Side effects of Nail biting: इन घरेलू उपायों से छोड़ें नाखून चबाने की आदत

नाखून चबाना जहां सेहत के लिए हानिकारक है, वहीं यह सामाजिक दृष्टिकोण से भी अच्छा नहीं माना जाता. हमारे नाखूनों में साल्मोनेला और ई-कोलाई जैसे बैक्टीरिया पनपते हैं और नाखून चबाने की आदत के चलते यह आसानी से मुंह में पहुंच जाते हैं, जाहिर है इससे बीमारी का खतरा बढ़ जाता है.

नाखून चबाना जहां सेहत के लिए हानिकारक है वहीं यह सामाजिक दृष्टिकोण से भी अच्छा नहीं माना जाता. दरअसल, जाने-अंजाने में हमारे द्वारा की जाने वाली यह एक (nail biting common side effects) ऐसी आदत है जो लगती तो बहुत सहज और सामान्य है, लेकिन यह न केवल आपकी मन:स्थिति को दर्शाती है बल्कि साफ-सफाई संबंधी आदत को भी सामने लाती है. एक रिसर्च के मुताबिक जिन लोगों में नाखून चबाने की आदत होती है वे लोग तनाव में ज्यादा होते हैं.

गंदे नाखूनों के द्वारा कई तरह के बैक्टीरिया और वायरस का हमारे शरीर में जाना आसान हो जाता है, (nail biting effects on stomach) जिससे पेट संबंधी कई तरह की बीमारियां होती हैं, यही वजह है कि बच्चों को स्कूलों में नाखून काटने और हाथों की सफाई के लिए विशेष रूप से सिखाया जाता है.

आपको जानकार आश्चर्य होगा कि 50 फीसदी से ज्यादा पेट संबंधी बीमारियां हाथों की और विशेष रूप से नाखूनों में छिपी गंदगी की वजह से होती है. कोरोना महामारी के संकट में हाथों की साफ-सफाई को लेकर वैसे भी बहुत जोर दिया गया है क्योंकि संक्रमण की सबसे बड़ी वजह गंदे हाथों को मुंह, नाक और आंख में ले जाना ही है.

जाहिर है ऐसे में वे लोग जिन्हें नाखून चबाने की आदत है (nail biting meaning) उन्हें यह आदत छोड़ना चाहिए बल्कि हाथों की सफाई भी रखनी चाहिए. नाखून चबाने की यह आदत इतनी गंदी होती है कि कुछ लोग उंगलियों के पूरे नाखून ही चबा जाते हैं जिससे खून निकलने तक की नौबत आ जाती है, वहीं उनकी उंगलियों में दर्द होने लगता है. (nail biting causes in hindi) नाखून चबाने की बड़ी वजह शरीर में कैल्शियम, प्रोटीन की कमी, हार्मौंस में गड़बड़ी होना होता है. बच्चों में यह अधिकतर पाई जाती है. कई लोग नाखूनों के साथ-साथ चमड़ी भी चबाने लगते हैं, जिससे संक्रामक रोगों से ग्रसित रहते हैं.  

नाखून चबाने के नुकसान (nakhun-khane-ke-nuksan-in-hindi)
नाखून चबाने से आंतों का कैंसर तक हो सकता है. इसकी बड़ी वजन नाखूनों के अंदर जमी हुई गंदगी है. ध्यान रखें यदि आपको बार-बार पेट संबंधी समस्या होती है तो अपने हाथों को साफ रखें. पेट में कीड़ों संबंधी बीमारी का कारण नाखूनों की गंदगी ही है.

नाखून चबाने से त्वचा को नुकसान पहुंचता है. डर्मेटोफेजिया (Dermatophagia in hindi) की बीमारी लगातार नाखून चबाने से ही होती है. इस बीमारी में त्वचा में घाव होने लगते हैं जिससे संक्रमण होता है और यही इन्फेक्शन नसों तक पहुंचता है.

नाखून चबाने से दांतों को नुकसान पहुंचता है. एक शोध के मुताबिक नाखून चबाने की आदत से दांतों में कई तरह के संक्रमण का खतरा बढ़ता है. मुंह की बद्बू का भी यह एक बड़ा कारण है.

पेरोनेशिया (Paronychia) की बीमारी नाखून चबाने के कारण ही होती है. इस बीमारी में उंगलियों की त्वचा की कोशिकाएं खत्म हो जाती हैं और अंदर संक्रमण फैल जाता है.

हमारे नाखूनों में साल्मोनेला और ई कोलाई जैसे बैक्टीरिया पनपते हैं और नाखून चबाने की आदत के चलते यह आसानी से मुंह में पहुंच जाते हैं, जाहिर है इससे बीमारी का खतरा बढ़ जाता है.

आइए जानते हैं कुछ घरेलू उपाय (homemade nail biting solution) जिनसे नाखून चबाने की आदत को छोड़ा जा सकता है.

नाखून चबाने की आदत यदि (how to stop nail biting in child) बच्चों में हैं तो रोजाना बच्चों के नाखूनों पर नजर रखें और उन्हें छोटा ही रखें. नाखून यदि बड़े नहीं होंगे तो दांतों के पकड़ में नहीं आएंगे और जल्द ही ये आदत छूट जाएगी.

किसी व्यक्ति को यह आदत ज्यादा है (how to stop biting skin around nails) तो उंगलियों के पोरों में अथवा नाखून के ऊपरी भाग में नीम का तेल, मिर्ची का पावडर या किसी अन्य कड़वी चीज का लेप लगा लें. दो से तीन बार जब स्वाद नाखून के माध्यम से मुंह में जाएगा तो यह आदत पर विराम लग जाएगा.

नाखून चबाने की आदत एक  लत के तौर पर लग गई है तो फिर दूसरी कोई चीजों को खाना शुरू कर दें. आप ऐसे में गाजर, सेब या चुइंगम खाएं.

नाखून चबाने की आदत से बचने के लिए नाखूनों पर क्रीम, तेल लगाकर उनकी मालिश करें.

जेब में चने, मूंगफली दानें इत्यादि रखें और जब भी नाखून चबाने की स्थिति आए तुरंत इनका सेवन करें. पॉपकॉर्न का सेवन भी आप ऐसे समय कर सकते हैं.

भोजन में कैल्शियम की मात्रा को बढ़ाएं. ऐसी चीजों का सेवन करें जिसमें कैल्शियम ज्यादा हो. दूध, दही, बादाम, बीन्स और हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें.  जिन लोगों को नाखून चबाने की बहुत ज्यादा आदत हो गई है उन्हें प्लास्टिक के नाखूनों को असली को लगाना चाहिए.

जैसे ही आपको यह आदत होगी आपके मुंह में प्लास्टिक के नाखून आ जाएंगे जिससे आपकी यह लत दूर हो जाएगी. दस्तानें पहनकर भी आप इस आदत को छुड़ा सकते हैं.

डिस्क्लेमर नोट: यह लेख आपकी जानकारी बढ़ाने के लिए साझा किया गया है. किसी बीमारी के पेशेंट हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!