिए आयुसीमा 37 साल रखी गई है. ये अपनी आयुसीमा के पूरी होने तक परीक्षा दे सकते हैं.

यूपीएससी के लिए शैक्षणिक योग्यता (Educational qualification for UPSC)

यूपीएससी एग्जाम देने के लिए किसी किसी भी मान्यता प्राप्त विष्वविधालय से स्नातक होना अनिवार्य है। कुछ स्पेशल पोस्ट में किसी विशेष विषय की मांग की जाती है।

यूपीएससी की तैयारी शुरू करने से पहले ध्यान रखें कि ये एक ऐसी परीक्षा है जिसमें आपकी सही रणनीति से की गई पढ़ाई ही काम आती है. इस परीक्षा के तीन चरण है जिनमे हर चरण के लिए अलग-अलग पाठयक्रम होता है. इस परीक्षा में सही रणनीति के साथ धैर्य रखने की भी जरूरत होती है। ?

नोट : यह लेख आपकी जानकारी के लिए साझा किया गया है। यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी के लिए आप किसी विशेषज्ञ से उचित मार्गदर्शन जरूर लें साथ ही जो उम्मीदवार पहले यूपीएससी क्लियर कर चुके हैं उनसे भी मिलें और उनकी राय जानें.

error: Content is protected !!