फ्यूल भराते समय रहें एलर्ट, हो सकते हैं ठगी का शिकार

आसमान छूते पेट्रोल, डीजल के दामों ने वाहन मालिकों की नींद उड़ा रखी है. वहीं दूसरी ओर पेट्रोल पंपों पर होने वाली बदमाशियां भी परेशानी का सबब बनी हुई हैं. फ्यूल भरवाते समय ध्यान नहीं देने से कब आपकी जेब काट ली जाती है, आपको इसका पता भी नहीं चलता.

0 784

आसमान छूते पेट्रोल, डीजल के दामों ने वाहन मालिकों की नींद उड़ा रखी है. वहीं दूसरी ओर पेट्रोल पंपों पर होने वाली बदमाशियां भी परेशानी का सबब बनी हुई हैं. फ्यूल भरवाते समय ध्यान नहीं देने से कब आपकी जेब काट ली जाती है, आपको इसका पता भी नहीं चलता. ऐसे में कुछ ख़ास बातों पर ध्यान देकर पेट्रोल पंपों पर अपने साथ होने वाली ठगी को रोक सकते हैं. 

सेल्समैन की गतिविधियों पर दें ध्यान 

सम्बंधित लेख - पढ़िए

जब भी पेट्रोल/डीजल भरवाने जाएं तो हमेशा सतर्क रहते हुए गाड़ी से नीचे उतर कर मीटर के पास खड़े हो जाएं. मित्र के पास खड़े रहकर आपको सेल्समैन की सभी गतिविधियों पर ध्यान देना होगा. आपकी यह सतर्कता आपको ठगी का शिकार होने से बचा सकती है. 

हमेशा शून्य से शुरू कराएं मीटर (Make always start from zero meters)

कई बार आपको पेट्रोल पंप पर सेल्समैन आॅफर बताकर बातों में उलझने का प्रयास करता है. आप बातों में फंसकर मीटर पर ध्यान नहीं दे पाते और जीरो की जगह मीटर को किसी और अंक से शुरू कर दिया जाता है. ऐसे में आपको हमेशा मीटर पर नज़र बनाए रखनी है.

आधी टंकी होते ही डलवाएं फ्यूल 

कई बार हम अपने व्यस्त शेड्यल के कारण अपनी गाड़ी में पेट्रोल की सुई पर ध्यान नहीं दे पाते हैं कि वह गिर गई है. और कई बार हम आलस्य और लापरवाही में पेट्रोल नहीं भरवाते हैं, लेकिन शायदही आप जानते हो कि खाली टैंक में पेट्रोल भरवाने से आपको नुकसान ष्ण पड़ता है. खाली टैंक में हवा भर जाने से पेट्रोल की मात्रा भी कम हो जाती है.

बार-बार रुकता मीटर है गड़बड़ी का संकेत 

पेट्रोल पंप पर पेट्रोल भराते समय यदि मीटर बार-बार रुक रहा है तो यहां गड़बड़ी होने की पूरी आशंका होती है. इस तरह मीटर के चलने से पेट्रोल की मात्रा कम हो जाती है. इसलिए अगर किसी पेट्रोल पंप पर ऐसी मशीन है तो इस मशीन पर पेट्रोल भरवाने से बचें.

तेज चलने वाले मीटर पर रखें नजर

जब भी पेट्रोल पंप पर पेट्रोल भराने जाएं तो पेट्रोल भरवाते समय यदि मीटर बहुत तेज चलता दिख जाए तो समझिए कुछ गड़बड़ है. तत्काल पेट्रोल पंप पर कर्मी को मीटर की स्पीड नार्मल करने को कहें. तेज मीटर चलने का मतलब आपको चूना लगाना भी है.