PCS Exam की तैयारी कैसे करे, SDM कैसे बने

PCS (Provincial Civil Service) कई लोग जो इसकी तैयारी कर रहे होंगे वे इस नाम को अच्छी तरह जानते होंगे और जो नहीं जानते हैं उन्होंने इस नाम को फिल्म ‘शादी में जरूर आना’ में सुना होगा। फिल्म में हीरोइन PCS की ही तो तैयारी करके अधिकारी बनती है। ये Exam वैसे तो UPSC की तरह ही होती है लेकिन इसमें जो GS यानि General Studies होता है उसे राज्य के स्तर पर ज़्यादा पूछा जाता है। इसे हर साल भारत के राज्य आयोजित करते हैं। ये हर राज्य में अलग-अलग नामों से होती है जैसे मध्यप्रदेश में MPPSC, उत्तर प्रदेश में UPPSC.

0 792

PCS (Provincial Civil Service) कई लोग जो इसकी तैयारी कर रहे होंगे वे इस नाम को अच्छी तरह जानते होंगे और जो नहीं जानते हैं उन्होंने इस नाम को फिल्म ‘शादी में जरूर आना’ में सुना होगा. फिल्म में हीरोइन PCS की ही तो तैयारी करके अधिकारी बनती है. ये Exam वैसे तो UPSC की तरह ही होती है लेकिन इसमें जो GS यानि General Studies होता है उसे राज्य के स्तर पर ज़्यादा पूछा जाता है. इसे हर साल भारत के राज्य आयोजित करते हैं. ये हर राज्य में अलग-अलग नामों से होती है जैसे मध्यप्रदेश में MPPSC, उत्तर प्रदेश में UPPSC.

PCS Exam को क्वालिफाई करने के बाद केंडीडेट को State Administration की महत्वपूर्ण पोस्ट पर काम करने का अवसर मिलता है. इस एग्जाम का पैटर्न पूरी तरह से सिविल सर्विस एग्जाम जैसा ही होता है लेकिन General Studies के Section में State GS पर खास फोकस किया जाता है.

पीसीएस परीक्षा के लिए आवश्यक योग्यता (Qualification For PCS Exam)

शैक्षणिक योग्यता : इस परीक्षा में हिस्सा लेने के लिए उम्मीदवार का किसी मान्यता प्राप्त विश्वविधालय से स्नातक होना अनिवार्य है.

शारीरिक मापदंड : इस परीक्षा में कुछ विशेष पदों के लिए जैसे पुलिस अधीक्षक, कारागार इत्यादि के लिए शारीरिक मापदंड की आवश्यकता होती है जिसे आवश्यकता अनुसार नोटिफिकेशन में बताया जाता है.

आयु मापदंड : पीसीएस परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए उम्मीदवार की आयु 21 से 40 वर्ष के बीच होना चाहिए. इसके अलावा आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को इसमें छूट दी जाती है.

कैसे होती है पीसीएस परीक्षा (Exam Pattern of PCS exam)

पीसीएस परीक्षा के नोटिफिकेशन हर साल होते हैं और हर साल ये एक ही पैटर्न पर आधारित होती है. ये परीक्षा तीन चरणों में पूरी होती है. इस नौकरी को पाने के लिए आपको तीनों चरणों मे पास होना जरूरी है. ये तीन चरण निम्न हैं-

1. प्रारंभिक परीक्षा : इस परीक्षा में दो पेपर होते हैं जो जिनमें Objective Question आते हैं. ये पेपर 200-200 मार्क्स के होते हैं तथा 2-2 घंटे के होते हैं. प्री एग्जाम में Question मुख्यतः भारतीय इतिहास, भूगोल, संविधान, इकोनॉमी, सामान्य विज्ञान, पर्यावरण, कृषि, स्टेट हिस्टी और करंट अफेयर्स से पूछे जाते हैं.

2. मुख्य परीक्षा : Mains Exam एक लिखित परीक्षा (Written Exam) होती है जिसमें आपको प्रश्नों के उत्तर लिखना होता है. इस परीक्षा में कुल 6 पेपर होते हैं जिनमें से जनरल हिंदी और निबंध लेखन का पेपर 2-2 घंटे का होता है. इसके अलावा जनरल स्टडी के चार पेपर होते हैं जो 3-3 घंटे के होते हैं. ये कुल 1500 नंबर के पेपर होते हैं. इस परीक्षा में आपको मुख्यतः जीएस पर ज़्यादा ध्यान लगाना पड़ता है इसके अलावा आपको दो पेपर जो चुनना होते हैं उन पर भी फोकस करना होता है. इस परीक्षा में आपके ज्ञान के साथ-साथ आपकी लेखन कला का भी महत्व होता है.

3. इंटरव्यू (PCS Interview) : इन दो एग्जाम में क्वालीफाई होने के बाद कैंडीडेट को इंटरव्यू देना पड़ता है. जो 175 अंकों का होता है। पीसीएस एग्जाम के इंटरव्यू में अच्छी खासी तैयारी आपको करना होती है क्योंकि यहां आपके ज्ञान के साथ-साथ आपके धैर्य और आपकी समझ का भी परीक्षण होता है.

नोट : यह लेख आपकी जानकारी को बढ़ाने के लिए साझा किया गया है. परीक्षा की तैयारी करने से पहले विशेषज्ञों से इसके बारे में अवश्य सलाह लें. इसके साथ ही पूर्व में एग्जाम क्लियर कर चुके उम्मीदवारों का भी मार्गदर्शन लें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!